islamic-sources

  •  आयतुल्लाह ख़ामनेई 5
    आयतुल्लाह ख़ामनेई 5
    Rate this post

    आयतुल्लाह ख़ामनेई 5

    आयतुल्लाह ख़ामनेई 5Rate this post अमरीकी शोध संस्था RAND ने आध्यात्मिकता, रक्षक और आधार शीर्षक के अंतर्गत एक पुस्तक प्रकाशित की जिसमें इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाह हिल उज़मा सैयद अली ख़ामनेई को युक्ति से भरे प्रबंधक, ऐसी हस्ती जिसकी ओर लोग खिंचे चले आते हैं, सुदृढ़ और उच्च आत्मविश्वास का स्वामी व्यक्ति बताया […]

  •  आयतुल्लाह ख़ामेनई 4
    आयतुल्लाह ख़ामेनई 4
    4 (80%) 1 vote

    आयतुल्लाह ख़ामेनई 4

    आयतुल्लाह ख़ामेनई 44 (80%) 1 vote धार्मिक एवं दक्ष व्यक्तियों का अस्तित्व व्यापक एवं विस्तृत आयाम लिए होता है इसी कारण विभिन्न क्षेत्रों में वे महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। आयतुल्लाहिल उज़मा सैय्यद अली ख़ामेनई भी इसी तरह के लोगों में से हैं। उन्होंने अपने पूर्ण जीवन में कभी कोई विशेष पद ग्रहण करने के […]

  •  वरिष्ठ नेता-३
    वरिष्ठ नेता-३
    Rate this post

    वरिष्ठ नेता-३

    वरिष्ठ नेता-३Rate this post वर्ष 1368 हिजरी शम्सी में इस्लामी क्रान्ति के संस्थापक इमाम ख़ुमैनी के स्वर्गवास के बाद आयतुल्लाहिल उज़्मा सय्यद अली ख़ामेनई ने एक जागरुक व अनुभवी हस्ती के रूप में इस्लामी क्रान्ति का नेतृत्व संभाला। उन्होंने ऐसे समय ईरान में नवस्थापित इस्लामी क्रान्ति का नेतृत्व संभाला जब इमाम ख़ुमैनी के स्वर्गवास के […]

  •  वरिष्ठ नेता-2
    वरिष्ठ नेता-2
    Rate this post

    वरिष्ठ नेता-2

    वरिष्ठ नेता-2Rate this post धार्मिक एवं दक्ष व्यक्तियों का अस्तित्व व्यापक एवं विस्तृत आयाम लिए होता है इसी कारण विभिन्न क्षेत्रों में वे महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। आयतुल्लाहिल उज़मा सैय्यद अली ख़ामेनई भी इसी तरह के लोगों में से हैं। उन्होंने अपने पूर्ण जीवन में कभी कोई विशेष पद ग्रहण करने के लिए प्रयास […]

  •  आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद अली ख़ामनेई 1
    आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद अली ख़ामनेई 1
    Rate this post

    आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद अली ख़ामनेई 1

    आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद अली ख़ामनेई 1Rate this post ईरान की इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद अली ख़ामनेई का जन्म २४ तीर १३१८ हिजरी शम्सी बराबर १९३९ ईसवी को ईरान के पूर्वोत्तर में स्थित पवित्र नगर मशहद में हुआ था। वह अपने परिवार के दूसरे बेटे थे और उनकी प्रशिक्षा पूर्णरूप से एक […]

  •  योरोपीय और उत्तरी अमरीका के युवाओं के नाम वरिष्ठ नेता का संदेश
    योरोपीय और उत्तरी अमरीका के युवाओं के नाम वरिष्ठ नेता का संदेश
    Rate this post

    योरोपीय और उत्तरी अमरीका के युवाओं के नाम वरिष्ठ नेता का संदेश

    योरोपीय और उत्तरी अमरीका के युवाओं के नाम वरिष्ठ नेता का संदेशRate this post   २१ जनवरी २०१५ को विश्व के संचार माध्यमों में असंख्य खबरों के मध्य एक ऐसी ख़बर दिखाई दी जो इस्लामी जगत और मुसलमानों सेसंबंधित थी और उसने विश्व के बहुत से लोगों के ध्यान को अपनी ओर आकृष्ट किया। ऐसी […]

