islamic-sources

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार 17
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार 17

    Rate this post हज़रत अली अलैहिस्सलाम की दृष्टि में सरकार का लक्ष्य/ सरकार और सरकारी अधिकारियों के हितों की रक्षा करना नहीं है बल्कि मानवीय मूल्यों एवं नैतिक गुणों के आधार पर आदर्श समाज का गठन है। एक एसा समाज जो न्याय के प्रकाश में परिपूर्णता का मार्ग तय करे। महान व सर्वसमर्थ ईश्वर ने […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 16
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 16

    Rate this post हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने निर्धनता के उन्मूलन के लिए बहुत कोशिश की ताकि समाज के विभिन्न वर्गों के बीच खायी कम हो जाए। निर्धनता उन्मूलन का एक उपाया सार्थक रोज़गार का सृजन है। इस्लाम ने कार्य तथा लाभदायक क्षमता पर बहुत ज़ोर दिया है। इस्लाम में उन लोगों की प्रशंसा की गयी […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 15
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 15

    Rate this post हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने अपनी ख़िलाफ़त के काल में हर प्रकार की निर्धनता को दूर करने के लिए अथक कोशिश की। जिस समय हज़रत अली अलैहिस्सलाम ख़लीफ़ा बने तो हज़रत उस्मान के शासन काल में उमय्या के वंश से विशेष वर्ग के पास धन-संपत्ति का संचय अपने चरम पर था जिसके कारण […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 14
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 14

    Rate this post राजकोष के न्यायपूर्ण विभाजन पर आधारित हज़रत अली अलैहिस्सलाम की शैली हज़रत अली अलैहिस्सलाम कभी ऐसे ही कोई बात नहीं करते थे बल्कि जो कहते हैं उसपर बड़ी सूक्ष्मता से पालन करते थे। वे सदैव समाज के वंचित और सताए हुए वर्ग का समर्थन करते और समाज में भ्रष्टाचार, भेदभाव और अन्याय […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 13
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 13

    Rate this post इमाम अली अलैहिस्सलाम की नज़र में सत्ता में जनता की भूमिका नहजुल बलाग़ा एक ऐसा अनमोल ख़ज़ाना है जिसमें हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने ईश्वरीय भय, विनम्रता, उपासना, परिज्ञान, राजनीति और सत्ता सहित अन्य सामाजिक व शिष्टाचारिक विषयों को बहुत ही सुन्दर ढंग से बयान किया है। इसीलिए हम इस कार्यक्रम के दौरान […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 12
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 12

    Rate this post हज़रत अली (अ) के दृष्टिकोण में एकता एवं एकजुटता इस्लाम में एकता एवं एकजुटता पर विशेष बल दिया गया है। क़ुराने मजीद के सूरए आले इमरान की 103वीं आयत में उल्लेख है कि “तुम सब अल्लाह की रस्सी को मज़बूती से थाम लो और तितर बितर न हो और अल्लाह की अनुकंपा […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 11
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 11

    Rate this post हज़रत अली की नज़र में सरकारी अधिकारियों के दायित्व इस्लामी समाज में शासक व अधिकारियों को व्यापक अधिकार हासिल हैं किन्तु साथ ही उनके कंधे पर अधिक ज़िम्मेदारियां भी हैं। नहजुल बलाग़ा में हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने इस्लामी सरकार के गठन को शासक के दायित्वों में गिनवाया है। जैसा कि नहजुल बलाग़ा […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 10
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 10

    Rate this post नहजुल बलाग़ा में एक और महत्वपूर्ण विषय उन अधिकारों व कर्तव्यों के बारे में है जो समाज के हर व्यक्ति का एक दूसरे पर है। इस किताब में हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने विभिन्न प्रकार के अधिकारों का उल्लेख किया है। हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने नहजुल बलाग़ा में कभी नैतिक और नागरिक तो […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 9
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 9

    Rate this post हज़रत अली अलैहिस्सलाम के महान व्यक्तित्व के परिचय से विशेष यद्यपि बहुत अधिक विद्वानों और लेखकों ने बहुत अच्छे व सुन्दर शब्दों में हज़रत अली अलैहिस्सलाम के बारे में बहुत कुछ लिखा है परंतु किसी के अंदर इस बात की क्षमता ही नहीं है कि वह हज़रत अली अलैहिस्सलाम के वास्तविक व्यक्तित्व […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 8
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 8

    Rate this post पिछले हमने इमाम और इमामत की विशेषताओं के बारे में चर्चा की थी आज भी हम उसी विषय पर चर्चा जारी रखेंगे। कृपया हमारे साथ रहें। पैग़म्बरे इस्लाम के जीवन का अंतिम समय था उस समय उन्होंने फरमाया” मैं तुम्हारे बीच दो क़ीमतें व मूल्यवान चीज़ें छोड़कर जा रहा हूं अगर तुम […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 7
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 7

    Rate this post पवित्र क़ुरआन एक अमर चमत्कार है। ईश्वर ने इसे पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मुहम्मद मुस्तफ़ा सल्लल्लाहो अलैहे वआलेही वसल्लम को प्रदान किया है। इसने हृदयों को आकर्षित एवं परिवर्तित कर दिया है। जिस प्रकार से पैग़म्बरे इस्लाम का कोई गुरू नहीं था उसी प्रकार से हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने भी पैग़म्बरे इस्लाम के […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 6
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 6

