islamic-sources

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-12

    Rate this post रमज़ान के अनुकंपाओं और प्रकाश से भरे हुए दिनों में हम ईश्वरीय दरबार में गिड़गिडा के दुआ करते हैं कि हम सभी को इस ईश्वरीय मेहमानी के महीने में अधिक से अधिक ईश्वर की उपासना और ईश्वरीय गुणगान की कृपा प्रदान कर। मित्रो आपकी उपासनाओं व नमाज़ रोज़ों के स्वीकार होने की […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-11

    Rate this post ईश्वर की प्रसन्नता के लिये रोज़ा रखने वालों पर हमारा सलाम हो। हमें आशा है कि हमारे श्रोता इस शुभ महीने में आत्म निर्माण एवं आध्यात्मिक गुणों की प्राप्ति में पहले से अधिक प्रयास कर रहे होंगे।इस कार्यक्रम के आरम्भ में हम आपको पवित्र क़ुरआन में वर्णित उस दुआ से परिचित करवा […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-10

    Rate this post रोज़े के लिए इस्लामी शिक्षाओं में आया है कि अल्लाह ने कहा है कि मेरे दास हर उपासना अपने लिए भी करते हैं किंतु रोज़ा केवल मेरे लिए होता है और मैं ही उस का इनाम दूंगा।   वास्तव में अगर देखा जाए तो रोज़े के दो इनाम होते हैं एक इनाम […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-9

    Rate this post पैग़म्बरे इस्लाम ने एक कथन में युवाओंसे सिफ़ारिश की है कि वे अपनी इच्छाओं पर नियंत्रण के लिए विवाह करे और अगर यह संभव न हो तो रोज़ा रखें।प्रोफ़ेसर डाक्टर मीर बाक़री रोज़े के संबंध में पूछे गये एक प्रश्न के उत्तर में सबसे पहले मनुष्य की अध्यात्मिक आवश्यकता पर बल देते […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-8

    Rate this post मनुष्य को बनाने वाले ईश्वर ने उसको जो भी आदेश दिये हैं वे निश्चित रूप से मनुष्य के ही हित में होते हैं चाहे विदित रूप से उसमें हमें अपना कोई नुक़सान नज़र आए। रमज़ान के रोज़े संभव है कि कुछ लोगों के लिए कष्टदायक हों किंतु अब यह स्पष्ट हो चुका […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-7

    Rate this post आज हम दुआ अर्थात प्रार्थना के विषय पर चर्चा करेंगे।सर्वसमर्थ एवं महान ईश्वर ने दुआ का आदेश देते हुए कहा है कि जो लोग दुआ करने से मुंह मोड़ेंगे उन्हें मैं निकट ही नरक में डाल दूंगा। इससे यह पता चलता है कि दुआ एक ऐसी चीज़ है जिसे ईश्वर बहुत पसंद […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-6

    Rate this post आज की चर्चा में हम आपको ईश्वरीय संदेशों के अन्य आयामों से परिचित करवाएंगे। पवित्र क़ुरआन, ईश्वर पर ईमान रखने वालों को यह शुभ सूचना देता है कि उसने तुम लोगों पर रोज़ा अनिवार्य किया ताकि उसके द्वारा तुम लोग, पवित्रता तक पहुंच सको क्योंकि वास्तव में यदि देखा जाए तो रोज़े […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-५

    Rate this post पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहे व आलेही व सल्लम ने कहा है शैतान मनुष्य के शरीर में रक्त की भॉति दौड़ता है तो उस के मार्ग को भूख द्वारा संकरा करो।शैतान अर्थात मनुष्य को बुराई की ओर ले जाने वाला अस्तित्व शैतान का कोई एक रुप नही होता। शैतान अर्थात बहकाने वाला तो […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-४

    Rate this post पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहो अलैहे व आलेही व सल्लम के पौत्र हज़रत इमाम जाफ़र सादिक़ अलैहिस्सलाम का कथन है कि जब कभी कोई अनाथ रोता है तो आकाश हिल जाता है और ईश्वर कहता है कि किसने मेरे दास और माता पिता को खो देने वाले बच्चे को रुलाया है? मुझे […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-३

    Rate this post रमज़ान के इस पवित्र महीने में आइए हम क़ुरआन के सूरे हम्द की छठी और सूरए बक़रह की आयत संख्या २८६ के शब्दों में ईश्वर से दुआ करें-हे ईश्वर सीधे मार्ग पर हमारा मार्गदर्शन कर।हे पालनहार, यदि हम भूल गए हैं या हमने ग़लत क़दम उठाए हैं तो हमसे पूछताछ न कर। […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-२

    Rate this post रोज़े के बहुत अधिक शारीरिक और आध्यात्मिक लाभ हैं। इस्लाम के महापुरूषों ने रोज़े को शरीर को स्वास्थ्य प्रदान करने वाला, आत्मा को सुदृढ़ करने वाला, पाश्विक प्रवृत्ति को नियंत्रित करने वाला, आत्म शुद्धि करने वाला और बेरंग जीवन में परिवर्तन लाने वाला मानते हैं जो सामाजिक स्वास्थ्य की भूमिका प्रशस्तकर्ता है। […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-१

