islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. सच्ची पश्चाताप करने वालो के लिए दिव्य उपहार 1

    सच्ची पश्चाताप करने वालो के लिए दिव्य उपहार 1

    सच्ची पश्चाताप करने वालो के लिए दिव्य उपहार 1
    Rate this post

    पुस्तक का नामः पश्चाताप दया की आलिंग्न

    लेखकः आयतुल्ला अनसारियान

    मासूम अलैहिस्सलाम का कथन हैः ईश्वर पश्चाताप करने वाले को तीन ख़सलते प्रदान करता है यदि उन मे से एक भी ख़सलत धरती एंव आसमान पर जीवन व्यतीत करने वालो को प्राप्त हो जाए तो उसी ख़सलत के आधार पर उनको मुक्ति मिल जाए।

     

    إِنَّ اللّهَ يُحِبُّ التَّوَّابِينَ وَيُحِبُّ المُتَطَهِّرِينَ

     

    1- … इन्नल्लाहा योहिब्बुत्तव्वाबीना व योहिब्बुल मुतताहेरीन[1]

    निसंदेह ईश्वर पश्चाताप करने वालो तथा पवित्र रहने वालो को पसंद करता है।

    इसीलिए ईश्वर जिसे पसंद करता है उस पर अज़ाब (यातना) नही करेगा।

     

    الَّذِينَ يَحْمِلُونَ الْعَرْشَ وَمَنْ حَوْلَهُ يُسَبِّحُونَ بِحَمْدِ رَبِّهِمْ وَيُؤْمِنُونَ بِهِ وَيَسْتَغْفِرُونَ لِلَّذِينَ آمَنُوا رَبَّنَا وَسِعْتَ كُلَّ شَيْء رَحْمَةً وَعِلْماً فَاغْفِرْ لِلَّذِينَ تَابُوا وَاتَّبَعُوا سَبِيلَكَ وَقِهِمْ عَذَابَ الْجَحِيمِ * رَبَّنَا وَأَدْخِلْهُمْ جَنَّاتِ عَدْن الَّتِى وَعَدتَّهُمْ وَمَن صَلَحَ مِنْ آبَائِهِمْ وَأَزْوَاجِهِمْ وَذُرِّيِّاتِهِمْ إِنَّكَ أَنتَ الْعَزِيزُ الْحَكِيمُ * وَقِهِمُ السَّيِّئَاتِ وَمَن تَقِ السَّيِّئَاتِ يَوْمَئِذ فَقَدْ رَحِمْتَهُ وَذلِكَ هُوَ الْفَوْزُ الْعَظِيمُ

     

    2- अल्लज़ीना यहमेलूनल अर्शा वमन होलहू योसब्बेहूना वेहमदे रब्बेहिम वयूमेनूना बेहि वयसतग़फ़ेरूना लिल्लज़ीना आमनू रब्बना वसेएता कुल्ला शैएन रहमतव वइल्मन फ़ग़्फ़िर लिल्लज़ीना ताबू वत्तबउ सबीलका वक़ेहिम अज़ाबल जहीमे*रब्बना वअदख़िलहुम जन्नाते अदनिल्लती वअदतहुम वमन सलहा मिन आबाएहिम व अज़वाजेहिम व ज़ूर्रियातेहिम इन्नका अन्तल अज़ीज़ुल हकीमो*वक़ेहिस्सय्येआते वमन तक़िस्सय्येआते यौमाएज़िन फ़क़द रहिमतहू व ज़ालेका होवल फ़ोज़ुल अज़ीम[2]


    [1] सुरए बकरा 2, छंद 222

    [2] सुरए ग़ाफ़िर 40, छंद 7-9