islamic-sources

  • ALL
    E-Books
    Articles

    date

    1. date
    2. title
    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 15
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 15
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 15

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 15Rate this post हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने अपनी ख़िलाफ़त के काल में हर प्रकार की निर्धनता को दूर करने के लिए अथक कोशिश की। जिस समय हज़रत अली अलैहिस्सलाम ख़लीफ़ा बने तो हज़रत उस्मान के शासन काल में उमय्या के वंश से विशेष वर्ग के पास धन-संपत्ति […]

    •  क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 1
      क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 1
      Rate this post

      क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 1

      क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 1Rate this post बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्रहीम इस्लामी रिवायतों की बिना पर क़ुरआने मजीद की बे शुमार आयतें अहले बैत अलैहिम अस्सलाम के फ़ज़ाइल व मनाक़िब के गिर्द घूम रही हैं और इन्हीं मासूम हस्तियों के किरदार के मुख़्तलिफ़ पहलुओं की तरफ़ इशारा कर रही हैं। बल्कि कुछ रिवायतों की बिना पर […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 11
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 11
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 11

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 11Rate this post हज़रत अली की नज़र में सरकारी अधिकारियों के दायित्व इस्लामी समाज में शासक व अधिकारियों को व्यापक अधिकार हासिल हैं किन्तु साथ ही उनके कंधे पर अधिक ज़िम्मेदारियां भी हैं। नहजुल बलाग़ा में हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने इस्लामी सरकार के गठन को शासक के […]

    •  लोगों के सम्मान को बचाना
      लोगों के सम्मान को बचाना
      Rate this post

      लोगों के सम्मान को बचाना

      लोगों के सम्मान को बचानाRate this post जो लोगों के सम्मान को बचाता है अल्लाह तआला क़यामत के दिन उसकी ग़लतियों को क्षमा कर देगा। और जो लोगों से अपने ग़ुस्से पर कंट्रोल कर लेगा तो क़यामत में अल्लाह उससे अपने ग़जब (ग़ुस्सा) को ख़त्म कर देगा «مَنْ کَفَّ نَفْسَهُ عَنْ أَعْراضِ النّاسِ أَقالَهُ اللّهُ […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 14
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 14
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 14

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 14Rate this post राजकोष के न्यायपूर्ण विभाजन पर आधारित हज़रत अली अलैहिस्सलाम की शैली हज़रत अली अलैहिस्सलाम कभी ऐसे ही कोई बात नहीं करते थे बल्कि जो कहते हैं उसपर बड़ी सूक्ष्मता से पालन करते थे। वे सदैव समाज के वंचित और सताए हुए वर्ग का समर्थन […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार-28
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार-28
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार-28

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार-28Rate this post ”अम्र बिलमारूफ अर्थात अच्छाई का आदेश देना और नही अनिल मुन्कर अर्थात बुराई से रोकना“ नमाज़, रोज़ा, हज, और जेहाद की भांति अम्र बिलमारूफ को भी धार्मिक आदेशों में समझा जाता है और उनके मध्य इसे विशेष स्थान प्राप्त है। हज़रत अली अलैहिस्सलाम के अनुसार अम्र […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली(अ.)  के विचार-24
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली(अ.) के विचार-24
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली(अ.) के विचार-24

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली(अ.) के विचार-24Rate this post हज़रत अली (अ) समस्त गुणों एवं विशेषताओं के स्वामी हैं। उनके व्यक्तित्व के असीम सागर में समस्त मानवीय सदगुण पाए जाते हैं। उनकी इबादत और बंदगी उनके सबसे विशिष्ट गुणों में से हैं। हज़रत अली (अ) इबादत की उस शिखर चोटी पर आसीन थे कि कई […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 29
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 29
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 29

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 29Rate this post ईश्वरीय दूतों ने सदैव प्रलय और परलोक में इंसान के भाग्य को महत्व दिया है। प्रलय और परलोक के संबंध में ईश्वरीय दूतों द्वारा अधिक बल दिया जाना इस धार्मिक विश्वास के महत्व को दर्शाता है। समस्त ईश्वरीय दूतों ने एकेश्वरवाद और एक ईश्वर […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 12
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 12
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 12

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 12Rate this post हज़रत अली (अ) के दृष्टिकोण में एकता एवं एकजुटता इस्लाम में एकता एवं एकजुटता पर विशेष बल दिया गया है। क़ुराने मजीद के सूरए आले इमरान की 103वीं आयत में उल्लेख है कि “तुम सब अल्लाह की रस्सी को मज़बूती से थाम लो और […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 3
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 3
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 3

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 3Rate this post पैग़म्बरे इस्लाम सदाचारियों के इमाम और मार्गदर्शन के सूरज हैं। हज़रत अली अलैहिस्सलाम पैग़म्बरे इस्लाम की विशेषताओं को बयान करते हुए फरमाते हैं” पैग़म्बर बाल्याकाल में सर्वोत्तम सृष्टि और बुढापे में लोगों में महानतम हस्ती थे। उनके व्यवहार पवित्र लोगों में सबसे पवित्रतम और […]

    •  क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 4
      क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 4
      Rate this post

