islamic-sources

Languages
ALL
E-Books
Articles

date

  1. date
  2. title
  • Rate this post

    एनीमीशन फ़िल्में

    Rate this post दुनिया के हर कोने में बच्चों व किशोरों पर बनने वाली फ़िल्मों के बहुत दर्शक होते हैं और परिवार गुट बनाकर सिनेमाघरों में इस प्रकार की फ़िल्में देखने जाते हैं। भारी बिज़नेस करने वाली बाल फ़िल्में यह दर्शाती हैं कि एनीमीशन और कठपुतली वाली फ़िल्में इस सूची में सबसे ऊपर हैं और […]

  • Rate this post

    काम्बोज़िया परतवी

    Rate this post काम्बोज़िया परतवी का जन्म सन 1955 में उत्तरी ईरान के गीलान प्रांत के रुस्तमाबाद क्षेत्र में हुआ। उन्होंने सिनेमा साहित्य के विषय की शिक्षा प्राप्त की किंतु विश्वविद्यालय की पढ़ाई से वह संतुष्ट नहीं हुए अतः उन्होंने बहुत जल्दी फ़िल्में बनाना आरंभ कर दिया। इस्लामी क्रान्ति की सफलता के बाद के वर्षों […]

  • Rate this post

    बाल सिनेमा

    Rate this post ईरान में बाल सेनेमा का आरंभ ६० के दशक में हुआ किंतु ईरान में इस्लामी क्रांति के बाद, बाल सेनेमा के क्षेत्र में असाधारण रूप से परिवर्तन देखने में आया। बजट, सुविधाओं, सेनेमा हाल तथा बाल सेनेमा के विशेष फिल्मी मेले, फिल्म निर्माण में युवा निर्माताओं की सक्रियता के कारण इस प्रकार […]

  • Rate this post

    टेलीवीजन के मुख्य दर्शक बच्चे होते हैं

    Rate this post विश्व के सिनेमा जगत के इतिहास में युद्ध पर आधारित फ़िल्मों की कहानियों पर दृष्टि डालने से पता चलता है कि इस प्रकार की फ़िल्मों के इतिहास में बहुत अधिक उतार चढ़ाव नहीं है। विषय की दृष्टि से यह फ़िल्में युद्ध और उससे उत्पन्न होने वाली मानवीय त्रासदी की आलोचना करती थीं। […]

  • Rate this post

    सफल निर्माता निर्देशक, दरवीश

    Rate this post विश्व के सिनेमा जगत के इतिहास में युद्ध पर आधारित फ़िल्मों की कहानियों पर दृष्टि डालने से पता चलता है कि इस प्रकार की फ़िल्मों के इतिहास में बहुत अधिक उतार चढ़ाव नहीं है। विषय की दृष्टि से यह फ़िल्में युद्ध और उससे उत्पन्न होने वाली मानवीय त्रासदी की आलोचना करती थीं। […]

  • Rate this post

    सिल्वर स्क्रीन की डायमंड जुबली

    Rate this post हिंदुस्तानी सिनेमा आज पूरे 100 साल का हो गया. लेकिन क्या इसने ठीक से बचपन की दहलीज भी लांघी है? पूजा सिंह की रिपोर्ट.   ‘मेरे ख्याल से यह कहना सही होगा कि हमारे देश के जनमानस पर जितना असर तमाम समाचार पत्र और पुस्तकें मिलकर नहीं डाल पाते, उससे अधिक असर […]

  • Rate this post

    पहली ईरानी फ़िल्म

    Rate this post ईरान में बनने वाली पहली फिल्म आबी व राबी थी जिसे आवान्स ओग्नियांस ने बनाया था। यह मूक फिल्म आबी  व राबी नामक दो जोकरों की कहानी थी जिनमें से एक लंबे क़द और और दूसरा ठिगने कद था। इस फिल्म को वर्ष १९३० में दिखाया गया और इसे काफी पसन्द भी […]

  • Rate this post

    सिनेमा का इतिहास

    Rate this post जहां तक यह प्रश्न है कि सिनेमा कब और कैसे अस्तित्व में आया है तो इसके उत्तर में कहना चाहिए कि सिनेमा, सिनेमाटोग्राफ से निकला है जिसका अर्थ गतिशीलता से गुज़रना है। सिनेमा उन सभी दृश्यों के संग्रह को कहते हैं जो कैमरे द्वारा उतारे जाते हैं और फिर उनमें आवाज़ बढ़ा […]

  • Rate this post

    सिनेमा की लोकप्रियता -1 (1)

    Rate this post यदि हम विश्व में प्रचलित कलाओं को विभिन्न भागों में विभाजित करें तो सिनेमा सातवीं कला कहा जाएगा। चलचित्र की कलाएं विभिन्न कारणों के आधार पर सरलता से समझी जाती हैं और वह चित्रकला, साहित्य तथा संगीत की तुलना में अधिक लोकप्रिय और सामूहिक होती हैं। दूसरी ओर चूंकि सिनेमा एक उद्योग […]

more