islamic-sources

  • Rate this post

    कुमैल को अमीरुल मोमेनीन (अ.स.) की वसीयत 2

    Rate this post लेखक: आयतुल्लाह हुसैन अनसारियान किताब का नाम: शरहे दुआ ए कुमैल   हे कुमैल, निश्चित रुप से भगवान ने अपने नबी (दूत) को, पैग़म्बर (ईश्वरीय दूत) ने मुझे साहित्य सिखाया और मै विश्वासियो को साहित्य सिखाता हूँ। मैने साहित्य को बड़ो के हेतु विरासत के रुप मे रख दिया है। हे कुमैल, कोई ऐसा ज्ञान […]

  • Rate this post

    कुमैल को अमीरुल मोमेनीन (अ.स.) की वसीयत 1

    Rate this post लेखक: आयतुल्लाह हुसैन अनसारियान किताब का नाम: शरहे दुआ ए कुमैल   तोहफ़ुल ओक़ूल नामी पुस्तक के लेख़क (हसन पुत्र शाबए हर्रानी) ने (इरताद के पोत्र सअद) से उद्धरण किया हैः मैने ज़ियाद के पुत्र कुमैल को देखा तो उससे अमीरुल मोमेनीन (अ.स.) के गुणो (फ़ज़ाइल) के सम्बंध मे प्रश्न किया, उसने उत्तर दियाः क्या […]

  • Rate this post

    वा बेक़ुव्वतेकल्लती क़हरता बेहा कुल्ला शैएन 4

    Rate this post पुस्तक का नामः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह हुसैन अंसारीयान दूसरे छंद मे कहता है। اللَّهُ الَّذِى خَلَقَ سَبْعَ سمَاوَاتٍ وَ مِنَ الْأَرْضِ مِثْلَهُنَّ يَتَنزَّلُ الْأَمْرُ بَيْنهَنَّ لِتَعْلَمُواْ أَنَّ اللَّهَ عَلىَ‏ كلُ‏ِّ شىَ‏ْءٍ قَدِيرٌ وَ أَنَّ اللَّهَ قَدْ أَحَاطَ بِكلُ‏ِّ شىَ‏ْءٍ عِلْمَا अल्लाहुल्लज़ी ख़लाक़ा सबआ समावातिन वामेनल अर्ज़े मिसलाहुन्ना यतानज़्ज़ेलुल […]

  • Rate this post

    वा बेक़ुव्वतेकल्लती क़हरता बेहा कुल्ला शैएन 3

    Rate this post पुस्तक का नामः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह हुसैन अंसारीयान   ईश्वर की शक्ति की कोई सीमा नही है[1] और आकाश एंव पृथ्वी मे विभिन्न प्रकार के प्राणीयो का जन्म एंव उनके चमत्कार जो एक दूसरे से छिपे हुए है यह सब ईश्वर की शक्ति का एक छोटा सा नमूना है। […]

  • Rate this post

    वा बेक़ुव्वतेकल्लती क़हरता बेहा कुल्ला शैएन 2

    Rate this post पुस्तक का नामः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह हुसैन अंसारीयान   अरबो आकाशी प्राणी, आकाशगंगा और वनस्पति, हैवानात, पशु पक्षी तथा धरती एंव समुद्र के डसने वाले असंख्य कीड़े मकोड़े, वायरस VIRUS और माईक्रोप MICROBE तथा ग़ैबी मोजूदात और वह स्वर्गीदूत जिन से धरती और आकाश भरा हुआ है। इन सब से कौन अवगत […]

  • Rate this post

    वा बेक़ुव्वतेकल्लती क़हरता बेहा कुल्ला शैएन 1

    Rate this post पुस्तक का नामः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह हुसैन अंसारीयान   وَ بِقُوَّتِکَ الَتِی قَھَرتَ بِھا کُلَّ شَیء “वा बेक़ुव्वतेकल्लती क़हरता बेहा कुल्ला शैएन” और उस क़ुदरत के वास्ते से है जो प्रत्येक चीज़ पर प्रभुत्व रखता है। ईश्वर की क़ुदरत एंव शक्ति उसकी ऐन ज़ात तथा बिनिहायत और अनंत […]