    Rate this post पवित्र रमज़ान का महीना, ईश्वर के बनाए हुए महीनों में सर्वोत्तम है। पवित्र क़ुरआन इसी महीने में उतरा है। धार्मिक कथनों में आया है कि आकाश और स्वर्ग के द्वार इस महीने में खोल दिये जाते हैं जबकि नरक के द्वार बंद हो जाते हैं। क़ुरआने मजीद की आयतों में आया है […]

  • Rate this post

    रोज़ा और रमज़ान का मुबारक महीना

    Rate this post क़ुरआने मजीद के सूरए बक़रह की आयत नंबर १८३ में कहा गया हैः हे ईमान लाने वालो, रोज़ा तुम पर वाजिब कर दिया गया है जैसाकि तुम से पहले वालों के लिए अनिवार्य किया गया था ताकि तुम पापों से बचने वाले बन जाओ। यह आयत, क़ुरआने मजीद की उन महत्वपूर्ण आयतों […]

  • Rate this post

    रोज़े के स्टेप

    Rate this post ’’یَا أَیُّهَا الَّذِینَ آمَنُوا كُتِبَ عَلَیكُمُ الصِّیَامُ كَمَا كُتِبَ عَلَى الَّذَینَ مِن قَبلِكُم‘‘ इस आयत में यह कहा गया है कि अल्लाह नें ईमान वालों पर रोज़ा वाजिब किया है जिस तरह इस्लाम से पहले वाली क़ौमों पर वाजिब किया गया था। जब से इन्सान है और जब तक इन्सान रहेगा बहुत […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-५

    Rate this post पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहे व आलेही व सल्लम ने कहा है शैतान मनुष्य के शरीर में रक्त की भॉति दौड़ता है तो उस के मार्ग को भूख द्वारा संकरा करो।शैतान अर्थात मनुष्य को बुराई की ओर ले जाने वाला अस्तित्व शैतान का कोई एक रुप नही होता। शैतान अर्थात बहकाने वाला तो फिर हमारे आस […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-४

    Rate this post पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मुहम्मद सल्लल्लाहो अलैहे व आलेही व सल्लम के पौत्र हज़रत इमाम जाफ़र सादिक़ अलैहिस्सलाम का कथन है कि जब कभी कोई अनाथ रोता है तो आकाश हिल जाता है और ईश्वर कहता है कि किसने मेरे दास और माता पिता को खो देने वाले बच्चे को रुलाया है? मुझे अपने सम्मान और तेज […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-३

    Rate this post रमज़ान के इस पवित्र महीने में आइए हम क़ुरआन के सूरे हम्द की छठी और सूरए बक़रह की आयत संख्या २८६ के शब्दों में ईश्वर से दुआ करें-हे ईश्वर सीधे मार्ग पर हमारा मार्गदर्शन कर।हे पालनहार,यदि हम भूल गए हैं या हमने ग़लत क़दम उठाए हैं तो हमसे पूछताछ न कर। हमारे लिए भारी कर्तव्य […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-२

    Rate this post रोज़े के बहुत अधिक शारीरिक और आध्यात्मिक लाभ हैं। इस्लाम के महापुरूषों ने रोज़े को शरीर को स्वास्थ्य प्रदान करने वाला, आत्मा को सुदृढ़ करने वाला, पाश्विक प्रवृत्ति को नियंत्रित करने वाला,आत्म शुद्धि करने वाला और बेरंग जीवन में परिवर्तन लाने वाला मानते हैं जो सामाजिक स्वास्थ्य की भूमिका प्रशस्तकर्ता है। रोज़े के उपचारिक लाभ, जिनकी गणना उसके शारीरिक तथा भौतिक लाभों […]

  • Rate this post

    पवित्र रमज़ान-१

    Rate this post पवित्र रमज़ान का महीना, ईश्वर के बनाए हुए महीनों में सर्वोत्तम है। पवित्र क़ुरआन इसी महीने में उतरा है। धार्मिक कथनों में आया है कि आकाश और स्वर्ग के द्वार इस महीने में खोल दिये जाते हैं जबकि नरक के द्वार बंद हो जाते हैं। क़ुरआने मजीद की आयतों में आया है कि रमज़ान महीने की रातोंमें एक […]

  • Rate this post

    आपकी याद आपके जाने के बाद अधिक हो जायेगी

    Rate this post हे मोहम्मद आप पर सलाम हो, हे अहमद आप पर सलाम हो, हे ईश्वर के प्रकाश आप पर सलाम हो, सलाम हो आप पर, आपके पवित्र परिवार पर आपके दादा हज़रत अब्दुल मुत्तलिब और आपके पिता हज़रत अब्दुल्लाह पर। सलाम हो आपकी माता हज़रत आमिना बिन्ते वहब पर। हे पैग़म्बरे इस्लाम हम […]

  • पेज4 से 9« आखिरी...23456...पहला »