islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. फारसी सीखें 49

    फारसी सीखें 49

    Rate this post

    रमज़ान का पवित्र महीना वह महीना है जिसमें ईरान के लोग भी अन्य मुसलमानों की भांति रोज़ा रखते हैं। ईरान में लोग इफ़तार और सहर के समय कुछ विशेष व्यंजन तैयार करते हैं जो रमज़ान से ही विशेष हैं। इस महीने में ईरान के विभिन्न नगरों में भांति-भांति की मिठाइयां बनाई जाती हैं। इन्ही में से एक का नाम ज़ुल्बिया है जो पूरे ईरान में मशहूर है। पवित्र रमज़ान की एक परंपरा, इफ़्तारी देना भी है। इफ़्तारी में विभिन्न प्रकार के सूप, मिठाइयां और अन्य व्यंजन परोसे जाते हैं। आज मुहम्मद और रामीन एक इफ़्तार पार्टी में गए हैं। यह कार्यक्रम विश्वविद्यालय की मस्जिद में है। विश्वविद्यालय के छात्रों को यहां पर आमंत्रित किया गया है। इफ़्तार पार्टी में एक ईरानी व्यंजन हलीम परोसा जा रहा है। अन्य खानों की तुलना में मुहम्मद हलीम को वरीयता दे रहा है।

    हलीम
    حلیم
    बहुत
    خیلی
    स्वादिष्ट
    خوشمزه
    एसा ही है
    همین طور است
    इफ़्तार
    افطار
    महीना
    ماه
    रमज़ान
    رمضان
    उचित
    مناسب
    खाना
    غذا
    पारंपरिक
    سنتی
    आभार
    شکر
    वे खाते हैं
    آنها می خورند
    नमक
    نمک
    खाते हो
    می خوری
    मिठाई
    شیرین
    मैं वरीयता देता हूं
    من ترجیح می دهم
    कृप्या
    لطفاً
    बरतन
    ظرف
    दो-देदो
    بده
    पधारिए
    بفرمایید
    पुलाव
    پلو
    वे प्रयोग करते हैं
    آنها مصرف می کنند
    एसी स्थिति में
    درحالی که

    دیگری
    वे रखते हैं
    آنها دارند
    पता है ज्ञात है
    معلوم است
    तुमको पसंद आया है
    تو خوشت آمده است
    अधिकतर
    اغلب
    जिस समय
    هنگام
    सूप
    سوپ
    रोटी
    نان
    पनीर
    پنیر
    सब्ज़ी
    سبزی
    हम खाते हैं
    ما می خوریم
    अच्छा है
    خوب است
    सादा-साधारण
    ساده
    मैं पसंद करता हूं
    من دوست دارم
    भोर समय
    سحر
    रमज़ान में भोर समय में खाना खाना
    سحری
    सामान्यतः
    معمولاً
    वचन
    وعده
    पूर्ण
    کامل
    प्रथम
    اول
    सालन
    خورش
    कबाब
    کباب
    मैंने खाया है
    من خورده ام –
    मुहम्मदः यह हलीम बहुत स्वादिष्ट है।
    محمد – این حلیم خیلی خوشمزه است .
    रामीनः एसा ही है। रमज़ान के इफ़्तार के लिए हलीम सबसे उचित व्यंजन है।
    رامین – همینطور است . حلیم برای افطارهای رمضان مناسب است .
    मुहम्मदः हलीम भी ईरान का एक पारंपरिक व्यंजन है।
    محمد – حلیم هم یک غذای سنتی ایرانی است !
    रामीनः हां। हलीम को नमक डालकर या शकर डालकर दोनों प्रकार से खाया जाता है।
    رامین – بله . حلیم را هم با شکر می خورند هم با نمک . تو با چه می خوری ؟
    मुहम्मदः मैं मीठे खाने को वरीयता देता हूं। कृप्या शकर का वह प्याला मुझको दीजिए।
    محمد – من غذای شیرین را ترجیح می دهم . لطفاً آن ظرف شکر را به من بده .
    रामीनः लीजिए।
    رامین – بفرمایید .
    मुहम्मदः ईरान के लोग चावल वाला खाना अधिक खाते हैं जबकि हलीम जैसा स्वादिष्ट व्यंजन भी पाया जाता है
    محمد – ایرانی ها خیلی پلو مصرف می کنند ، در حالی که غذاهای خوشمزه دیگری مثل حلیم نیز دارند .
    रामीनः एसा लगता है कि आपको हलीम बहुत पसंद आया।
    رامین – معلوم است که از حلیم خوشت آمده است .
    मुहम्मदः हां। बहुत अधिक।
    محمد – خیلی !
    रामीनः इफ़्तार के समय हम अधिक्तर हलीम, सूप और रोटी पनीर खाते हैं।
    رامین – ما اغلب هنگام افطار ، حلیم یا سوپ با نان و پنیر و سبزی می خوریم .
    मुहम्मदः बहुत अच्छा है। इफ़्तार के लिए मैं सादे खाने को अधिक पसंद करता हूं।
    محمد – بسیار خوب است . من هم برای افطار ، غذای ساده را بیشتر دوست دارم .
    रामीनः किंतु ईरानवासी सहर के समय सामान्यतः एक समय पूरा खाना खाते हैं।
    رامین – اما ایرانی ها در سحرها معمولا ً یک وعده غذای کامل می خورند .
    मुहम्मदः मैंने भी रमज़ान के आरंभ से सहर में अधिक्तर चावल खाया है।
    محمد – من هم از اول ماه رمضان ، برای سحری ، بیشتر پلو و خورش خورده ام .
    मुहम्मद और रामीन ने रमज़ान के विशेष व्यंजनों के बारे में वार्ता की। इस महीन में सामान्यतः एसे खाने परोसे जाते हैं जो अन्य महीनों में खाने को नहीं मिलते। इस महीने में रेस्टोरेंट दोपहर के समय तक बंद रहते हैं। इफ़्तार के समय इनमें हलीम, आश और भांति भांति के कबाव मिलते हैं। इन रेस्टोरेन्ट्स से हलीम, आशे रिश्ते और अन्य प्रकार के ईरानी खानों की सुगंध आती रहती है। हलीम को पकाने में बहुत समय लगता है। यही कारण है कि लोग इसे पकाने के स्थान पर पका हुआ ख़रीदने को वरीयता देते हैं।
    http://hindi.irib.ir