islamic-sources

  • ALL
    E-Books
    Articles

    date

    1. date
    2. title
    •  नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा-27
      नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा-27
      3 (60%) 7 votes

      नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा-27

      नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा-273 (60%) 7 votes नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा-27 जिहाद जन्नत के दरवाज़ों में से एक दरवाज़ा है। जिसे अल्लाह ने अपने खास बन्दों (दोस्तों) के लिये खोला है। यह पर्हेज़गारी का लिबास अल्लाह की मोह्कम ज़िरह और मज़बूत सिपर (ढ़ाल) है। जो उस से पहलू बचाते हुए उसे छोड़ देता है, ख़ुदा […]

    • सलाद पत्ता खाने का लाभ
      Rate this post

      सलाद पत्ता खाने का लाभ

      सलाद पत्ता खाने का लाभRate this post सलाद पत्ता खाओ कि इससे नींद आती है और खाना हज़्म होता हैः पैग़म्बरे इस्लाम गोश्त खाने और न खाने की अहमियत जो इंसान चालीस दिन गोश्त न खाए वह चिड़चिड़े व्यवहार का हो जाता है और जो इंसान चालीस दिन लगातार गोश्त खाए वह कठोर दिल का […]

    • हदीसे ग़दीर की दलील
      Rate this post

      हदीसे ग़दीर की दलील

      हदीसे ग़दीर की दलीलRate this post दूसरी दलील हज़रत अमीर अलैहिस्सलाम ने जो अशआर माविया को लिखे उनमें हदीसे ग़दीर के बारे में यह कहा कि व औजबा ली विलायतहु अलैकुम। रसूलुल्लाहि यौमः ग़दीरि खुम्मिन।। [21] यानी अल्लाह के पैगम्बर स. ने मेरी विलायत को तुम्हारे ऊपर ग़दीर के दिन वाजिब किया है। इमाम से […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 15
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 15
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 15

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 15Rate this post हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने अपनी ख़िलाफ़त के काल में हर प्रकार की निर्धनता को दूर करने के लिए अथक कोशिश की। जिस समय हज़रत अली अलैहिस्सलाम ख़लीफ़ा बने तो हज़रत उस्मान के शासन काल में उमय्या के वंश से विशेष वर्ग के पास धन-संपत्ति […]

    • सत्ता के बारे में हज़रत अली का दृष्टिकोण
      Rate this post

      सत्ता के बारे में हज़रत अली का दृष्टिकोण

      सत्ता के बारे में हज़रत अली का दृष्टिकोणRate this post इस्लाम के उदय के आरंभ के कुछ दशकों और उस काल की उतार-चढ़ाव भरी घटनाओं पर दृष्टि, हज़रत अली अलैहिस्सलाम जैसे महान व्यक्ति की प्रभावी भूमिका स्पष्ट करती है। हज़रत अली अलैहिस्सलाम बचपन में इस्लाम की प्रकाशमई शिक्षाओं से अवगत हुए और पैग़म्बरे इस्लाम सल्ल्ल्लाहो […]

    •  लोगों के सम्मान को बचाना
      लोगों के सम्मान को बचाना
      Rate this post

      लोगों के सम्मान को बचाना

      लोगों के सम्मान को बचानाRate this post जो लोगों के सम्मान को बचाता है अल्लाह तआला क़यामत के दिन उसकी ग़लतियों को क्षमा कर देगा। और जो लोगों से अपने ग़ुस्से पर कंट्रोल कर लेगा तो क़यामत में अल्लाह उससे अपने ग़जब (ग़ुस्सा) को ख़त्म कर देगा «مَنْ کَفَّ نَفْسَهُ عَنْ أَعْراضِ النّاسِ أَقالَهُ اللّهُ […]

    •  नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा – 20
      नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा – 20
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा – 20

      नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा – 20Rate this post नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा – 20 ”जिन चीज़ों को तुम्हारे मरने वालों ने देखा है, अगर तुम भी उसे देख लेते तो घबरा जाते और सरासीमा व मुज़तरिब हो जाते और (हक़ की बात) सुनते और उस पर अमल करते। लेकिन जो उन्हों ने देखा है वह […]

