islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. मुस्तह़ाब नमाज़ें

    मुस्तह़ाब नमाज़ें

    Rate this post

    सवालः मुस्तह़ेब नमाज़ों को बुलंद (ऊँची) आवाज़

    में पढ़ना चाहिए या धीमी आवाज़ में।?
    जवाबः दिन की मुस्तह़ेब नमाज़ों को धीमी आवाज़ में

    और रात की मुस्तह़ेब नमाज़ो को बुलंद आवाज़

    में पढ़ना मुस्तह़ेब है।