islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. बालिग़ होने की निशानियाँ

    बालिग़ होने की निशानियाँ

    Rate this post

    3. बालिग़ होने की निशानियाँ, नीचे दी हुई निशानियों में से कोई एक हैं।
    1.    शर्मगाह (गुप्तांग) के आस पास सख़्त बालों का उगना।
    2.    एहतेलाम (सोते या जागते मनी (वीर्य)) का निकलना।
    3.    चाँद की तारीख के अनुरूप लड़कों का 15 साल और लड़कियों का 9 साल पूरा होना।
    अगर किसी नाबालिग़ ने संभोग किया और मनी नहीं निकली तो यह बालिग़ होने की निशानी नहीं कहलाएगी लेकिन मुजनिब कहलाएगा, अगर उसने ग़ुस्ल नहीं किया है तो बालिग़ होने के बाद उस पर ग़ुस्ल वाजिब है।

    http://www.wilayat.in/