islamic-sources

  • ALL
    E-Books
    Articles

    date

    1. date
    2. title
    • आपकी याद आपके जाने के बाद अधिक हो जायेगी
      Rate this post

      आपकी याद आपके जाने के बाद अधिक हो जायेगी

      आपकी याद आपके जाने के बाद अधिक हो जायेगीRate this post हे मोहम्मद आप पर सलाम हो, हे अहमद आप पर सलाम हो, हे ईश्वर के प्रकाश आप पर सलाम हो, सलाम हो आप पर, आपके पवित्र परिवार पर आपके दादा हज़रत अब्दुल मुत्तलिब और आपके पिता हज़रत अब्दुल्लाह पर। सलाम हो आपकी माता हज़रत […]

    • ईश्वर और उसका ज्ञान : 2
      Rate this post

      ईश्वर और उसका ज्ञान : 2

      ईश्वर और उसका ज्ञान : 2Rate this post यह भी हम बता चुके हैं कि साधारण मनुष्य को परलोक के कल्याण के लिए ईश्वरीय ज्ञान की आवश्यता इसलिए होती है क्योंकि उसकी बुद्धि की सीमा होती है इसीलिए वह ईश्वरीय संदेशों को अपनी बुद्धि पर भी परख नहीं सकता तो फिर आम मनुष्य को यह […]

    • इब्ने तेमिया की नाकामी की दलीलें
      Rate this post

      इब्ने तेमिया की नाकामी की दलीलें

      इब्ने तेमिया की नाकामी की दलीलेंRate this post जैसा कि आलिम हज़रात जानते हैं वहाबी मज़हब का पैशवा और रेहबर जैसा कि उसने ख़ुद इस बात को क़बूल किया है “इब्ने तेमिया” के साथ ही उठता बैठता था इब्ने तेमिया भी शिर्क, तौहीद, शिफ़ाअत और इस जैसी तमाम बातों में यही नज़रया रखता था लेकिन […]

    • मआद (क़ियामत) के बग़ैर ज़िन्दगी बेमफ़हूम है
      Rate this post

      मआद (क़ियामत) के बग़ैर ज़िन्दगी बेमफ़हूम है

      मआद (क़ियामत) के बग़ैर ज़िन्दगी बेमफ़हूम हैRate this post हमारा अक़ीदह है कि मरने के बाद एक दिन तमाम इंसान ज़िन्दा होगें और आमाल के हिसाब किताब के बाद नेक लोगों को जन्नत में व गुनाहगारों को दोज़ख़ में भेज दिया जायेगा और वह हमेशा वहीँ पर रहे गें। “अल्लाहु ला इलाहा इल्ला हुवा लयजमअन्नाकुम इला यौमिल क़ियामति ला […]

    • पवित्र रमज़ान-14
      Rate this post

      पवित्र रमज़ान-14

      पवित्र रमज़ान-14Rate this post सर्वसमर्थ व महान ईश्वर कहता है कि मेरे बंदों के लिए सर्वोत्तम उपासना यह है कि वे मेरी दया, कृपा और भलाई की आशा लगाये रहें और मेरे बारे में अच्छा विचार रखें। इस स्थिति में हमारी कृपा व दया उनकी समस्त मांगों की पूर्ति करेगी। उसके पश्चात मेरी क्षमा से […]

    • पवित्र रमज़ान-10
      Rate this post

      पवित्र रमज़ान-10

      पवित्र रमज़ान-10Rate this post रोज़े के लिए इस्लामी शिक्षाओं में आया है कि अल्लाह ने कहा है कि मेरे दास हर उपासना अपने लिए भी करते हैं किंतु रोज़ा केवल मेरे लिए होता है और मैं ही उस का इनाम दूंगा।   वास्तव में अगर देखा जाए तो रोज़े के दो इनाम होते हैं एक […]

    • वहाबियत, वास्तविकता और इतिहास-9
      Rate this post

      वहाबियत, वास्तविकता और इतिहास-9

      वहाबियत, वास्तविकता और इतिहास-9Rate this post  इस्लाम धर्म में शिफ़ाअत ईश्वर की ओर से मनुष्यों पर एक विभूती बतायी गयी है। जिन लोगों ने उपासना के बंधन को नहीं तोड़ा है और अनेकेश्वरवाद का शिकार नहीं हुए हैं, ईश्वर के निकटवर्ती बंदों की शिफ़ाअत उनके लिए आशा की किरण है जो निराशा को उनके दिलों […]