    • नहजुल बलागा
      Rate this post

      नहजुल बलागा

      नहजुल बलागाRate this post नहजुल बलागा =अमीरुल मोमिनीन अली अलैहिस्सलाम के संकलित आदेश एवं उपदेश नहजुल बलागा =अमीरुल मोमिनीन अली अलैहिस्सलाम के संकलित आदेश एवं उपदेश 01 इस ध्याय में प्रश्नों के उत्तर और छोटे छोटे दार्शनिक वाक्यों का संकलन अंकित है जो विभिन्न लक्ष्यों एवं उद्देश्यों के संबन्ध में वर्णन किये गए हैं। 1. […]

    •  ख़ुत्बा – 14
      ख़ुत्बा – 14
      Rate this post

      ख़ुत्बा – 14

      ख़ुत्बा – 14Rate this post [ यह भी अहले बसरा की (निन्दा) में है ] तुम्हारी ज़मीन (समुन्दर के) पानी से क़रीब और आस्मान से दूर है। तुम्हारी अक़लें सुबुक (बुद्दियां तुच्छ) और दानाइयां खा़म (चतुराइयां कच्ची) हैं। तुम हर तीर अन्दाज़ का निशाना हर खाने वाला का लुक़मा, और शिकारी की सैद अफ़गनियों का […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 9
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 9
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 9

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 9Rate this post हज़रत अली अलैहिस्सलाम के महान व्यक्तित्व के परिचय से विशेष यद्यपि बहुत अधिक विद्वानों और लेखकों ने बहुत अच्छे व सुन्दर शब्दों में हज़रत अली अलैहिस्सलाम के बारे में बहुत कुछ लिखा है परंतु किसी के अंदर इस बात की क्षमता ही नहीं है […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 10
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 10
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 10

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 10Rate this post नहजुल बलाग़ा में एक और महत्वपूर्ण विषय उन अधिकारों व कर्तव्यों के बारे में है जो समाज के हर व्यक्ति का एक दूसरे पर है। इस किताब में हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने विभिन्न प्रकार के अधिकारों का उल्लेख किया है। हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने […]

    • ” ख़ुशी क्या है “
      Rate this post

      ” ख़ुशी क्या है “

      ” ख़ुशी क्या है “Rate this post हमारे जन्म के पहले दिन ही ईश्वर अपनी तत्वदर्शिता द्वारा हमसे कहता है कि जीवन मधुर है और हमें अपने जीवन काल में यह सीखने का प्रयास करना चाहिए कि उचित मार्ग कौन से हैं ताकि उसपर चलकर हम मधुर जीवन व्यतीत कर सकें। यदि हमारा मनोबल सुदृढ़ […]

    • हदीसें
      Rate this post

      हदीसें

      हदीसेंRate this post दसवाँ भाग 451. مَن خَلا بِالعِلمِ لَم تُوحِشهُ خَلوَةٌ; जो ज्ञान के साथ रहता है, उसे कोई तन्हाई नही डरा सकती। 452. مَن تَسَلَّى بِالكُتُبِ لَم تَفُتهُ سَلَوةٌ; जिसे किताबों से आराम मिलता है, समझो उसने आराम का कोई साधन नही खोया है 453. مَن أُعطِىَ الدُّعاءَ لَم يُحرَمِ الإجِابَةَ; जिसे दुआ […]

    • हज़रत इमाम बाक़िर अलैहिस्सलाम की अहादीस
      Rate this post

      हज़रत इमाम बाक़िर अलैहिस्सलाम की अहादीस

      हज़रत इमाम बाक़िर अलैहिस्सलाम की अहादीसRate this post हज़रत इमाम बाक़िर अलैहिस्सलाम की अहादीस (प्रवचन)  हम यहां पर अपने प्रिय़ः अध्ययनकर्ताओं के लिए   हज़रत इमाम बाक़िर अलैहिस्सलाम  के चालीस मार्ग दर्शक कथन प्रस्तुत  कर रहे हैं। 1-विपत्ति व कल्याण  हज़रत इमाम बाक़िर अलैहिस्सलाम ने कहा कि कभी कभी ऐसा होता है कि हरीस(लालची) संसारिक […]

