islamic-sources

  • ALL
    E-Books
    Articles

    date

    1. date
    2. title
    • सृष्टि ईश्वर और धर्म 39-मृत्यु और न्याय
      Rate this post

      सृष्टि ईश्वर और धर्म 39-मृत्यु और न्याय

      सृष्टि ईश्वर और धर्म 39-मृत्यु और न्यायRate this post ईश्वर के न्याय और उसकी सूझबूझ व उसके तत्वज्ञान पर आपत्ति करने वाले कुछ लोगों का यह कहना है कि यदि ईश्वर के तत्वज्ञान व सूझबूझ के अनुसार इस धरती पर मनुष्य का जीवन ईश्वर का उद्देश्य है तो फिर वह मनुष्य को मृत्यु क्यों देता […]

    • सृष्टि ईश्वर और धर्म- 63
      Rate this post

      सृष्टि ईश्वर और धर्म- 63

      सृष्टि ईश्वर और धर्म- 63Rate this post इस्लामी इतिहास का ज्ञान रखने वालों को पता है कि इस ग्रंथ की सुरक्षा के बारे में ईश्वरीय मार्गदर्शकों और शासकों तथा मुसलमानों में अत्याधिक संवेदनशीलता पाई जाती है इसी लिए वे बड़ी सरलता से इस बात पर विश्वास कर लेगा कि कुरआन में कुछ बढ़ाया या घटाया […]

    • सृष्टि ईश्वर और धर्म ५८
      Rate this post

      सृष्टि ईश्वर और धर्म ५८

      सृष्टि ईश्वर और धर्म ५८Rate this post समाज के लोग विभिन्न कारणों से ईश्वरीय दूतों और उनके संदेशों का विरोध करते थे जिनमें मुख्य रूप से अंधविश्वास,अज्ञानता, प्रभाव बनाये रखने के प्रयास, अंहकार तथा मनुष्य में निरंकुशता से प्रति लगाव का वर्णन किया जा सकता है। ईश्वरीय दूतों के विरोध की विभिन्न शैलियां रही हैं। […]

    • सृष्टि ईश्वर और धर्म 71
      Rate this post

      सृष्टि ईश्वर और धर्म 71

      सृष्टि ईश्वर और धर्म 71Rate this post हमने अपनी चर्चा के आरंभ में बताया था कि क़यामत पर विश्वास और हर मनुष्य का क़यामत व प्रलय के दिन जीवित होना, समस्त ईश्वरीय धर्मों में एक महत्वपूर्ण विश्वास रहा है और ईश्वरीय दूतों ने इस विश्वास व विचार पर अत्याधिक बल दिया है तथा इस विचार […]

    • पवित्र रमज़ान-13
      Rate this post

      पवित्र रमज़ान-13

      पवित्र रमज़ान-13Rate this post रमज़ान का पवित्र महीना बस बीतने वाला है, ईश्वर ने रमज़ान को अपने दासों के लिए आतिथ्य का विशेष अवसर कहा है। इसी रमज़ान के महीने में कुछ रातें अत्याधिक महत्व रखती हैं जिन्हें शबे क़द्र अर्थात, क़द्र की रातें कहा जाता है। क़द्र की रात या शबे क़द्र का महत्व […]

    • सृष्टि ईश्वर और धर्म़-19 ईश्वर के तुलनात्मक गुण
      Rate this post

      सृष्टि ईश्वर और धर्म़-19 ईश्वर के तुलनात्मक गुण

      सृष्टि ईश्वर और धर्म़-19 ईश्वर के तुलनात्मक गुणRate this post इससे पहले की चर्चाओं में हम यह बता चुके हैं कि ईश्वर के गुण दो प्रकार के होते हैं एक व्यक्तिगत और दूसरे तुलनात्मक। व्यक्तिगत गुणों पर चर्चा हो चुकी और अब बारी है तुलनात्मक गुणों की। तुलनात्मक गुण, उन गुणों को कहते हैं जो […]

    • रमज़ानुल मुबारक – 2013 – (5)
      Rate this post

      रमज़ानुल मुबारक – 2013 – (5)

