islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. आईये फारसी सीखें – 23

    आईये फारसी सीखें – 23

    Rate this post

    पर्वतारोही शूरवीरों में से एक और एवरेस्ट की चोटी पर चढ़ने वाली ईरानी महिला नसरीन नेअमती हैं। उन्होंने विश्वविद्यालय के व्यायाम हाल में पर्वतारोही टीम के मध्य भाषण दिया। उनके भाषण के बाद मोहम्मद और उसके मित्र बहादुरी और पहलवानी के बारे में एक दूसरे से बात करते हैं। पहलवान फार्सी भाषा का शब्द है और बहुत सी भाषाओं में इसका अनुवाद नहीं है बल्कि पहलवान शब्द ही प्रयोग होता है। पहलवान, व्यायामी शूरवीर को कहा जाता है कि जो अच्छे, नैतिक और शिष्टाचारिक गुणों से सुसज्जित हो, कमज़ोर एवं अत्याचारग्रस्त लोगों की सहायता करता हो और अत्याचारियों के मुक़ाबले में प्रतिरोध करता हो। पहलवान उदारचित्त भावना का स्वामी होता है और कभी भी अपनी स्थिति से सांसारिक लक्ष्यों को प्राप्त करने का प्रयास नहीं करता है। पहलवान स्वयं को पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहि व आलेहि व सल्लम के पवित्र परिजनों एवं हज़रत अली अलैहिस्सलाम का अनुयाई व अनुसरणकर्ता समझता है। ईरान में शूरवीरता को पहलवानी के साथ महत्व प्राप्त है और उसे मान- सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है। बातचीत में प्रयोग होने वाले नये शब्दों पर ध्यान दें।

    शूरवीर, बहादुर या पराक्रमी

    قهرمان

    पहलवान

    – پهلوان

    बहुत सारे पहलवान

    – پهلوانان

    होना

    – بودن

    अच्छा

    – خوب –

    महत्वपूर्ण

    مهم

    उससे अधिक महत्वपूर्ण

    – مهم تر

    यह दोनों

    – اين دو

    अंतर

    – تفاوت

    उनके पास है

    – آنها دارند –

    कोई

    كسي

    जो

    که

    मुक़ाबला, प्रतिस्पर्धा या मैच

    – مسابقه

    व्यायाम या कसरत

    – ورزش

    व्यायाम संबंधी

    – ورزشي

    उत्तम

    -بهتر

    सर्वोत्तम

    – بهترين

    दर्जा, स्थान, श्रेणी या पद

    – رتبه

    वह लेता या पकड़ता है

    – او مي گيرد

    यानी क्या?

    – يعني چه ؟

    गुण या विशेषता

    – صفت

    बहुत सारे गुण

    صفات –

    भला या अच्छा

    نيك –

    व्यवहार

    اخلاق

    व्यवहार संबंधी

    – اخلاقي

    सुसज्जित

    – آراسته

    वह सुसज्जित है

    – او آراسته است

    तो

    – پس

    बढ़कर या हटकर

    – فراتر

    व्यायामी

    ورزشكار

    सही या ठीक है?

    – درست است ؟

    मनुष्य

    انسان

    योग्य

    – شايسته –

    उदारचित्त, महानुभाव,पुरुषोचित

    جوانمرد

    लोग

    – مردم –

    वह सहायता करता है

    او کمک مي کند

    कौन लोग?

    – چه کساني ؟

    पूरिया वली

    پورياي ولي

    तख्ती

    – تختي

    जीवित

    – زنده

    वर्षों

    – سالها

    मृत्त

    – مرده

    वह मर गया है

    او مرده است

    सब

    همه

    अच्छाई

    – خوبي

    वे बात करते हैं

    – آنها صحبت مي کنند

    किस विषय या संबंध में?

    چه رشته اي ؟ –

    वह व्यायाम करता था

    او ورزش مي كرد –

    मूल

    اصيل –

    कुश्ती

    کشتي

    कुश्ती लड़ने वाला

    – كشتي گير

    बहुत से हैं

    – خيلي – هستند

    व्यायाम हाल में मोहम्मद और उसके मित्र के पास चलते हैं और उनकी बातों पर एक नज़र डालते हैं।

    सईदःशूरवीर होना अच्छी बात है परंतु पहलवान होना उससे भी महत्वपूर्ण है।

    سعيد – قهرمان بودن خوب است ، ولي پهلوان بودن مهم تر

    मोहम्मदः इन दोनों में क्या अंतर है?

    محمد – اين دو چه تفاوتي با هم دارند ؟

    सईदः शूरवीर वह है जो व्यायाम के मुक़ाबलों में अच्छा स्थान प्राप्त करता है।

    سعيد – قهرمان کسي است که در مسابقه ورزشي ، بهترين رتبه را مي گيرد .

    मोहम्मदः पहलवान यानी क्या?

    محمد – پهلوان يعني چه ؟

    सईदःपहलवान उस शूरवीर को कहते हैं जो शिष्टाचारिक गुणों से सुसज्जित हो।

    سعيد – پهلوان به قهرماني مي گويند که به صفات نيك اخلاقي آراسته است .

    मोहम्मदः तो पहलवान एक व्यायामी से बढ़कर है यह सही है?

    محمد – پس پهلوان فراتر از يک ورزشکار است . درست است ؟

    सईदः जी हां पहलवान एक योग्य और महानुभाव व्यक्ति है जो लोगों की सहायता करता है।

    سعيد – بله . پهلوان يک انسان شايسته و جوانمرد است ، کسي که به مردم کمک مي کند

    मोहम्मदः ईरानी पहलवान कौन लोग हैं?