    •  क़ुरआन मजीद  मे अहले बैत – 2
      क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 2
      Rate this post

      क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 2

      क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 2Rate this post   7- “يَا أَيُّهَا الَّذِينَ آمَنُواْ اتَّقُواْ اللّهَ وَكُونُواْ مَعَ الصَّادِقِينَ”(तौहा 119) (सादिक़ीन मुहम्मद व आले मुहम्मद(अ) हैं।(इब्ने उमर) (ग़ायतुल मराम पेज 148) 8- “بَقِيَّةُ اللّهِ خَيْرٌ لَّكُمْ”(हूद 86) (بَقِيَّةُ اللّهِ) क़ाएमे आले मुहम्मद की हस्ती है।(इमाम मुहम्मद बाक़िर(अ)(नुरूल अबसार पेज 172) 9- “أَلَمْ تَرَ كَيْفَ […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 11
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 11
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 11

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 11Rate this post हज़रत अली की नज़र में सरकारी अधिकारियों के दायित्व इस्लामी समाज में शासक व अधिकारियों को व्यापक अधिकार हासिल हैं किन्तु साथ ही उनके कंधे पर अधिक ज़िम्मेदारियां भी हैं। नहजुल बलाग़ा में हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने इस्लामी सरकार के गठन को शासक के […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 6
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 6
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 6

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 6Rate this post पवित्र क़ुरआन, ईश्वर का परिपूर्ण व अंतिम संदेश और पैग़म्बरे इस्लाम का अमर व मूल्यवान चमत्कार तथा इस्लामी शिक्षाओं का फूटता सोता है। हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने अपने भाषणों में पवित्र क़ुरआन की विभिन्न आयामों से समीक्षा की है और इसको पढ़ने और इसकी […]

    • हज़रत इमाम अली अलैहिस्सलाम की अहादीस
      Rate this post

      हज़रत इमाम अली अलैहिस्सलाम की अहादीस

      हज़रत इमाम अली अलैहिस्सलाम की अहादीसRate this post हज़रत इमाम अली अलैहिस्सलाम की अहादीस(प्रवचन) प्रियः अध्ययन कर्ताओं के लिए यहाँ पर  हज़रत इमाम अली अलैहिस्सलाम के चालीस महत्वपूर्ण कथनो को प्रस्तुत किया जारहा हैं। जिनका अनुसरण करके मनुष्य अपने आपको एक विशिष्ठ व्यक्ति बनासकता है 1- स्वर्ग की सम्पत्ति  हज़रत इमाम अली अलैहिस्सलाम ने कहा […]

    •  ख़ुत्बा – 16
      ख़ुत्बा – 16
      Rate this post

      ख़ुत्बा – 16

      ख़ुत्बा – 16Rate this post [ जब मदीने में आप की बैअत हुई तो फ़रमाया ] में अपने क़ौल (कथन) का ज़िम्मेदार और उस की सेहत (सत्यता) का ज़ामिन हूं। जिस शख्स (व्यक्ति) को उस के दीदेए इबरत (शिक्षा ग्राहण करने वाली दृष्टि) ने गुज़श्ता उकूबतें (गत यातनायें) वाज़ेह तौर (स्पष्ट रूप) से दिखा दी […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली(अ.) के विचार-27
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली(अ.) के विचार-27
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली(अ.) के विचार-27

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली(अ.) के विचार-27Rate this post   हम अम्र बिलमारूफ अर्थात अच्छाई का आदेश देना नमाज़, रोज़ा, हज, और जेहाद की भांति अम्र बिलमारूफ को भी धार्मिक आदेशों में समझा जाता है और उनके मध्य इसे विशेष स्थान प्राप्त है। हज़रत अली अलैहिस्सलाम के अनुसार अम्र बिलमारूफ और नही अनिलमुन्कर का दायेरा […]

    more