      रमज़ानुल मुबारक – 2013 – (5)Rate this post  इमाम ज़ैनुल आबेदीन अलैहिस्सलाम की दुआ मकारेमुल अखलाक़ के एक भाग में कहा गया है कि हे ईश्वर! मोहम्मद और उनके वंश पर सलाम भेज और मुझे उन कामों से बचा जो मुझे पूर्ण रूप से स्वंय में व्यस्त कर लेते हैं और मुझे उन कामों में […]

    • सृष्टि, ईश्वर और धर्म-1 सृष्टिकर्ता अनिवार्य है।
      Rate this post

      सृष्टि, ईश्वर और धर्म-1 सृष्टिकर्ता अनिवार्य है।

      सृष्टि, ईश्वर और धर्म-1 सृष्टिकर्ता अनिवार्य है।Rate this post प्राचीन काल से ही मनुष्य के मन में यह प्रश्न उठता रहा है कि सृष्टि का आरंभ कब हुआ, कैसे हुआ, क्या यह संभव है कि मनुष्य कभी यह समझ सके कि चाँद, सितारे, आकाशगंगाएं, पुच्छलतारे, पृथ्वी, पर्वत, उसकी ऊँची ऊँची चोटियाँ, जंगल, कीड़े-मकोड़े, पशु, पक्षी, […]

    • सृष्टि ईश्वर और धर् 32- धर्म और भाग्य
      Rate this post

      सृष्टि ईश्वर और धर् 32- धर्म और भाग्य

      सृष्टि ईश्वर और धर् 32- धर्म और भाग्यRate this post मनुष्य का भाग्य या क़िस्मत उन विषयों में से है जिनका सही चित्र बहुत कम लोगों के मन में होगा। भाग्य के बारे में बहुत से प्रश्न उठते हैं। सब से पहले तो यह कि भाग्य है क्या? भाग्य के बारे में यदि आम लोगों […]

    • पवित्र रमज़ान-३
      Rate this post

      पवित्र रमज़ान-३

      पवित्र रमज़ान-३Rate this post रमज़ान के इस पवित्र महीने में आइए हम क़ुरआन के सूरे हम्द की छठी और सूरए बक़रह की आयत संख्या २८६ के शब्दों में ईश्वर से दुआ करें-हे ईश्वर सीधे मार्ग पर हमारा मार्गदर्शन कर।हे पालनहार, यदि हम भूल गए हैं या हमने ग़लत क़दम उठाए हैं तो हमसे पूछताछ न […]

    • पवित्र रमज़ान-8
      Rate this post

      पवित्र रमज़ान-8

      पवित्र रमज़ान-8Rate this post मनुष्य को बनाने वाले ईश्वर ने उसको जो भी आदेश दिये हैं वे निश्चित रूप से मनुष्य के ही हित में होते हैं चाहे विदित रूप से उसमें हमें अपना कोई नुक़सान नज़र आए। रमज़ान के रोज़े संभव है कि कुछ लोगों के लिए कष्टदायक हों किंतु अब यह स्पष्ट हो […]

    • ईश्वरीय आतिथ्य-8 क़ारून का ख़ज़ाना
      Rate this post

      ईश्वरीय आतिथ्य-8 क़ारून का ख़ज़ाना

      ईश्वरीय आतिथ्य-8 क़ारून का ख़ज़ानाRate this post आज-कल पवित्र रमज़ान के प्रकाशमय वातावरण में बीत रहा है। ये वे दिन हैं जिनमें ईश्वर वर्ष के दूसरे महीनों की तुलना में अपने बंदों पर अपनी असीम कृपा की वर्षा करता है। अपने मन व आत्मा को पवित्र रमज़ान की इस दुआ से शांति प्रदान करते हैः […]

    • पवित्र रमज़ान-३
      Rate this post

      पवित्र रमज़ान-३

      पवित्र रमज़ान-३Rate this post रमज़ान के इस पवित्र महीने में आइए हम क़ुरआन के सूरे हम्द की छठी और सूरए बक़रह की आयत संख्या २८६ के शब्दों में ईश्वर से दुआ करें-हे ईश्वर सीधे मार्ग पर हमारा मार्गदर्शन कर।हे पालनहार,यदि हम भूल गए हैं या हमने ग़लत क़दम उठाए हैं तो हमसे पूछताछ न कर। हमारे लिए भारी […]

