islamic-sources

    1. home

    2. article

    3. 94- सूरए अलम

    94- सूरए अलम

    Rate this post

    94- सूरए अलम नशरह का अनुवाद

    शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है।

    1- क्या हमने आपके सीने को कुशादह नही कर दिया।

    2- और क्या हमने आपके (उस) बोझ को नही उतार लिया।

    3- जिस ने आप की कमर तोड़ रक्खी थी।

    4- और आपके ज़िक्र को बलन्द कर दिया।(चारो ओर फैला दिया)

    5- बेशक परेशानियों के साथ आराम भी है।

    6- हाँ हर सखती के साथ आसानी भी है।

    7- जब आप(मुहिम कामों से) फ़ारिग हो जायें तो नस्ब करे।

    8- और अपने पालने वाले की तरफ़ रुख करें।