    • सिफ़ाते मोमिन (7)
      Rate this post

      सिफ़ाते मोमिन (7)

      सिफ़ाते मोमिन (7)Rate this post कुछ अहादीस के मुताबिक़ 25 ज़ीक़ादह रोज़े “ दहुल अर्ज़ ” और इमाम रिज़ा अलैहिस्सलाम के मदीने से तूस की तरफ़ सफ़र की तारीख़ है। “दह्व”के माअना फैलाने के हैं। कुरआन की आयत “ व अलअर्ज़ा बअदा ज़ालिका दहाहा ”[1]  इसी क़बील से है। ज़मीन के फैलाव से क्या मुराद […]

    • ईश्वरीय आतिथ्य-11 बंद दरवाज़ों की चाभियां
      Rate this post

      ईश्वरीय आतिथ्य-11 बंद दरवाज़ों की चाभियां

      ईश्वरीय आतिथ्य-11 बंद दरवाज़ों की चाभियांRate this post क़ुरआन पढ़ने और प्रार्थना करने का संबन्ध रमज़ान के पवित्र महीने में किये जाने वाले महत्वपूर्ण कार्यों में है।  प्रत्येक व्यक्ति को चाहिए कि वह अपने समय के अनुरूप इस प्रशंसनीय कार्य को करता रहे और इससे निश्चेत न रहे।  इस संदर्भ में ईरान के एक वरिष्ठ […]

    • सबका पालनहार एक है : 2
      Rate this post

      सबका पालनहार एक है : 2

      सबका पालनहार एक है : 2Rate this post इसी प्रकार देखे और महसूस किये जाने योग्य ईश्वर में मनुष्य की रूचि भी इस बात का कारण बनी कि लोग विभिन्न प्रकार की देखी और महसूस की जाने वाली वस्तुओं को ईश्वर के समान मानें और उनकी पूजा करें और फिर यह चलन इतना व्यापक हुआ […]

    • सच्चा व्यक्ति और पश्चाताप करने वाला चोर
      Rate this post

      सच्चा व्यक्ति और पश्चाताप करने वाला चोर

      सच्चा व्यक्ति और पश्चाताप करने वाला चोरRate this post पुस्तक का नामः पश्चाताप दया की आलंग्न लेखकः आयतुल्ला हुसैन अंसारियान   सज्जन पुरूष अबू उमर ज़जाजी कहते हैः मेरी माता का स्वर्गवास हो गया उनकी वीरासत से मुझे एक घर प्राप्त हुआ, मै उस घर को बेचकर हज के लिए चल पड़ा, जिस समय मै […]

    • अमर ज्योति-8
      Rate this post

      अमर ज्योति-8

      अमर ज्योति-8Rate this post क़ुरआने मजीद ऐसी आसमानी किताब है जो तर्कशक्ति और मानवता की रक्षा के लिए पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहो अलैहे व आलेही व सल्लम के हृदय पर उतारी गई है और जिसने मानवता को इस्लाम धर्म का उपहार दिया है। इतिहासकारों का मानना है कि क़ुरआन, ईश्वर की ओर भेजी गई […]

    • रमज़ानुल मुबारक – 2013 – (9)
      Rate this post

      रमज़ानुल मुबारक – 2013 – (9)

      रमज़ानुल मुबारक – 2013 – (9)Rate this post हज़रत इमाम ज़ैनुल आबेदीन अलैहिस्सलाम ईश्वर से दुआ करते हुए कहते हैः हे ईश्वरः निकटवर्तियों की शत्रुता को मित्रता में और उनके अलगाव को भलाई और मिलाप में बदल दे। जैसाकि आप जानते हैं कि अधिकाशं लोग अपनी आंतरिक मित्रता और शत्रुता जैसी आंतरिक भावना को विभिन्न […]

