islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. 100 सूरए आदियात

    100 सूरए आदियात

    Rate this post

    100 सूरए आदियात का अनुवाद

    शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है।

    1- तेज़ रफ़्तार दौड़ते हुए घोड़ों की क़सम।

    2- जो टाप मार कर चिंगारियाँ उड़ाते हैं।

    3- और सुबह के वक़्त हमला करते हैं।

    4- फिर ग़ुबारे जंग उड़ाते हैं।

    5- और दुशमन के लश्कर मे घुस जाते हैं।

    6- इसमें कोई शक नही है कि इंसान अपने पालने वाले के लिए बड़ा ना शुक्रा है।

    7- और वह खुद भी इस बात का गवाह है।

    8- और वह माल से बहुत मुहब्बत करता है।

    9- क्या वह नही जानता कि जब मुर्दों को कब्रों से निकाला जायेगा।

    10- और दिलों के राज़ों को ज़ाहिर कर दिया जायेगा।

    11- बे शक उनका पालने वाला (अल्लाह) उस दिन उनके हालात से पूरी तरह बाखबर होगा।