  • आयतुल्लाह ख़ामनेई 5
    Rate this post

    आयतुल्लाह ख़ामनेई 5

    आयतुल्लाह ख़ामनेई 5Rate this post अमरीकी शोध संस्था RAND ने आध्यात्मिकता, रक्षक और आधार शीर्षक के अंतर्गत एक पुस्तक प्रकाशित की जिसमें इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाह हिल उज़मा सैयद अली ख़ामनेई को युक्ति से भरे प्रबंधक, ऐसी हस्ती जिसकी ओर लोग खिंचे चले आते हैं, सुदृढ़ और उच्च आत्मविश्वास का स्वामी व्यक्ति बताया […]

  • आयतुल्लाह ख़ामेनई 4
    Rate this post

    आयतुल्लाह ख़ामेनई 4

    आयतुल्लाह ख़ामेनई 4Rate this post धार्मिक एवं दक्ष व्यक्तियों का अस्तित्व व्यापक एवं विस्तृत आयाम लिए होता है इसी कारण विभिन्न क्षेत्रों में वे महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। आयतुल्लाहिल उज़मा सैय्यद अली ख़ामेनई भी इसी तरह के लोगों में से हैं। उन्होंने अपने पूर्ण जीवन में कभी कोई विशेष पद ग्रहण करने के लिए […]

  • विश्व साम्राज्य फूट डालने और इस्लामी देशों को आपस में लड़वाने के प्रयास में
    Rate this post

    विश्व साम्राज्य फूट डालने और इस्लामी देशों को आपस में लड़वाने के प्रयास में

    विश्व साम्राज्य फूट डालने और इस्लामी देशों को आपस में लड़वाने के प्रयास मेंRate this post इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़्मा सय्यद अली ख़ामेनई ने कहा है कि पश्चिम ने अफ़्रीक़ा महाद्वीप में अपनी उपस्थिति बढ़ाने के लिए नया हमला किया है। उन्होंने 26वें इस्लामी एकता अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन में भाग लेने वाले देशी […]

  • बुजनूर्दः एक बड़े जनता सम्मेलन से सुप्रीम लीडर का सम्बोधन
    Rate this post

    बुजनूर्दः एक बड़े जनता सम्मेलन से सुप्रीम लीडर का सम्बोधन

    बुजनूर्दः एक बड़े जनता सम्मेलन से सुप्रीम लीडर का सम्बोधनRate this post दिल की गहराइयों से अल्लाह तआला का शुक्र है कि आप उत्तरी ख़ुरासान की जनता से उस दिन मुलाक़ात हो रही है जिसे इमाम रेज़ा (अ.स) की ज़ियारत से विशेष माना जाता है। आप के सूबे और शहर को बाबुररेज़ा (इमाम रेज़ा (अ.स) […]

  • माँ-बाप के साथ नेकी, सुप्रीम लीडर की ज़बानी
    Rate this post

    माँ-बाप के साथ नेकी, सुप्रीम लीडर की ज़बानी

    माँ-बाप के साथ नेकी, सुप्रीम लीडर की ज़बानीRate this post अगर हाल ही में प्रकाशित होने वाली किताब ‘रोज़ा रखने के शिष्टाचार और रोज़ेदारों की परस्थितियां आयतुल्लाह ख़ामेनई के बयान की रौशनी में” का हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई के बयानों की तारीख़ तथा आपके विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े श्रोताओं को मद्देनज़र रख कर अध्ययन किया जाए […]

  • आयतुल्लाह ख़ामेनई की निगाह में वास्तविक बहार
    Rate this post

    आयतुल्लाह ख़ामेनई की निगाह में वास्तविक बहार

    आयतुल्लाह ख़ामेनई की निगाह में वास्तविक बहारRate this post अगर हाल ही में प्रकाशित होने वाली किताब ‘रोज़ा रखने के शिष्टाचार और रोज़ेदारों की परस्थितियां आयतुल्लाह ख़ामेनई के बयान की रौशनी में” का हज़रत आयतुल्लाह ख़ामेनई के बयानों की तारीख़ तथा आपके विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े श्रोताओं को मद्देनज़र रख कर अध्ययन किया जाए तो […]

  • पैग़म्बरे इस्लाम का स्वर्गवास
    Rate this post

    पैग़म्बरे इस्लाम का स्वर्गवास

    पैग़म्बरे इस्लाम का स्वर्गवासRate this post पैग़म्बरे इस्लाम का व्यक्तित्व सृष्टि की महानताओं और परिपूर्णताओं का चरम बिंदु है। महानता के उन पहलुओं की दृष्टि से भी जो मनुष्यों के विवेक की पहुंच के भीतर हैं जैसे सूझबूझ, बुद्धि, तत्वज्ञान, उदारता, कृपा, दया, क्षमाशीलता आदि और उन पहलुओं की दृष्ट से भी मानव बुद्धि की […]

