islamic-sources

  • ALL
    E-Books
    Articles

    date

    1. date
    2. title
    • वा बेजबारूतेकल्लति गलबता बेहा कुल्ला शैइन
      Rate this post

      वा बेजबारूतेकल्लति गलबता बेहा कुल्ला शैइन

      वा बेजबारूतेकल्लति गलबता बेहा कुल्ला शैइनRate this post पुस्तक का नामः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्ला हुसैन अंसारीयान وَبِجَبَرُوتِكَ الَّتِى غَلَبْتَ بِهَا كُلَّ شَىْء… वा बेजबारूतेकल्लति गलबता बेहा कुल्ला शैइन जिस क्षमता तथा गरिमा से तूने प्रत्येक वस्तु पर ग़लबा कर रखा है उसके माध्यम से तुझ से विनति करता हूँ। शब्दकोण मे […]

    • मानवाधिकार-4
      Rate this post

      मानवाधिकार-4

      मानवाधिकार-4Rate this post कार्यक्रम मार्गदर्शन में हम विभिन्न विषयों पर इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता का विचार पेश करते हैं। आज हम मानवाधिकार के विषय पर इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद अली ख़ामेनई के विचार पेश करेंगे।  हम बात करेंगे सूचना के अधिकार के संबंध में। विश्व, देश और समाज के बारे […]

    • रियासत-ए-इस्राईल की हक़ीक़त – 8
      Rate this post

      रियासत-ए-इस्राईल की हक़ीक़त – 8

      रियासत-ए-इस्राईल की हक़ीक़त – 8Rate this post यहूदी रियासत का हक़: “ग़ैर तो ग़ैर हुए अपनों का भी याराना हुआ” के मुस्दाक़ कुछ मुसलमान भाइयों का भी यह ख़याल है कि इस्राईल यहूदियों का हक़ था। या यह कि चूंकि इस्राईल बन चुका है इसलिये इस हक़ीक़त को स्वीकार कर लेना चाहिये। जहां तक रियासत […]

    •  आयतुल्लाह नासिर मकारिम शीराज़ी – 2
      आयतुल्लाह नासिर मकारिम शीराज़ी – 2
      Rate this post

      आयतुल्लाह नासिर मकारिम शीराज़ी – 2

      आयतुल्लाह नासिर मकारिम शीराज़ी – 2Rate this post आयतुल्लाह नासिर मकारिम शीराज़ी का जन्म, सन् 1926 में एक धार्मिक एवं विशिष्ट परिवार में ईरान के दक्षिण में स्थित ऐतिहासिक एवं सुन्दर शहर शीराज़ में हुआ। उनके पिता और दादा इसी शहर में व्यापार करते थे तथा उनके सदगुणों के कारण शहर के निवासी उनका सम्मान […]

    • वाबेइज़्ज़तेकल्लति लायक़ूमो लहा शैइन 2
      Rate this post

      वाबेइज़्ज़तेकल्लति लायक़ूमो लहा शैइन 2

      वाबेइज़्ज़तेकल्लति लायक़ूमो लहा शैइन 2Rate this post पुस्तक का नामः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्ला हुसैन अंसारीयान   وَ لِلَّهِ الْعِزَّةُ وَ لِرَسُولِهِ وَ لِلْمُؤْمِنِين‏   वालिल्लाहिल इज़्ज़तो वा लेरसूलेहि वा लिलमोमेनीना[1] इज़्ज़त और सम्मान केवल ईश्वर उसके दूत (रसूल) और विश्वासीयो (मोमेनीन) के लिए है। प्रथम छंद, इज़्ज़त और सम्मान ईश्वर से […]

    • बिस्मिल्लाह से आऱम्भ करने का कारण – 2
      Rate this post

      बिस्मिल्लाह से आऱम्भ करने का कारण – 2

      बिस्मिल्लाह से आऱम्भ करने का कारण – 2Rate this post पुस्तक का नामः दुआए कुमैल का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारीयान   इस से पूर्व लेख मे यह बात स्पष्ट की थी कि बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्राहीम कहने से कार्य पूरे होते है अधूरे नही रहते तथा उसका दूसरा लाभ यह भी है कि यदि कोई व्यक्ति क्रोधित है तो […]

    • वा ख़ज़ाआलहा कुल्लो शैइन वज़ल्ला लहा कुल्लो शैइन 4
      Rate this post

      वा ख़ज़ाआलहा कुल्लो शैइन वज़ल्ला लहा कुल्लो शैइन 4

      वा ख़ज़ाआलहा कुल्लो शैइन वज़ल्ला लहा कुल्लो शैइन 4Rate this post पुस्तक का नामः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्ला हुसैन अंसारीयान   यह विचार कर मै तेरी ओर आकर्षित हुआ तथा अपनी आशाओ को लेकर तेरे दरबार मे उपस्थित हो गया कि मुझे तेरे ऊपर भरोसा था और मुझे बोध था कि मै […]

