islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. अमरीका की दीर्घकाल उपस्थिति की ओर से इराक़ को सचेत किया है।

    अमरीका की दीर्घकाल उपस्थिति की ओर से इराक़ को सचेत किया है।

    अमरीका की दीर्घकाल उपस्थिति की ओर से इराक़ को सचेत किया है।
    Rate this post

    इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने अमरीका की दीर्घकाल उपस्थिति की ओर से इराक़ को सचेत किया है।
    इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने अमरीका की दीर्घकाल उपस्थिति की ओर से इराक़ को सचेत किया है।आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई ने ईरान यात्रा पर आए इराक़ी राष्ट्रपति जलाल तालेबानी से भेंट में कहा कि अतिग्रहणकारी अमरीकी और ब्रिटिश इराक़ में दीर्घावधि तक रहने की भूमि तैयार कर रहे हैं यह एक गंभीर विषय है जिसकी इराक़ी अधिकारियों को अनदेखी नहीं करनी चाहिए। उन्होंने बल देकर कहा कि अतिग्रहणकारियों को यथाशीघ्र इराक़ से निकल जाना चाहिए क्योंकि इराक़ से उनके एक दिन भी विलंब से निकलने से इराक़ी राष्ट्र को अधिक हानि पहुंचेगी। ज्ञात रहे कि वरिष्ठ नेता का यह बयान अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के शुक्रवार के उस बयान के पश्चात सामने आया है जिसमें ओबामा ने अमरीकी सैनिकों को डेढ़ वर्ष के भीतर इराक़ में अभियान समाप्त करने का आदेश दिया किन्तु इसके साथ ही उन्होंने तेल की संपत्ति से संपन्न इराक़ के बारे में यह भी कहा कि पैंतीस से पचास हज़ार के लगभग सैनिक वहां मौजूद रहेंगे। वरिष्ठ नेता ने शत्रु द्वारा ईरान इराक़ के मैत्रिपूर्ण सम्बन्धों के किए जा रहे विरोध की ओर संकेत करते हुए इराक़ सरकार और इराक़ी प्रधानमंत्री नूरी मालेकी से द्विपक्षीय समझौतों के कार्यान्वयन के लिए गंभीरता से प्रयास करने का आग्रह किया। उन्होंने इराक़ की धरती से आतंकवादी गुट एमकेओ को निकालने के बारे में हुई सहमति की ओर संकेत करते हुए बल दिया कि यह निर्णय व्यवहारिक होना चाहिए हमें इसकी प्रतीक्षा कर रहे हैं। इस अवसर पर इराक़ी राष्ट्रपति जलाल तालेबानी ने भी ने ईरानी अधिकारियों के साथ अपनी वार्ता को सकारात्मक एंव रचनात्मक बताते हुए आशा जताई कि तेहरान बग़दाद सम्बन्ध, क्षेत्र में शांति एंव स्थिरता का मार्ग प्रशस्त करेंगे।