    • यज़ीद रियाही के पुत्र हुर की पश्चाताप 2
      Rate this post

      यज़ीद रियाही के पुत्र हुर की पश्चाताप 2

      यज़ीद रियाही के पुत्र हुर की पश्चाताप 2Rate this post पुस्तक का नामः पश्चाताप दया की आलंग्न लेखकः आयतुल्ला हुसैन अंसारीयान   इसके पहले वाले लेख मे बताया था कि हुर किसी का अंधा अनुकरण नही करता था इस लेख मे आप इस बात का अध्ययन करेंगे कि हुर ने आदेशपत्र लेने के बाद क्या […]

    • अस्रे हाज़िर का जवान और आईडियल
      Rate this post

      अस्रे हाज़िर का जवान और आईडियल

      अस्रे हाज़िर का जवान और आईडियलRate this post आज के तरक़्क़ी याफ़ता दौर में हर नौ जवान को अपने आईडियल की तलाश है। कोई किसी फ़नकार में अपना आईडियल तलाश करता है तो कोई हिदायत कार में अपना आईडियल तलाश करने की कोशिश करता है और फिर उसी के तर्ज़ पर अपनी ज़िन्दगी गुज़ारने की कोशिश करता […]

    •  वो नूरानी बादल कैसे होंगे ?
      वो नूरानी बादल कैसे होंगे ?
      Rate this post

      वो नूरानी बादल कैसे होंगे ?

      वो नूरानी बादल कैसे होंगे ?Rate this post जवाबः ये बादल ख़ुदा की क़ुदरत और निशानियों में से एक हैं जिनके बारे में हम भी नहीं जानते कि कैसे होंगे, वो एक राज़ है जिसको ख़ुदा जानता है और अहलेबैत अलैहेमुस्सलाम, हम बस इतना जानते हैं की उनको ख़ुदा ने पैदा किया है और उनकी […]

    • पवित्र रमज़ान-7
      Rate this post

      पवित्र रमज़ान-7

      पवित्र रमज़ान-7Rate this post आज हम दुआ अर्थात प्रार्थना के विषय पर चर्चा करेंगे।सर्वसमर्थ एवं महान ईश्वर ने दुआ का आदेश देते हुए कहा है कि जो लोग दुआ करने से मुंह मोड़ेंगे उन्हें मैं निकट ही नरक में डाल दूंगा। इससे यह पता चलता है कि दुआ एक ऐसी चीज़ है जिसे ईश्वर बहुत […]

    • दस मोहर्रम के सायंकाल को दो भाईयो की पश्चाताप 7
      Rate this post

      दस मोहर्रम के सायंकाल को दो भाईयो की पश्चाताप 7

      दस मोहर्रम के सायंकाल को दो भाईयो की पश्चाताप 7Rate this post पुस्तक का नामः पश्चाताप दया की आलंग्न लेखकः आयतुल्ला हुसैन अंसारीयान   जी हा, हे इस्लाम के प्रचारको ! तुम से इस आशा की किरन को कही कोई छीन ना ले, विभिन्न स्थानो पर सामने आने वाली समस्याओ से निराश ना होना, तुम्हारे हालात हज़रत मुहम्मद […]

    • पवित्र रमज़ान-22
      Rate this post

      पवित्र रमज़ान-22

      पवित्र रमज़ान-22Rate this post पवित्र रमज़ान-22 रमज़ान के पवित्र महीने में यह ऐसा समय है जब दयालु व तत्वदर्शी ईश्वर की दया व कृपा ने हर समय से अधिक उसके बंदों को अपना पात्र बना रखा है। रमज़ान के पवित्र महीने के इन दिनों के शबे क़द्र होने की अधिक संभावना है। शबे क़द्र वह […]

    • सृष्टि ईश्वर और धर्म- 43 ईश्वरीय दूत और आधुनिक प्रगति
      Rate this post

      सृष्टि ईश्वर और धर्म- 43 ईश्वरीय दूत और आधुनिक प्रगति

      सृष्टि ईश्वर और धर्म- 43 ईश्वरीय दूत और आधुनिक प्रगतिRate this post पिछले कार्यक्रम में हमने एक शंका का उल्लेख किया था कि कोई यह कह सकता है कि यदि ईश्वरीय दूत मानव समाज के कल्याण के लिए आए थे तो फिर उन्होंने क्यों नहीं मानव समाज के सामने ज्ञान पर पड़े सारे पर्दे हटा […]

    more