  • इस्लामी लोकतंत्र-2
    Rate this post

    इस्लामी लोकतंत्र-2

    इस्लामी लोकतंत्र-2Rate this post इस्लाम धर्म अर्थात मानवता और मानवीय मूल्यों का समर्थक धर्म, प्रेम, सहानुभूति और सहिष्णुता का प्रचार करने वाला धर्म, भाईचारे और स्नेह का धर्म। यह वह धर्म है जो सामाजिक अधिकारों की कसौटी है। इस्लाम के अनुसार समाज एसा होना चाहिए जिसमें कमज़ोर व्यक्ति शक्तिशाली व्यक्ति से भी अपना अधिकार प्राप्त […]

  • इस्लामी लोकतंत्र 1
    Rate this post

    इस्लामी लोकतंत्र 1

    इस्लामी लोकतंत्र 1Rate this post लोकतंत्र अर्थात देश के संचालन और सरकार की राजनैतिक कार्यविधि में जनता की इच्छाओं को आधार और केन्द्र माना गया है। लोकतंत्र का अर्थ राजनैतिक व्यवस्था और इस व्यवस्था के संचालनकर्ताओं का जनता की ओर से चुनकर आना है। इस वास्तविक अर्थ उसी समय पूरा होता है जब जनता का […]

  • ज्ञान आंदोलन-2
    Rate this post

    ज्ञान आंदोलन-2

    ज्ञान आंदोलन-2Rate this post ज्ञान आंदोलन के परिणाम स्वरूम आज हमें विभिन्न वैज्ञानिक क्षेत्रों में व्यापक विकास देख रहे हैं तो क्या अब हमें संतुष्ट होकर बैठ जाना चाहिए? ज़ाहिर है कि नहीं, हमं अभी ज्ञान विज्ञान की अग्रिम पंक्ति से पीछे हैं। अभी जीवन के लिए आवश्यक बहुत से वैज्ञानिक और तकनीकी क्षेत्रों में […]

  • ज्ञान आंदोलन
    Rate this post

    ज्ञान आंदोलन

    ज्ञान आंदोलनRate this post विभिन्न विषयों पर इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद अली ख़ामेनई के विचार । इस चर्चा का विषय है ज्ञान आंदोलन। ईरान में यह आंदोलन बारह साल से जारी है और इसके परिणाम स्वरूप ईरान ने ज्ञान विज्ञान के क्षेत्र में तीव्र गति से प्रगति की है और यदि […]

  • विकास
    Rate this post

    विकास

    विकासRate this post विकास बहुत रोचक और लुभावना शब्द है और इसमें बहुत अर्थ निहित हैं किंतु यह भी एक सच्चाई है कि विकास के कई रूप हैं और ज़रूरी नहीं है कि विकास का हर रूप हर समाज और हर राष्ट्र के लिए हितकर व रुचिकर हो। यही कारण है कि इस्लामी क्रान्ति के […]

  • राजनीति पर वरिष्ठ नेता का दृष्टिकोण
    Rate this post

    राजनीति पर वरिष्ठ नेता का दृष्टिकोण

    राजनीति पर वरिष्ठ नेता का दृष्टिकोणRate this post हालिया दिनों ईरान में राष्ट्रपति चुनाव हुए। अतः हमने चुनाव, उसके महत्व, उसके परिणाम, चुनावों में जनता की भागीदारी के महत्व, इसके परिणाम, उम्मीदवारों को परखने की शैली आदि विषयों पर इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता के विचार पेश किए। इस कार्यक्रम में हम राजनीति के विषय […]

  • पैग़म्बरे इस्लाम सर्वोच्च नेता के निगाह में
    Rate this post

    पैग़म्बरे इस्लाम सर्वोच्च नेता के निगाह में

    पैग़म्बरे इस्लाम सर्वोच्च नेता के निगाह मेंRate this post पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मुहम्मद मुस्तफ़ा सल्लल्लाहो अलैहे वआलेही वसल्लम का व्यक्तित्व सृष्टि की महानताओं और परिपूर्णताओं का चरम बिंदु है। यह व्यक्तित्व, महानता के उन पहलुओं की दृष्टि से भी महत्वपूर्ण है जो मनुष्यों के विवेक की पहुंच के भीतर हैं जैसे सूझबूझ, बुद्धि, तत्वज्ञान, उदारता, […]

  • पेज1 से 3123