islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. एहराम के लिबास का ख़ुम्स

    एहराम के लिबास का ख़ुम्स

    Rate this post

    सवालः क्या ह़ज व उमरे के अमाल के सह़ी होने के लिए जिस लिबास में

    तवाफ़ किया है और नमाज़े तवाफ़ पढ़ी है केवल उस लिबास का ख़ुम्स निकालना

    काफ़ी होगा या पूरे साल के बचे हुए माल से सभी चीज़ो का खुम्स निकालना ज़रूरी है?
    जवाबः अगर किसी ने ह़ज व उमरे से सम्बंधित माल, क़ुरबानी के पैसे और लिबासे एह़राम

    का ख़ुम्स निकाला है तो ह़ज व उमरे के सह़ी होने के लिए काफ़ी है।