    • रहबरे मोअज़्ज़मे इंक़लाबे इस्लामी काहज कमेटी के ज़िम्मेदारों से खि़ताब
      Rate this post

      रहबरे मोअज़्ज़मे इंक़लाबे इस्लामी काहज कमेटी के ज़िम्मेदारों से खि़ताब

      रहबरे मोअज़्ज़मे इंक़लाबे इस्लामी काहज कमेटी के ज़िम्मेदारों से खि़ताबRate this post बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्रहीम       ये वो मसाइल हैं जो हज के असली मसाइल हैं। हज को इत्तेहाद का मज़हर होना चाहिये आपसी गुफ़तगू और बातचीत का मज़हर होना चाहिये इसे मुसलमानों की आपसी हमदर्दी, सहायता और नज़दीकी का नुमाइन्दा होना चाहिये। हमें हज को इस सिम्त में […]

    • आशीषो को असंख्य होना 2
      Rate this post

      आशीषो को असंख्य होना 2

      आशीषो को असंख्य होना 2Rate this post लेखक: आयतुल्लाह हुसैन अनसारियान किताब का नाम: तोबा आग़ोशे रहमत पवित्र क़ुरआन मनुष्य की रचना (निर्माण, ख़िलक़त) हेतु कहता हैः وَلَقَدْ خَلَقْنَا الاْنسَانَ مِن سُلاَلَة مِن طِين वलाक़द ख़लक़नल इन्साना मिन सुलालतिम मिन तीन[1] हमने इन्सान को शुद्ध मिट्टी के सोत्र से बनाया है। ثُمَّ جَعَلْنَاهُ نُطْفَةً فِي قَرَار مَّكِين सुम्मा […]

    • इस्लामी चेतना-3
      Rate this post

      इस्लामी चेतना-3

      इस्लामी चेतना-3Rate this post     विभिन्न विषयों पर वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई के विचारों पर आधारित एक नयी श्रंखला मार्गदर्शन आपकी सेवा में प्रस्तुत है।   प्रस्तुत है इस्लामी चेतना के विषय पर इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता के विचार जो उनके विभिन्न भाषणों से लिए गए हैं।   ***   […]

    • निर्देशिता बेमिस्ल वरदान (नेमत) -2
      Rate this post

      निर्देशिता बेमिस्ल वरदान (नेमत) -2

      निर्देशिता बेमिस्ल वरदान (नेमत) -2Rate this post पुस्तकः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्ला अनसारीयान   यदि मनुष्य ईश्वर की भौतिक एंव आध्यात्मिक वरदानो को देखे तथा उनपर सोच विचार करे तो उसे पता चलेगा कि ईश्वर की कृपा तथा उसके विशेष एंव सार्वजनिक फ़ैज़ ने उस पर चारो ओर से छाया कर रखा […]

    • जन्नतुल बक़ीअ कि तबाही – 22
      Rate this post

      जन्नतुल बक़ीअ कि तबाही – 22

      जन्नतुल बक़ीअ कि तबाही – 22Rate this post (32)   वाकि़या हुर्रा के शहीद कर्बला में इमाम हुसैन अलै0 की शहादत के बाद मदीने में एक ऐसी बग़ावत की आँधी उठी जिससे यह महसूस हो रहा था कि बनी उमय्या के खि़लाफ़ पूरा आलमे इस्लाम उठ खड़ा होगा और खि़लाफ़त तबदील हो जायेगी मगर मदीने वालों को ख़ामोश […]

    • जन्नतुल बक़ीअ कि तबाही – 24
      Rate this post

      जन्नतुल बक़ीअ कि तबाही – 24

      जन्नतुल बक़ीअ कि तबाही – 24Rate this post (34)   जनाब जाबिर बिन अब्दुल्लाह अन्सारी आप रिसालते पनाह स॰ और हज़रत अमीर के जलीलुलक़द्र सहाबी थे। आँहज़रत स॰ की हिजरत से 15 साल पहले मदीने में पैदा हुए और आप स॰ के मदीना तशरीफ़ लाने से पहले इस्लाम ला चुके थे। आँहज़रत स॰ ने इमाम बाक़र अ॰ तक सलाम […]

