islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. 108 सूरए कौसर

    108 सूरए कौसर

    Rate this post

    108 सूरए कौसर का अनुवाद

    शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है।

    1-(ऐ रसूल) हमने आपको कौसर दिया।

    2-बस अपने पालने वाले की नमाज़ पढ़ो और क़ुर्बानी दो।

    3-वास्तव में आपका दुश्मन बे औलादा (संतान हीन) है।