islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. (8) हुक़ना लेना –

    (8) हुक़ना लेना –

    Rate this post

    (1654) सय्याल(बहने वाली) चीज़ों से हुक़ना (इनेमा) अगरचे मज़बूरी की हालत में या इलाज की ग़रज़ से ही क्योँ न लिया जाये रोज़े को बातिल कर देता है।