islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. ईरान का पहाड़ी गांव रूदबार क़स्रान

    ईरान का पहाड़ी गांव रूदबार क़स्रान

    Rate this post

    रूदबार क़स्रान, तेहरान के आस -पास के पर्वतीय क्षेत्रों में अच्छी व लुभावनी जलवायु वाला क्षेत्र है। वास्तव में रूदबार क़स्रान तेहरान के उत्तर में स्थित शमीरान उपनगर का एक भाग है। इसका क्षेत्रफल लगभग ४०० वर्ग किलोमीटर है और यह तेहरान के उत्तर में ३० से ५० किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस क्षेत्र में २० से अधिक हरे- भरे एवं सुन्दर पर्वतीय गांव स्थित हैं जिनमें से हर एक अलबुर्ज़ पर्वत में सुन्दर रत्न की भांति चमकता है। ओशान, फशम और मीगून/ रूदबार क़स्रान के पर्वतीय क्षेत्र की एक लम्बी घाटी में स्थित हैं और उनमें हर एक में कई मोहल्ले एवं उनकी विशेष बनावट है। यद्यपि देश के भीतर विभाजन की दृष्टि से इन तीन गांवों को नगर का नाम दिया गया है परंतु गांव की बनावट के दृष्टिगत उन्हें नगर के गांव की संज्ञा दी जा सकती है। ओशान, फशम और मीगून के अतिरिक्त शमशक, अमामे और अहार गांव भी क्षेत्र में प्रसिद्ध हैं।

    कहा जाता है कि रूदबार नाम का चयन क्षेत्र की स्थिति के आधार पर किया गया है। क्योंकि इस क्षेत्र में आठ नदियां हैं जिनके पानी सैकड़ों स्वच्छ नालियों में होकर बहते हैं। ये नदियां पूरे वर्ष बहती हैं जिनसे क्षेत्र में प्रचुर मात्रा में पानी मौजूद रहता है। इन नदियों के मिलने से जाजरूद नामक प्रसिद्ध नदी बनती है। तेहरान के पेयजल की आपूर्ति करने वाले एक महत्वपूर्ण बांध लतियान का निर्माण इसी नदी के मार्ग में किया गया है। समुद्र की सतह से रूदबार क़स्रान क्षेत्र की ऊंचाई लगभग १५०० मीटर से आरंभ होती है और शमशक जैसे क्षेत्र के उत्तरी गांवों में समुद्र की सतह से इसकी ऊंचाई २८०० मीटर तक पहुंच जाती है। क्षेत्र के ऊंचा होने के कारण रूदबार क़स्रान गांव का तापमान ठंडी में शून्य से २० डिग्री नीचे चला जाता है जबकि गर्मी में सबसे अधिक गर्म समय में २२ सेन्टीग्रेड तक पहुंच जाता है। इस क्षेत्र के गांवों में गर्मी के मौसम में रातों में हवा ठंडी व सुहानी होती है। रूदबार क़स्रान क्षेत्र पर्वतीय एवं ढलान में स्थित होने के कारण उसमें कृषि योग्य भूमि सीमित है और यहां रहने वाले अधिकांश लोग पशुपालन, बाग़बानी और क्षेत्र की विशेष पर्यटन सेवाओं के माध्यम से अपनी आजीविका कमाते हैं। इस क्षेत्र में बहुत से रेस्तरां हैं जो पूरे वर्ष यात्रियों के स्वागत के लिए खुले रहते हैं। विशेषकर गर्मी के मौसम में यहां के रेस्तरां की बाज़ारों में बहुत चहल- पहल रहती है।

    ठंडे व सुन्दर क्षेत्र रूदबार क़स्रान के मध्य शेमशक गांव अंतर्राष्ट्रीय स्की स्थल होने के कारण विशेषरूप से प्रसिद्ध है। शेमशक गांव तेहरान के पूर्वोत्तर में ४५ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यह गांव सुरकचाल और कोलून बस्तक चोटियों के मध्य तथा देज़ीन मोड़ पर समुद्र की सतह से २५३१ मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। शेमशक गांव की जलवायु संतुलित, जाड़े में ठंडी और बर्फीली होती है जबकि गर्मी में मौसम संतुलित एवं आकर्षक होता है।

    शेमशक गांव से लगी ऊंचाईयां मध्य गर्मी तक बर्फ से ढ़की रहती हैं। इस गांव का इतिहास बहुत पुराना है। विशेषकर क़ाजारी शासन काल से लेकर बाद के कालों में उसे शासकों की राजधानी और क्षेत्र के लोगों के लिए ठंडी जलवायु वाला क्षेत्र समझा जाता रहा है। इस गांव के लोग फारसी भाषा में बात करते हैं।

