islamic-sources

  • Rate this post

    मेरे फोटो

    Rate this post सवालः शादी के समय मेरे कुछ फ़ोटो खींचे गये जिसमें मै पूरे पर्दे में नहीं थी इस समय यह फोटो मेरे दोस्तों और फैमिली के पास मौजूद हैं क्या उनका इकठ्ठा करना मुझ पर वाजिब है। जवाबः अगर उनसे गुनाह फैलने का डर न हो, या उनको देने में आपने कोई रोल […]

  • Rate this post

    काफ़िर का पैसा

    Rate this post सावलः अगर कोई काफ़िर अपनी ख़ुशी से कुछ पैसे मस्जिद के लिए दे तो क्या उसका क़बूल करना जाएज़ है?। जवाबः कोई मुश्किल नहीं है।

  • Rate this post

    मस्जिद में कसरत

    Rate this post सवालः क्या मुह़ल्ले की मस्जिद में कसरत करना और सोना जाएज़ है और यही काम दूसरी मस्जिदों में करने का क्या ह़ुक्म है। जवाबः मस्जिद कसरत की जगह नहीं है। और हर वह काम जो मस्जिद के लिए बेहतर न हो उससे बचना चाहिए और मस्जिद में सोना भी मकरूह (जिस काम […]

  • Rate this post

    क़ज़ा नमाज़

    Rate this post सवालः अगर कोई इंसान सुबह़ की नमाज़ को उसके समय निकल जाने के बाद क़ज़ा की नियत से पढ़ना चाहता है तो क्या उसे ऊँची आवाज़ से पढ़ेगा या धीमी आवाज़ से? जवाबः सुबह़ मग़रिब और इशा की नमाज़ों के अलह़म्द और उसके बाद वाले सूरे को ऊँची आवाज़ में पढ़ना ज़रूरी […]

  • Rate this post

    ऊँची आवाज़ में नमाज़ पढ़ना

    Rate this post सवालः जिन नमाज़ो को ऊँची आवाज़ में पढ़ना ज़रूरी है अगर उनकों ऊँची आवाज़ में न पढ़ा जाये तो उसका क्या ह़ुक्म है? जवाबः मर्दों पर वाजिब है कि सुबह़ मग़रिब और इशा की नामाज़ों को ऊँची आवाज़ में पढ़े लेकिल अगर भूले से या ह़ुक्म को न जानने के कारण धीमे […]

  • Rate this post

    हराम चीज़ों का व्यापार

    Rate this post सवालः अगर एक इंसान ने किसी ग़ैर इस्लामी मुल्क में होटल बनवाया है और वह कुछ ह़राम चीज़ें जैसे शराब आदि भी बचने पर मजबूर हो क्योंकि उस मुल्क में ज़्यादा लोग मसीह़ी हैं जो कि आमतौर से खाने के साथ शराब भी पीते है और जिस होटल में खाने के साथ शराब […]

  • Rate this post

    इसराईली प्रोडेक्ट

    Rate this post सवालः अगर इस्राईली प्रोडक्ट जिन्स (वस्तु) एक इस्लामी मुल्क की दुकानों पर मौजूद हैं जबकि दूसरे इस्लामी मुल्क से वही चीज़ें ख़रीदी जा सकती हैं तो क्या ऐली सूरत में जाएज़ है कि हम इसराईल के प्रोडक्ट इस्तेमाल करना कैसा है? जवाबः हर मुसलमान की यह ज़िम्मेदारी है कि हर उस प्रोडक्ट […]

  • Rate this post

    इंसान की उल्टी

    Rate this post सवालः नीचे बयान किये गये लोगों की उलटी (vomiting) का नजिस और पाक होने के एतेबार से क्या ह़ुक्म है। 1, वह बच्चे जो केवल दूध पीते हैं 2, जो बच्चे दूध पीने के साथ साथ खाना भी खाते हैं 3. बालिग़ इंसान जवाबः हर इंसान की उल्टी पाक है।

  • Rate this post

    बच्चों का सलाम

    Rate this post सवालः क्या बच्चों के सलाम का जवाब देना वाजिब है? जवाबः अच्छे बुरे की पहचान रखने वाला बच्चे चाहे वह लड़के हों या लड़कियाँ औरतों और मर्दों की तरह़ उनके सलाम का जवाब देना भी वाजिब है।

  • Rate this post

    छुप कर नमाज़ पढ़ना

    Rate this post सवालः क्या नमाज़े शब पढ़ते समय इस बात पर ध्यान दिया जाये कि कोई नमाज़ शब पढ़ने के बारे में जानने न पाये और उसको अंधेरे में पढ़ना ज़रूरी है? जवाबः दूसरों से छुपा कर नमाज़ पढ़ना शर्त नहीं है लेकिन दिखावे के लिए नमाज़ पढ़ना भी जाएज़ नहीं हैं।