    • नन्हे – मुन्ने शिशुओं की समस्याऐं
      Rate this post

      नन्हे – मुन्ने शिशुओं की समस्याऐं

      नन्हे – मुन्ने शिशुओं की समस्याऐंRate this post आप का शिशु जब जन्म लेता है तो उसका मस्तिष्क सीखने के लिए तैयार होता है। जब वो आंखें खोलता है, उसकी बुद्धि अपने चारों ओर की चीज़ों को समझने के लिए तैयार हो जाती है। अब आप यह देखें कि इसमें आप उसकी किस प्रकार सहायता […]

    • सृष्टि ईश्वर और धर्म 76
      Rate this post

      सृष्टि ईश्वर और धर्म 76

      सृष्टि ईश्वर और धर्म 76Rate this post बुद्धि तथा अन्य मार्गों से परलोक के बारे में हमें जो जानकारियां प्राप्त हुई हैं उनके आधार पर हम लोक व परलोक की कई आयामों से एक दूसरे से तुलना कर सकते हैं यद्यपि दोनों के मध्य बहुत अधिक अंतर है। इस संसार और परलोक के मध्य सब […]

    • ईश्वरीय आतिथ्य-2
      Rate this post

      ईश्वरीय आतिथ्य-2

      ईश्वरीय आतिथ्य-2Rate this post पैग़म्बरे इस्लाम कहते हैं कि रमज़ान के महीने में तुम्हारा सांस लेना तसबीह अर्थात ईश्वर का जाप ह और इसमें तुम्हारी नींद उपासना है।  इस महीने में तुम्हारे कार्य ईश्वर के निकट स्वीकार्य हैं और तुम्हारी प्रार्थनाएं भी स्वीकार्य हैं।  बस तुम सदभावना और पवित्र मन से अपनी बातों को ईश्वर […]

    • रमज़ानुल मुबारक – 2013 – (13)
      Rate this post

      रमज़ानुल मुबारक – 2013 – (13)

      रमज़ानुल मुबारक – 2013 – (13)Rate this post मनुष्य की शारीरिक प्रणाली में नींद भी उतनी ही महत्वपूर्ण है जितना खाना-पीना। सोने की स्थिति में शरीर को विश्राम का समय मिल जाता है। भौतिक रूप से ऊर्जा ख़र्च नहीं होती इस लिये भीतरी टूट फूट को सुधारने और पुनर्निमाण का काम भलीभान्ति होने लगता है। […]

    • रमज़ानुल मुबारक – 2013 – (4)
      Rate this post

      रमज़ानुल मुबारक – 2013 – (4)

      रमज़ानुल मुबारक – 2013 – (4)Rate this post इमाम ज़ैनुलआबेदीन की प्रसिद्ध दुआ मकारेमुलअखलाक़ के एक भाग में कहा गया हैः हे ईश्वर अपनी कृपा से मेरी नीयत को सम्पूर्ण कर दे और अपने ऊपर मेरे विश्वास को सही करदे और मेरी भीतर जो खराबियां हैं उन्हें अपनी शक्ति से ठीक कर दे। नीयत के […]

    • सृष्टि ईश्वर और धर्म-21 ईश्वर का इरादा
      Rate this post

      सृष्टि ईश्वर और धर्म-21 ईश्वर का इरादा

      सृष्टि ईश्वर और धर्म-21 ईश्वर का इरादाRate this post सृष्टि ईश्वर और धर्म-21 ईश्वर का इरादाईश्वर का एक महत्वपूर्ण गुण ईश्वर होना है। ईश्वर की ईश्वरीयता के बारे बहुत कुछ कहा जा चुका है और बहुत कुछ कहा जा सकता है किंतु यहां पर हम यही स्पष्ट करना चाहेंगे कि अरबी भाषा में इलाह का […]

    • ईश्वरीय आतिथ्य-11 बंद दरवाज़ों की चाभियां
      Rate this post

      ईश्वरीय आतिथ्य-11 बंद दरवाज़ों की चाभियां

      ईश्वरीय आतिथ्य-11 बंद दरवाज़ों की चाभियांRate this post क़ुरआन पढ़ने और प्रार्थना करने का संबन्ध रमज़ान के पवित्र महीने में किये जाने वाले महत्वपूर्ण कार्यों में है।  प्रत्येक व्यक्ति को चाहिए कि वह अपने समय के अनुरूप इस प्रशंसनीय कार्य को करता रहे और इससे निश्चेत न रहे।  इस संदर्भ में ईरान के एक वरिष्ठ […]

    more