islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. बुजनूर्दः एक बड़े जनता सम्मेलन से सुप्रीम लीडर का सम्बोधन

    बुजनूर्दः एक बड़े जनता सम्मेलन से सुप्रीम लीडर का सम्बोधन

    बुजनूर्दः एक बड़े जनता सम्मेलन से सुप्रीम लीडर का सम्बोधन
    Rate this post

    दिल की गहराइयों से अल्लाह तआला का शुक्र है कि आप उत्तरी ख़ुरासान की जनता से उस दिन मुलाक़ात हो रही है जिसे इमाम रेज़ा (अ.स) की ज़ियारत से विशेष माना जाता है। आप के सूबे और शहर को बाबुररेज़ा (इमाम रेज़ा (अ.स) के रौज़े का दरवाज़ा) कहा जाता है आज अगर हम जाकर आठवें इमाम के रौज़े की ज़ियारत नहीं कर पाये तो हमने इसी जगह से जो कि आप ही की सम्पत्ति है आप पर सलाम भेज रहे हैं।

     

    यह जगह जो उत्तरी ख़ुरासान का एक अहम इलाक़ा है, अपनी भौगोलिक और नेचुरल लोकेशन के लेह़ाज़ से भी और यहाँ के लोगों के नैतिक गुणों और संस्कृतिक लेह़ाज़ से भी बहुत महत्वपूर्ण है। हम सेंसेटिव और अहेम इलाक़े के लोगों के इन गुणों को लम्बे समय से जानते हैं। ख़ुबसूरती, विभिन्न और बेहतरीन नेचुरल रिसोर्सेज़, जानी मानी और अपनी एक अलग पहचान रखने वाली सम्पूर्ण संस्कृति, खेती बाड़ी, पशुपालन और इस तरह़ के दूसरे कामों के लिए मुनासिब आब व हवा, टूरिज़म प्लेसेज़ जिन्हें दुर्भाग्य से देश के ज़्यादा तर लोग नहीं जानते हैं और सबसे बड़ी बात यह है कि साल में ह़ज़रत अली मूसा रेज़ा (अ स) के लाखों ज़ाएर यहाँ से गुज़रते हैं। इन भौगोलिक और रेजनल गुणों के कारण उत्तरी ख़ुरासान की लोकेशन बड़ी सेंसेटिव है। लेकिन यहाँ के लोगों में पाई जाने वाली विशेषतायें, इस सबसे बढ़ कर हैं। यहाँ के लोगों ने हर मैदान में जोश व वलवला दिखाया है। जहाँ उनकी ज़रूरत पड़ी वहां मौजूद रहे हैं, उत्तरी ख़ुरासान, बुजनूर्द और सूबे के दूसरे लोगों पर जोश और हर सेवा के लिए तैयार दिखाई देते हैं। उन्होंने हर मैदान में अपने अमल और काम से साबित किया है।

    http://www.wilayat.in/