islamic-sources

Languages
ALL
E-Books
Articles

date

  1. date
  2. title
  • Rate this post

    बाप की ओर से बेटे को सबसे अच्छा उपहार

    Rate this post     पैग़म्बरे इस्लामः किसी बाप ने शिष्टाचार से बेहतर कोई उपहार अपने बच्चे को नहीं दिया अर्थात बाप की ओर से बच्चे को दिया जाने वाला सबसे अच्छा उपहार शिष्टाचार है।     शिष्टाचार का महत्व     इमाम जाफ़र सादिक़ अलैहिस्सलाम फ़रमाते हैः जब हश्र का दिन आएगा (वह दिन […]

  • Rate this post

    पैग़म्बरे इस्लाम की नज़र में मुसलमान कौन है

    Rate this post   मुसलमान वह है जिसकी ज़बान और हाथ से दूसरे मुसलमान सुरक्षित हों।     सबसे अच्छी प्रार्थना   ईश्वर से पापों की क्षमा मांगना सबसे अच्छी दुआ हैः पैग़म्बरे इस्लाम       दूसरों के बारे में बुरा सोचने का नुक़सान   दूसरों के बारे में बुरा सोचने वाला सदैव का […]

  • Rate this post

    अतिव्यय का नुक़सान – 2

    Rate this post अतिव्यय से तबाही आती है और मध्यमार्ग से संपत्ति बढ़ती हैः हज़रत अली अलैहिस्सलाम     अतिव्यय का नुक़सान   अतिव्यय या फ़ुज़ूलख़र्ची से अधिक संपत्ति भी बर्बाद हो जाती हैः हज़रत अली अलैहिस्सलाम     पैग़म्बरे इस्लाम की नज़र में मुसलमान कौन है   मुसलमान, मुसलमान का भाई है, उससे बेइमानी […]

  • Rate this post

    अतिव्यय का नुक़सान

    Rate this post अतिव्यय या फ़ुज़ूलख़र्ची से अधिक संपत्ति भी बर्बाद हो जाती हैः हज़रत अली अलैहिस्सलाम     पैग़म्बरे इस्लाम की नज़र में मुसलमान कौन है   मुसलमान, मुसलमान का भाई है, उससे बेइमानी नहीं करता, उससे झूठ नहीं बोलता और उसे अकेला नहीं छोड़ता।     पैग़म्बरे इस्लाम की नज़र में मुसलमान कौन […]

  • Rate this post

    सबसे अच्छी प्रार्थना

    Rate this post ईश्वर से पापों की क्षमा मांगना सबसे अच्छी दुआ हैः पैग़म्बरे इस्लाम       दूसरों के बारे में बुरा सोचने का नुक़सान   दूसरों के बारे में बुरा सोचने वाला सदैव का बीमार हैः हज़रत अली अलैहिस्सलाम       नेमत, ईश्वर की ओर से परीक्षा     इमाम जाफ़रे सादिक़ […]

  • Rate this post

    दूसरों के बारे में बुरा सोचने का नुक़सान

    Rate this post दूसरों के बारे में बुरा सोचने वाला सदैव का बीमार हैः हज़रत अली अलैहिस्सलाम नेमत, ईश्वर की ओर से परीक्षा इमाम जाफ़रे सादिक़ अलैहिस्सलाम फ़रमाते हैः ईश्वर ने एक क़ौम को नेमतें दी तो उन्होंने उसका आभार व्यक्त नहीं किया परिणामस्वरूप वे नेमतें उनके जी का जंजाल बन गयी और एक क़ौम […]

more