    Rate this post पवित्र क़ुरआन, ईश्वर का परिपूर्ण व अंतिम संदेश और पैग़म्बरे इस्लाम का अमर व मूल्यवान चमत्कार तथा इस्लामी शिक्षाओं का फूटता सोता है। हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने अपने भाषणों में पवित्र क़ुरआन की विभिन्न आयामों से समीक्षा की है और इसको पढ़ने और इसकी आयतों में चिंतन मनन पर बहुत अधिक बल […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 5
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 5

    Rate this post इस्लामी इतिहास पवित्र नगर मक्का के उत्तरी छोर पर स्थिति हेरा नामक गुफा से आरंभ हुया। एक शांत व अंधेरी रात में पैग़म्बरे इस्लाम हज़रत मोहम्मद मुस्तफ़ा सलल्ल लाहो अलैहि व आलेही व सल्लम हेरा नामक गुफा में ईश्वर की उपासना में लीन थे कि अचानक एक आवाज़ सुनी जो उनसे कह […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 4
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 4

    Rate this post हज़रत अली की दृष्टि में “एकेश्वरवाद” या एकेश्वरवादी विचारधारा धर्म के मूल सिद्धातों में एक तौहीद अर्थात एकेश्वरवाद का विषय है। मानवता के प्रशिकक्षकों के रूप में समस्त ईश्वरीय दूतों के निमंत्रण का आधार भी एकेश्वरवाद ही रहा है। इन समस्त ईश्वरीय दूतों ने मानव जाति को एकेश्वरवाद पर आस्था रखने और […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 3
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 3

    Rate this post पैग़म्बरे इस्लाम सदाचारियों के इमाम और मार्गदर्शन के सूरज हैं। हज़रत अली अलैहिस्सलाम पैग़म्बरे इस्लाम की विशेषताओं को बयान करते हुए फरमाते हैं” पैग़म्बर बाल्याकाल में सर्वोत्तम सृष्टि और बुढापे में लोगों में महानतम हस्ती थे। उनके व्यवहार पवित्र लोगों में सबसे पवित्रतम और उनकी दया सबसे अधिक समय तक जारी रहने […]

  •  नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 2
    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 2
    1.5 (30%) 2 vote[s]

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 2

    नहजुल बलाग़ा में इमाम अली के विचार – 21.5 (30%) 2 vote[s] नहजुल बलाग़ा वह किताब है जिसमें हज़रत अली अलैहिस्सलाम के कुछ कथनों, पत्रों और भाषणों को एकत्रित किया गया है। इस किताब को पवित्र कुरआन का भाई कहा जाता है। इस किताब में उस महान हस्ती के कुछ भाषणों, पत्रों और उपदेशों को […]

  •  नहजुल बलाग़ा में हज़रत अली के विचार 1
    Rate this post

    नहजुल बलाग़ा में हज़रत अली के विचार 1

    Rate this post हज़रत अली अलैहिस्सलाम समस्त मानवीय सदगुणों में पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहि व आलेही व सल्लम का आइना थे। हज़रत अली अलैहिस्सलाम एसी महान हस्ती थे जिसके बारे में पैग़म्बरे इस्लाम ने फरमाया है” अगर समस्त वृक्ष कलम बन जायें और समस्त समुद्र सियाही बन जायें और समस्त जिन्नात हिसाब करने वाले एवं […]

  • Rate this post

    मुक़द्दम ए सैयदुल उलामा ……….

    Rate this post “मैने सत्तर खुत्बे अली इब्ने अबी तालिब (अ) अजबर (याद) किए हैं, जिनके फुयूज़ो-बरकात मेरे यहां नुमायां (स्पष्ट) हैं। ” इसके बाद इबनूल मुतवफ्फी (मृतक) सन् 142 का एतिराफ है जिसे अल्लामा हसन अन्नदूबी ने अपने उन हवाशी में जो किताब अल बयान वत तबईन लिल जाहिज़ पर लिखे हैं , वह […]

  • Rate this post

    ” ख़ुशी क्या है “

    Rate this post हमारे जन्म के पहले दिन ही ईश्वर अपनी तत्वदर्शिता द्वारा हमसे कहता है कि जीवन मधुर है और हमें अपने जीवन काल में यह सीखने का प्रयास करना चाहिए कि उचित मार्ग कौन से हैं ताकि उसपर चलकर हम मधुर जीवन व्यतीत कर सकें। यदि हमारा मनोबल सुदृढ़ होगा और हम प्रसन्नचित […]

  • Rate this post

    नज़्म व ज़ब्त

    Rate this post हज़रत अली (अ.) नो फ़रमायाः मैं तुम्हे तक़वे और नज़्म की वसीयत करता हूँ। हम जिस जहान में ज़िन्दगी बसर करते हैं यह नज़्म और क़ानून पर मोक़ूफ़ है। इसमें हर तरफ़ नज़्म व निज़ाम की हुकूमत क़ायम है। सूरज के तुलूअ व ग़ुरूब और मौसमे बहार व ख़िज़ा की तबदीली में […]

  • पेज3 से 512345