  • Rate this post

    कुमैल का स्वर्गवास

    Rate this post कुमैल महान एवं माननीय चरित्र की योग्यता के कारण हज्जाज पुत्र युसुफ़े सक़फ़ि के हाथोशहीद हुए, ऐसी शहादत कि जिसकी सूचना से उसके प्रमी अली (अ.स.) ने उसे सूचितकिया था। अमवी अत्याचारी शासक की ओर से जिस समय हज्जाज पुत्र युसुफ़ सक़फ़ि इराक काराज्यपाल नियुक्त हुआ, तो उसने कुमैल को खोजा ताकि उसे अहलेबैत (अलैहेमुस्सलाम) केप्रम के अपराध तथा शिया होने के दोष मे – जो कि बनि उमय्या की संस्कृति मे सबसेबड़ा पाप था – कत्ल करे। कुमैल ने ख़ुद को हज्जाज से गुप्त रखा था, हज्जाज ने कुमैल की जाति के लोगो कोराजकोष से मिलने वाले हक़ूक़ बंद कर दिये थे। जिस समय कुमैल अपनी जाति के लोगोके हक़ूक़ बंद होने से सूचित हुए तो कुमैल ने कहाः “मेरे जीवन मे कुच्छ शेष नही बचा है, यह बात शोभा नही देती कि मेरा अस्तित्व एक समूह की रोजी रोटी के बंद होने का कारण बने”। कुमैल अपने गुप्त स्थान से बाहर निकल कर हज्जाज के पास गये। हज्जाज ने कहाः ( तुझे सज़ा देने के लिए मै […]

  • Rate this post

    कुमैल का शासन

    Rate this post पुस्तक का नामः दुआए कुमैल का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारियान   कुमैल अमीरूल मोमेनीन (अ.स.) की ओर से फ़रात नदि के तट पर स्थित हैयत शहर के राज्यपाल थे, परन्तु वह अपने कर्तव्य इस को भलि भाती चलाने मे असफ़ल थे, सन् 39 हिजरी मे मआवीया ने इस शहर की कुच्छ आबादी […]

  • Rate this post

    कुमैल के लिए ज़िक्र की हक़ीक़त 6

    Rate this post पुस्तक का नामः दुआए कुमैल का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारियान   3- इसी प्रकार दूसरे शब्दो मे ज़ियाद नख़ई के पुत्र कुमैल से कहाः हे कुमैल, लोग स्वयं यह आदेश पारित करे दिन मे अच्छे काम करने का प्रयास करे तथा रात्रियो के माध्यम से अपनी न्यायिक आवश्यकताओ को पूरा करने का […]

  • Rate this post

    कुमैल के लिए ज़िक्र की हक़ीक़त 5

    Rate this post पुस्तक का नामः दुआए कुमैल का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारियान   अथवा ऐसा व्यक्ति मिला जो कि लालची तथा सरलता से शहवत का आज्ञाकारी हो गया, अथवा ऐसा व्यक्ति जो धन को एकत्रित तथा उसका भंडार करता है, यह दोनो व्यक्ति किसी भी प्रकार से धर्म का पालन करने वाले नही है, […]

  • Rate this post

    कुमैल के लिए ज़िक्र की हक़ीक़त 4

    Rate this post पुस्तक का नामः दुआए कुमैल का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारियान   हे ज़ियाद के पुत्र कुमैल, धन के जलाश्य धनि लोगो के जीवित रहते हुए समाप्त हो गये, विद्वान अनंत काल तक बाक़ी है, मृत्यु के साथ व्यक्ति समाप्त हो जाता है परन्तु उसका चरित्र लोगो के हृदयो मे जीवित रहता है। […]

  • Rate this post

    कुमैल के लिए ज़िक्र की हक़ीक़त 3

    Rate this post पुस्तक का नामः दुआए कुमैल का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारियान   हे कुमैलः यह हृदय कंटेनर है, और उसमे सर्वाधिक अच्छा उसका रखरखाव करने वाला है, जो कुच्छ तुम्हे बताऊ उसे कंठित करो। मनुष्य तीन प्रकार के हैः विद्वान, विधार्थी, एंव मख्खियो के समान प्रत्येक ध्वनि के पीछे जाने वाले तथा प्रत्येक […]