    • जन्नतुल बक़ीअ कि तबाही – 7
      Rate this post

      जन्नतुल बक़ीअ कि तबाही – 7

      जन्नतुल बक़ीअ कि तबाही – 7Rate this post (5)    जनाबे फ़ात्मा बिन्ते असद आप हज़रत अली की माँ हैं और आप ही ने जनाबे रसूले ख़ुदा स॰ की वालिदा के इन्तिक़ाल के बाद आँहज़रत स॰ की परवरिश फ़रमाई थी, जनाबे फ़ातिमा बिन्ते असद को आपसे बेहद उनसियत व मुहब्बत थी और आप भी अपनी औलाद से ज़्यादा […]

    • अतिव्यय का नुक़सान
      Rate this post

      अतिव्यय का नुक़सान

      अतिव्यय का नुक़सानRate this post अतिव्यय या फ़ुज़ूलख़र्ची से अधिक संपत्ति भी बर्बाद हो जाती हैः हज़रत अली अलैहिस्सलाम     पैग़म्बरे इस्लाम की नज़र में मुसलमान कौन है   मुसलमान, मुसलमान का भाई है, उससे बेइमानी नहीं करता, उससे झूठ नहीं बोलता और उसे अकेला नहीं छोड़ता।     पैग़म्बरे इस्लाम की नज़र में […]

    • ईरान के समकालीन बुद्धिजीवी-3
      Rate this post

      ईरान के समकालीन बुद्धिजीवी-3

      ईरान के समकालीन बुद्धिजीवी-3Rate this post समकालीन विश्व में ईरान की इस्लामी क्रान्ति के स्थान और इमाम ख़ुमैनी के प्रभाव के दृष्टिगत, उनकी आध्यात्मिक विशेषताओं, उनके व्यक्तित्व के आयामों तथा उनके धार्मिक व राजनैतिक विचारों को समझने के लिए सबसे अच्छी शैली उनके भाषणों, राजनैतिक व सामाजिक मामलों पर उनके लेखों और उनके व्यक्तित्व व […]

    • अर्रहीम 1
      Rate this post

      अर्रहीम 1

      अर्रहीम 1Rate this post पुस्तक का नामः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारियान   रहीम शब्द अर्बी विद्वानो के अनुसार सिफ़ते मुश्ब्बाह है, इस आधार पर सदैव रहीम होने को दर्शाती है, अर्थातः ऐसा ईश्वर जिसकी दया और कृपा निरंतर तथा स्थिर है। आस्था रखने वाले लोगो का कहना है कीः रहमते रहीमिया […]

    • जन्नतुल बक़ीअ कि तबाही – 8
      Rate this post

      जन्नतुल बक़ीअ कि तबाही – 8

      जन्नतुल बक़ीअ कि तबाही – 8Rate this post (6)    जनाबे अब्बास इब्ने अब्दुल मुत्तलिब आप रसूले इस्लाम स॰ के चचा और मक्के के शरीफ़ और बुजर्ग लोगों में से थे,आपका शुमार हज़रत पैग़म्बर स॰ के चाहने वालों और मद्द करने वालों, नीज़ आप स॰ के बाद हज़रत अमीरूल मोमेनीन के वफ़ादारों और जाँनिसारों में होता है। आमुलफ़ील […]

    • इस्लामी चेतना 1
      Rate this post

      इस्लामी चेतना 1

      इस्लामी चेतना 1Rate this post विभिन्न विषयों पर वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनई के विचारों पर आधारित एक नयी श्रंखला आरंभ की जा रही है। इस चर्चा में हम इस्लामी चेतना पर वरिष्ठ नेता के विचार पेश कर रहे हैं। इस्लामी राष्ट्र की विशाल पूंजि, इस्लाम धर्म तथा मानवीय जीवन के लिए इस […]

    • वाबेइज़्ज़तेकल्लति लायक़ूमो लहा शैइन 3
      Rate this post

      वाबेइज़्ज़तेकल्लति लायक़ूमो लहा शैइन 3

      वाबेइज़्ज़तेकल्लति लायक़ूमो लहा शैइन 3Rate this post पुस्तक का नामः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्ला हुसैन अंसारीयान   हज़रत मुहम्मद सललल्लाहोअलैहेवाआलेहिवसल्लम का कथन हैः   إِنَّ رَبَّکُم یَقُولُ کُلَّ یَوم: أَنَا العَزِیزُ فَمَن أَرَادَ عِزَّ الدَارَینِ فَلیُطِعِ العَزِیزَ इन्ना रब्बाकुम यक़ूलो कुल्ला यौमिनः अनल अज़ीज़ो फ़मन अरादा इज़्ज़द्दारैने फ़लयोतेइल अज़ीज़ा[1] प्रतिदिन तुम्हारा पालनहार […]

    more