      क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 4

      क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 4Rate this post 29- “وَبِالْأَسْحَارِ هُمْ يَسْتَغْفِرُونَ”(ज़ारियात 19) यह आयत अली, फ़ातेमा और हसनैन के बारे में नाज़िल हुई है।(इब्ने अब्बास)(शवाहीदुत तनज़ील जिल्द 2 पेज 195) 30- “مَرَجَ الْبَحْرَيْنِ يَلْتَقِيَانِ”(रहमान 20) (الْبَحْرَيْنِ) अली व फ़ातेमा(اللُّؤْلُؤُ وَالْمَرْجَانُ) हसन व हुसैन हैं।(इब्ने अब्बास) (दुर्रे मनसूर जिल्द 6 पेज 142) 31- “وَالسَّابِقُونَ […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 2
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 2
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 2

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 2Rate this post नहजुल बलाग़ा वह किताब है जिसमें हज़रत अली अलैहिस्सलाम के कुछ कथनों, पत्रों और भाषणों को एकत्रित किया गया है। इस किताब को पवित्र कुरआन का भाई कहा जाता है। इस किताब में उस महान हस्ती के कुछ भाषणों, पत्रों और उपदेशों को संकलित […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 13
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 13
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 13

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 13Rate this post इमाम अली अलैहिस्सलाम की नज़र में सत्ता में जनता की भूमिका नहजुल बलाग़ा एक ऐसा अनमोल ख़ज़ाना है जिसमें हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने ईश्वरीय भय, विनम्रता, उपासना, परिज्ञान, राजनीति और सत्ता सहित अन्य सामाजिक व शिष्टाचारिक विषयों को बहुत ही सुन्दर ढंग से बयान […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 21
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 21
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 21

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 21Rate this post मानव जाति का सत्य की ओर मार्गदर्शन, अति अनिवार्य विषय है। इस बारे में पवित्र क़ुरआन के सूरए ताहा की आयत संख्या 50 में कहा गया है कि हमारा पालनहार वह है जिसने हर वस्तु की रचना की फिर उसका मार्गदर्शन किया। यही कारण […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार -18
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार -18
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार -18

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार -18Rate this post अली अलैहिस्सलाम के दृष्टिकोण से दुनिया या संसार इस्लामी दृष्टिकोण से यदि देखा जाए तो संसार का सीधा संबन्ध परलोक से है और यह उससे बिल्कुल अलग नहीं है। इसका कारण यह है कि मनुष्य अपने जीवन में जो कुछ करता है उसका भुगतान उसे […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार 17
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार 17
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार 17

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार 17Rate this post हज़रत अली अलैहिस्सलाम की दृष्टि में सरकार का लक्ष्य/ सरकार और सरकारी अधिकारियों के हितों की रक्षा करना नहीं है बल्कि मानवीय मूल्यों एवं नैतिक गुणों के आधार पर आदर्श समाज का गठन है। एक एसा समाज जो न्याय के प्रकाश में परिपूर्णता का मार्ग […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 5
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 5
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 5

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 5Rate this post इस्लामी इतिहास पवित्र नगर मक्का के उत्तरी छोर पर स्थिति हेरा नामक गुफा से आरंभ हुया। एक शांत व अंधेरी रात में पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मोहम्मद मुस्तफ़ा सलल्ल लाहो अलैहि व आलेही व सल्लम हेरा नामक गुफा में ईश्वर की उपासना में लीन थे […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 4
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 4
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 4

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 4Rate this post हज़रत अली की दृष्टि में “एकेश्वरवाद” या एकेश्वरवादी विचारधारा धर्म के मूल सिद्धातों में एक तौहीद अर्थात एकेश्वरवाद का विषय है। मानवता के प्रशिकक्षकों के रूप में समस्त ईश्वरीय दूतों के निमंत्रण का आधार भी एकेश्वरवाद ही रहा है। इन समस्त ईश्वरीय दूतों ने […]

    •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 16
      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 16
      Rate this post

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 16

      नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 16Rate this post हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने निर्धनता के उन्मूलन के लिए बहुत कोशिश की ताकि समाज के विभिन्न वर्गों के बीच खायी कम हो जाए। निर्धनता उन्मूलन का एक उपाया सार्थक रोज़गार का सृजन है। इस्लाम ने कार्य तथा लाभदायक क्षमता पर बहुत ज़ोर दिया है। […]

    •  क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 3
      क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 3
      Rate this post

      क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 3

      क़ुरआन मजीद मे अहले बैत – 3Rate this post   18- “وَعَدَ اللَّهُ الَّذِينَ آمَنُوا مِنكُمْ وَعَمِلُوا الصَّالِحَاتِ لَيَسْتَخْلِفَنَّهُم فِي الْأَرْضِ”(नूर 56) इन हज़रात से मुराद अहले बैते ताहेरीन हैं।(अब्दुल्लाह इब्ने मुहम्मद अल हनफ़ीया)( शवाहिदुत तनज़ील जिल्द 1 पेज 413) 19- “وَالَّذِينَ يَقُولُونَ رَبَّنَا هَبْ لَنَا مِنْ أَزْوَاجِنَا وَذُرِّيَّاتِنَا قُرَّةَ أَعْيُنٍ وَاجْعَلْنَا لِلْمُتَّقِينَ إِمَامًا”(फ़ुरक़ान 74) […]

    more