  • Rate this post

    कुमैल के लिए ज़िक्र की हक़ीक़त 2

    Rate this post पुस्तक का नामः दुआए कुमैल का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारियान   कुमैल ने कहाः अधिक व्याखया करे। अमीरूल मोमेनीन (अ.स.) ने कहाः रहस्य के बहुबल के माध्यम से घूंघट (हेजाब) का तोड़ना। कुमैल ने कहाः अधिक व्याखया करे। अमीरूल मोमेनीन (अ.स.) ने कहाः प्रकाशीय है जो अनंत काल से चमक रहा है […]

  • Rate this post

    कुमैल के लिए ज़िक्र की हक़ीक़त 1

    Rate this post पुस्तक का नामः दुआए कुमैल का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारियान   नेशापुरि ने अपने रेजाल मे उल्लेख किया हैः कुमैल अमीरूल मोमेनीन (अ.स.) के विशेष साथीयो मे से है जिसे उन्होने अपने ऊँट पर सवार किया तो कुमैल ने अमीरूल मोमेनीन (अ.स.) ने प्रश्न किया। हक़ीक़त का अर्थ क्या है? – ज़ाहिर तौर […]

  • Rate this post

    कुमैल की प्रार्थना

    Rate this post पुस्तक का नामः दुआए कुमैल का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारीयान   सूफ़ी आशिक़ और सूफ़ी मनुष्यो ने कुमैल की प्रार्थना को परिभाषित करते हुए दूसरी सभी प्रार्थनओ के बीच कुमैल की प्रार्थना का वही स्थान हो जो स्थान मनुष्य का दूसरे प्राणीयो के बीच जानते है, क्योकि मनुष्य को सबसे अच्छा प्राणी […]

  • Rate this post

    कुमैल की प्रार्थना की प्रमाणकता 3

    Rate this post पुस्तक का नामः दुआए कुमैल का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारीयान हमने इस से पूर्व भाग मे इस बात को बताया था कि अमीरुल मोमेनीन ने कुमैल को संबोधित करते हुए कहा कि हे कुमैल, इस प्रार्थना को कंठित करो तथा प्रत्येक गुरूवार रात्रि को एक बार अथवा महीने मे एक बार अथवा […]

  • Rate this post

    कुमैल की प्रार्थना की प्रमाणकता 1

    Rate this post पुस्तक का नामः दुआए कुमैल का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारीयान   कुमैल की प्रार्थना की प्रसिद्धि के कारण अधिकांश प्रार्थनाई पुस्तको मे इसकी सनद का उल्लेख करना उचित एवं आवश्यक नही समझा गया तथा इसकी अखंडता फ़साहत व बलाग़त (अर्थात बयानबाज़ी) प्रार्थना की सिनखियत अमीरुल मोमेनीन (अ.स.) की प्रार्थनाओ के अन्वेषक है […]

  • Rate this post

    बिस्मिल्लाह के संकेतो पर एक दृष्टि 4

    Rate this post पुस्तक का नामः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारियान इसके पूर्व लेख मे हमने इस बात का स्पष्टीकरण करने का प्रयत्न किया था कि विस्मिल्लाह के पठन करने वालो को इस बात से अवगत कराया जाता हैः कि मै देखने वाला हूँ, मै तेरे सभी (अर्थात गुप्त एवं प्रकट) कार्यो को […]

  • Rate this post

    बिस्मिल्लाह के प्रभाव 4

    Rate this post पुस्तक का नामः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारियान आपने इस के पूर्व लेख मे इस बात का पठन किया होगा कि कि जब तक महबूब ना चाहे उस समय तक प्रार्थना करने वाले की अर्जी सम्भव नही है, तथा जब तक ईश्वर ना चाहे तो उसका सेवक (बंदा) प्रार्थना […]

  • Rate this post

    बिस्मिल्लाह के प्रभाव 3

    Rate this post पुस्तक का नामः कुमैल की प्रार्थना का वर्णन लेखकः आयतुल्लाह अनसारियान   आप ने इस के पूर्व लेख मे इस बात का पठन किया कि यदि ईश्वर के यहा गुरूत्वाकर्षण इजाज़त और अनुमति नही होती तो दास (बंदा) ईश्वर से एक शब्द कहने की भी शक्ति नही रखता तथा दुआ के क्षेत्र […]

  • पेज3 से 512345