islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. सादात का ह़िस्सा

    सादात का ह़िस्सा

    Rate this post

    सवालः कुछ लोग ख़ुद, सादात के बिजली और पानी का बिल अदा कर देते हैं

    क्या वह उस बिल को अपने ख़ुम्स में ह़िसाब कर सकते हैं?
    जवाबः अभी तक जो उन्होंने सहमे सादात (सय्यदों के ह़िस्से)

    के उनवान से दिया है वह क़ुबूल है लेकिन मुस्तक़बिल

    (भविष्य) में देने के लिए इजाज़त (अनुमति) लेना ज़रूरी है।