    शेमशक गांव के अधिकांश लोगों की आय का स्रोत बाग़बानी और पशुपालन है। गांव के कुछ लोग गांव के समीप पत्थर के कोयले की खदान में भी काम करते हैं जबकि कुछ दूसरे स्की स्थल के सेवा कार्यों में संलग्न हैं। ठंडी के मौसम में इस गांव की जनसंख्या कम होती है जबकि गर्मी के मौसम में यहां की जनसंख्या कई बराबर हो जाती है। गेहूं, जौ, सब्ज़ी और फल यहां के मुख्य कृषि उत्पाद हैं। इस गांव से दो नदियों का गुज़रना और हिमपात होने वाले क्षेत्र में गांव के स्थित होने के कारण इस गांव में बाग़बानी की भूमि प्रशस्त हो गई है। सेब, नाशपाती, चेरी और अखरोट जैसे नाना प्रकार के फल इस गांव में पैदा होते हैं।

    शेमशक गांव अलबुर्ज़ पर्वत की ऊंचाइयों के केन्द्रीय आंचल में स्थित है। यह गांव दो मोहल्लों से मिलकर बना है। एक मोहल्ला नीचे है जबकि दूसरा उपर है। शेमशक का ऊपरी मोहल्ला सरकचाल चोटी के दक्षिण पश्चीमी आंचल में स्थित है जबकि उसका निचला मोहल्ला शेमशक के ऊपरी मोहल्ले के समानान्तर घाटी के दक्षिण और पश्चिम के अंतिम छोर तक फैला हुआ है। इस गांव की आबादी घनी है। समय बीतने के साथ उसकी प्राचीन एवं पारम्परिक बनावट ख़राब होती जा रही है और उसके स्थान पर ऊंची-२ इमारतें एवं बंगले बन गये हैं। यहां के एक मंज़िला प्राचीन घरों के निर्माण में पत्थर, गारा, लकड़ी और चूने का प्रयोग किया गया है परंतु नये घरों के निर्माण में सरिया, लोहे के खम्भों और पक्की ईंट आदि का प्रयोग किया गया है। गांव के नये निर्माण कार्य ने उसके प्राचीन एवं पारम्परिक स्वरूप को बदल कर उसे पर्यटन की विभिन्न सुविधाओं से सम्पन्न एक छोटे से पर्यटन नगर में परिवर्तित कर दिया है।

    शेमशक गांव का नाम पर्यटन गांव की पंक्ति में है। बर्फ से ढकी चोटी के आंचल में स्थित होने के कारण यह गांव अद्वितीय स्थिति का स्वामी हो गया है। शेमशक गांव के ऊपर बर्फ से ढकी चोटियां होने के कारण वहां का दृष्य बड़ा ही रमणीय व आकर्षक हो गया है। इस गांव की नदी के किनारे चारागाह और हरे- भरे विभिन्न प्रकार के वृक्षों से बड़ा ही मनोरम व लुभावना दृष्य उत्पन्न हो गया है। हरी- भरी प्रकृति, संतुलित जलवायु, बहते पानी के सोते और स्की स्थल वर्ष भर हज़ारों पर्यटकों के मन को अपनी ओर लुभाने का कारण बने हैं। शेमशक का स्की स्थल नवम्बर महीने के अंतिम दिनों से लेकर मई के लगभग अंत तक बहुत ही अति सुन्दर प्राकृतिक दृष्यों के साथ स्की प्रेमियों को अपनी ओर लुभाता व आकर्षित करता-रहता है।

    शेमशक के स्की स्थल को तेहरान के उत्तर पूर्व में ७५ किलोमीटर की दूरी पर तीन किलोमीटर लम्बा बनाया गया है। इसमें दो tele syzh दो tele ski hammer तीन tele ski dish यहां पर सार्वजनिक सेवा के लिए दो होटल और चार रेस्तरां हैं जो ठंडी के मौसम में प्रकृति एवं व्यायाम प्रेमियों से भरे भरते हैं। समुद्र की सतह से इस स्की स्थल का सबसे ऊंचा बिन्दु ३०५० मीटर की ऊंचाई पर स्थित है जबकि उसका सबसे निचला बिन्दु २५५० मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। शेमशक गांव और उसके स्की स्थल के तेहरान के निकट होने के कारण इस बात का कारण बनता है कि बहुत से देशी व विदेशी पर्यटक आनंद उठाने के लिए इस क्षेत्र की यात्रा करते हैं। ठंडी के मौसम में शेमशक के स्की स्थल को रातों में भी तैयार किया जाता है ताकि स्की प्रेमी रात के कुछ समय को स्फूर्तिदायक स्की खेल में व्यतीत कर सकें। शेमशक गांव तक पक्की सड़क जाती है। वहां के सबसे प्रसिद्ध उपहार बाग़ों के नाना प्रकार के फल और पशुओं से बनने वाली वस्तुएं हैं।