    محمد – پهلوانان ايراني چه کساني هستند ؟

    सईदः पूरिया वली और तख़्ती पहलवानों में से थे।

    سعيد – پورياي ولي و تختي از پهلوانان بودند .

    मोहम्दः पूरिया वली जीवित हैं?

    محمد – پورياي ولي زنده است ؟

    सईदः नहीं उनके मरे हुए वर्षों का समय बीत रहा है परंतु सभी लोग उनकी अच्छाई की बात करते हैं।

    سعيد – نه . او سالهاست که مُرده است . اما همه مردم از خوبي هاي او صحبت مي کنند .

    मोहम्मदः पूरिया वली कौन का व्यायाम करते थे?

    محمد – پورياي ولي در چه رشته اي ورزش مي كرد ؟

    सईदः वह कुश्ती लड़ते थे। कुश्ती मूलरूप से ईरानी व्यायाम है और बहुत से ईरानी पहलवान कुश्ती लड़ते हैं।

    سعيد – او کشتي گير بود . کشتي ورزش اصيل ايراني است و خيلي از پهلوانان ايراني کشتي گير هستند .

    एक बार फिर मोहम्मद और सईद की बात पर ध्यान दीजिये। वे ईरानी पहलवानों एवं शूरवीरों के बारे में बात करते हैं।

    سعيد – قهرمان بودن خوب است ، ولي پهلوان بودن مهم تر است . محمد – اين دو چه تفاوتي با هم دارند ؟ سعيد – قهرمان کسي است که در مسابقه ورزشي ، بهترين رتبه را مي گيرد .

    محمد – پهلوان يعني چه ؟ سعيد – پهلوان به قهرماني مي گويند که به صفات نيك اخلاقي آراسته است . محمد – پس پهلوان فراتر از يک ورزشکار است . درست است ؟

    سعيد – بله . پهلوان يک انسان شايسته و جوانمرد است ، کسي که به مردم کمک مي کند . محمد – پهلوانان ايراني چه کساني هستند ؟ سعيد – پورياي ولي و تختي از پهلوانان بودند .

    محمد – پورياي ولي زنده است ؟ سعيد – نه . او سالهاست که مُرده است . اما همه مردم از خوبي هاي او صحبت مي کنند . محمد – پورياي ولي در چه رشته اي ورزش مي كرد ؟

    سعيد – او کشتي گير بود . کشتي ورزش اصيل ايراني است و خيلي از پهلوانان ايراني کشتي گير هستند .

    सईद, मोहम्मद को पूरिया वली की कहानी बताता है। पूरिया वली सातवीं शताब्दी के अंत और आठवीं शताब्दी हिजरी के आरंभ के पहलवान हैं और वह ईरान में पैदा हुए थे। वह वर्षों पहले खारज़्म में रहते थे। ख़ारज़्म प्राचीन ईरान का एक क्षेत्र है जो अब तुर्कमनिस्तान में है। पूरिया वली कुश्ती लड़ते थे और कोई भी उनको पराजित नहीं कर पाता था। वह महानुभाव एवं बहुत ही दयालु पहलवान थे। वह ग़रीबों व निर्धनों की सहायता करते थे। सभी लोग उनसे प्रेम करते थे। एक रात पूरिया वली नमाज़ पढ़ने और दुआ करने के लिए मस्जिद में गये। क्योंकि अगले दिन उनका एक युवा पहलवान से मुक़ाबला था। वहां पर उन्होंने एक नेत्रहीन बूढ़िया को देखा जो मस्जिद के कोने में बैठी रो रही थी और ईश्वर से प्रार्थना करने में लीन थी। पहलवान पूरिया वली ने उससे पूछा हे मां आप क्यों रो रही हैं? बूढ़ि महिला ने उत्तर दियाः कल मेरे बेटे का पूरिया वली से मुक़ाबला है और मैं डरती हूं कि मेरा बेटा पूरिया वली से हार जाये। मेरी इच्छा व आकांक्षा है कि कल मेरा बेटा जीत जाये। पूरिया वली ने कुछ नहीं कहा। वह सोच में डूब गये। अगले दिन उन्होंने उस बूढ़ी नेत्रहीन महिला को देखा कि वह उस स्थान पर आई है जहां मुक़ाबला होने वाला है और वह मुक़ाबले के परिणाम की प्रतीक्षा में है। उदारचित्त व महानुभाव पूरिया पहलवान ने उस नेत्रहीन बूढ़िया की आकांक्षा को पूरा करने के लिए इस प्रकार कुश्ती लड़ी कि उनके मुक़ाबले में आने वाला बूढ़िया का बेटा कुश्ती जीत गया। पूरिया पहलवान का मानना था कि वास्तविक पहलवान वह है जो अपनी आंतरिक इच्छा व अंतर्मन को नियंत्रित कर ले। पूरिया वली ने अपने इस परित्याग से नेत्रहीन बूढ़िया के हृदय को प्रसन्न कर दिया जबकि वह बड़ी सरलता से अपने मुक़ाबले में आने वाले युवा को पराजित कर सकते थे। पहलवानी, ईरान में कुश्ती लड़ने वाले कुछ प्रवीण युवाओं की विशेषता है। इसी कारण ईरान में कुश्ती एक व्यायाम से बढ़कर है और कुश्ती लड़ने वालों से लोग प्रेम करते हैं।