  • Rate this post

    बिना तहारत के नमाज़

    Rate this post सवालः अगर किसी के पास तहारत के लिए न तो पानी हो और जिस जिस चीज़ पर तयम्मुम सही है वह भी उसके इख़्तियार में नही है तो क्या उस पर नमाज़ वाजिब है? जवाबः नमाज़ को उसके समय में पढ़ना ज़रूरी है और जब पानी या जिन चीज़ों पर तयम्मुम सही हैं वह […]

  • Rate this post

    ग़ुस्ल के अह़काम

    Rate this post सवालः क्या औरत के लिए वाजिब है कि गुस्ल करते समय सभी बालों को धोये जबकि इस का बात का पता भी हो कि पानी सर कि खाल तक पहुँच गया है तो अगर पानी सभी बालों तक नहीं पहुँचा है तो क्या ग़ुस्ल बातिल और ग़लत हो जायेगा। जवाबः ऐहतियात कि बिना पर […]

  • Rate this post

    क़ज़ा नामाजें

    Rate this post सवालः एक आदमी की बहुत ज़्यादा नमाज़ें छूट गई हैं क्या उन छूटी हुई नमाज़ों को इस तरतीब के साथ पढ़ सकता है मिसाल के तौर पर पहले 20 बार सुबह की नमाज़ पढ़े उसके बाद ज़ुहर व अस्र की नमाज़ को 20 बार और 20 बार मग़रिब व इशा की नमाज़ों को […]

  • Rate this post

    गुमराह समुदायों से दूरी

    Rate this post सवालः कभी कभी कुछ धर्मों के मानने वाले जैसे बहाईयत, मेरे लिए खाना या दूसरी चीज़ें लेकर आते हैं क्या उन चीज़ों का इस्तेमाल करना मेरे लिए जाएज़ है। जवाबः इस तरह़ के बहके और गुमराह और गुमराह करने वाले समुदायों से बचना चाहिए और उनकी चीज़ों को इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

  • Rate this post

    अंगूठी पर नक़्श

    Rate this post सवालः अंगूठी के ऊपर जो नक़्श बने होते हैं बिना वुज़ू के उसका छूना जाएज़ है? जवाबः अगर ऐसे शब्दों से नक़्श बना है जिसमें तहारत (वूज़ू या ग़ुस्स) की शर्त है तो बिना वुज़ू के छूना जाएज़ नहीं है।

  • Rate this post

    वुज़ू का अंग

    Rate this post सवालः अगर वुज़ू के आज़ा (अंगों) में से कोई अंग उसके धोने के बाद और वुज़ू के तमाम होने से पहले नजिस हो जाये तो क्या ह़ुक्म है? जवाबः अगर वह अंग (वुज़ू की नियत से) धोने के बाद नजिस हुआ है तो वुज़ू सह़ी है लेकिन वुज़ू के बाद उस अंग को नमाज़ […]

  • Rate this post

    तहारत में शक (डाउट)

    Rate this post सवालः अगर कोई हमेशा वुज़ू में शक करता है तो वह कैसे मस्जिद में जाये और नमाज़ पढ़े और क़ुर्आन की तिलावत करे और मासूमीन (अ.स) की ज़ियारत करे? जवाबः वुज़ू के बाद तहारत के बाक़ी रहने के बारे में शक का कोई ऐतेबार नहीं है जब तक कि वुज़ू के टूट जाने का […]

  • Rate this post

    वुज़ू में फ़ासला

    Rate this post सवालः वुज़ू या ग़ुस्ल के बीच आज़ा (अंगों) को धोते वक़्त एक अंग से दूसरो अंग के बीच कितना फ़ासला होना चाहिए? जवाबः ग़ुस्ल में फ़ासला मुश्किल नहीं है लेकिन वुज़ू में अगर फ़ासला इतना ज़्यादा हो कि दूसरे वाले अंग को धोने में इतनी देर हो जाये कि उससे पहले वाला अंग सूख […]

  • Rate this post

    किताबों को पढ़ना

    Rate this post सवालः ऐसी किताबों को पढ़ना और ऐसी फ़िल्मों को देखना कैसा है जो सेक्स को उकसाते हैं? जवाबः जाएज़ नहीं हैं।

  • Rate this post

    सज्दे वाली आयतें

    Rate this post सवालः क्या मुजनिब (जिस पर ग़ुस्ले जनाबत करना वाजिब है) पर उन सूरों को पढ़ना जाएज़ नहीं है जिनमे सज्दा वाजिब है? जवाबः जो काम मुजनिब पर जाएज़ नहीं हैं वह यह कि उन सूरों की उन आयतों को नहीं पढ़ सकता है जिनमें सज्दा वाजिब है लेकिन बाक़ी दूसरी आयतों को पढ़ने में […]

  • पेज4 से 14« आखिरी...23456...10...पहला »