islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. 104 सूरए होमज़ा

    104 सूरए होमज़ा

    Rate this post

    104 सूरए होमज़ा का अनुवाद

    शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है।

    1-तबाही और बर्बादी है हर चुग़लख़ोर और मज़ाक़ उड़ाने वाले के लिए।

    2-जिसने माल को जमा किया और उसको गिन गिन कर रखा।

    3-वह यह सोचता है कि यह माल उसको हमेशा जिंदा रखेगा।

    4-(जो वह सोचता है वैसा नही होगा) उसको जल्दी ही होतिमा मे (चुँधियाने वाली आग) मे डाल दिया जायेगा।

    5-और तुम क्या जोनो कि होतिमा क्या है ?

    6-यह अल्लाह की भड़काई हुई(ऐसी) आग है।

    7-जो दिलों तक पहुँच जायेगी।

    8-वह आग उनको घेरे मे ले लेगी।

    9-बड़े बड़े सतूनों के साथ।