islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. आज का कथन

    आज का कथन

    आज का कथन
    Rate this post

    दरिद्रों से प्रेम व निकटता, ईश्वर से समीप होने का मार्ग है।

    पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहे व आलेही व सल्लम

    ****

    मोमिन के लिए ऐसी इच्छा रखना कितना बुरा है जो उसे अपमानित कर दे।

    इमाम हसन अस्करी अलैहिस्सलाम

    ****

    मैं पैग़म्बरे इस्लाम (स) का अन्तिम उत्तराधिकारी हू और ईश्वर मेरे कारण मेरे मानने वालों तथा उनके परिजनों को सँकट से दूर रखता है।

    हज़रत इमाम मेहदी अलैहिस्सलाम

    ****

    तुममें से हर एक को ऐसा काम करना चाहिए जिससे हमारे प्रेम के निकट हो।

    हज़रत इमाम मेहदी अलैहिस्सलाम