islamic-sources

  • Rate this post

    98- सूरए बय्यिनह

    Rate this post 98- सूरए बय्यिनह का अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- अहले किताब में से काफ़ेरीन लोग और मुशरेकीन अपने कुफ़्र से अलग होने वाले नही थे जब तक उनके पास खुली दलील न आ जाती । 2- अल्लाह का रसूल जो उन पर पाक […]

  • Rate this post

    97-सूरए क़द्र

    Rate this post 97-सूरए क़द्र का अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- बेशक हमने उसको (क़ुरआन) क़द्र की रात मे नाज़िल किया। 2- और आप क्या जानों कि यह क़द्र की रात क्या है। 3- क़द्र की रात हज़ार महीनों से बेहतर है। 4- इस रात मे […]

  • Rate this post

    96- सूरए अलक़

    Rate this post 96- सूरए अलक़ का अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- उस पालने वाले का नाम ले कर पढ़ो जिसने पैदा किया। 2- जिसने इंसान को जमे हुए खून से पैजदा किया। 3- पढ़ो तुम्हारा पालने वाला (अल्लाह) बड़ा करीम है। 4- जिसने क़लम के […]

  • Rate this post

    95- सूरए वत्तीन

    Rate this post 95- सूरए वत्तीन का अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- इनजीर और ज़ैतून की क़सम। 2- और तूरे सीनीन की क़सम। 3- और इस अमन वाले शहर (मक्के) की क़सम। 4- कि हमने इंसान को बेहतरीन तक़वीम( शक्लो सूरत और अंदाज़े) मे पैदा किया। […]

  • Rate this post

    94- सूरए अलम

    Rate this post 94- सूरए अलम नशरह का अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- क्या हमने आपके सीने को कुशादह नही कर दिया। 2- और क्या हमने आपके (उस) बोझ को नही उतार लिया। 3- जिस ने आप की कमर तोड़ रक्खी थी। 4- और आपके ज़िक्र […]

  • Rate this post

    93- सूरए ज़ुहा

    Rate this post 93- सूरए ज़ुहा का अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- एक पहर चढ़े दिन की क़सम। 2- और क़सम है रात की जब वह फैल जाये। 3- आपके पालने वाले ने न आपको छोड़ा है और न आपसे नाराज़ हुआ है। 4- और आखिरत(परलोक) […]

  • Rate this post

    92- सूरए लैल

    Rate this post 92- सूरए लैल का हिन्ही अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- रात की क़सम जब वह (दुनियाँ) को ढाँप ले। 2- और दिन की क़सम जब वह चमक जाये। 3- और उसकी क़सम जिसने मर्द और औरत को पैदा किया। 4- बेशक तुम्हारी कोशिशें […]

  • Rate this post

    91- सूरए शम्स

    Rate this post 91- सूरए शम्स का अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- सूरज और उसकी रौशनी की क़सम। 2- और चाँद की क़सम जब वह उसके (सूरज) बाद आता है। 3- और दिन की क़सम जब वह रौशनी अता(प्रदान) करे। 4- और रात की क़सम जब […]

  • Rate this post

    90- सूरए बलद

    Rate this post 90- सूरए बलद का अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- मैं इस शहर (मक्के) की क़सम खाता हूँ। 2- (उस शहर की) जिसमे तुम रहते हो। 3- एक बाप और उसकी औलाद की क़सम( हज़रत इब्राहीम और आपकी औलाद) 4- हमने इंसान को रंज […]

  • Rate this post

    89- सूरए फ़ज्र

    Rate this post 89- सूरए फ़ज्र का अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- फ़ज्र की क़सम। 2- और दस रातों की क़सम। 3- और जुफ़्त (जोड़ा) व ताक़(तन्हा) की क़सम। 4- और रात की क़सम जब वह ढलने लगे। 5- क्या इन चीज़ों में आक़िल लोगों के […]

  • Rate this post

    88- सूरए ग़ाशिया

    Rate this post 88- सूरए ग़ाशिया का हिन्दी अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- क्या तुम्हें ढाँप लेने वाली क़ियामत की बात मालूम है। 2- उस दिन बहुत से चेहरे रुसवा होंगे। 3- लगातार काम करते रहने वाले थके हुए। 4- दहकती हुई आग में दाखिल होंगे। […]

  • Rate this post

    87- सूरए आला

    Rate this post 87- सूरए आला का हिन्दी अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- अपने बलन्द मर्तबा परवर दिगार के नाम की तस्बीह करो। 2- वह परवर दिगार जिसने पैदा किया और दुरूस्त बनाया। 3- जिसने तक़दीर मुऐयन की और फिर हिदायत दी। 4- वह जिसने चरागाह […]

  • Rate this post

    86- सूरए तारिक़

    Rate this post 86- सूरए तारिक़ का हिन्दी अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- आसमान और तारिक़ की क़सम। 2-और तुम क्या जानों कि यह तारिक़ क्या है। 3- यह एक चमकता हुआ सितारा है। 4- कोई नफ़्स ऐसा नही है जिसके ऊपर देख रेख करने वाला […]

  • Rate this post

    85- सूरए बुरूज

    Rate this post 85- सूरए बुरूज का हिन्दी अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- बुरजों वाले आसमान की क़सम। 2- और उस दिन की क़सम जिसका वादा किया गया है। 3- क़सम है गवाह की और उसकी जिस पर गवाही दी जायेगी। 4- असहाबे उखदूद क़त्ल कर […]

  • Rate this post

    84- सूरए इनशेक़ाक़

    Rate this post 84- सूरए इनशेक़ाक़ का हिन्दी अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- जब आसमान फट जायेगा। 2- और अपने रब का हुक्म बजा लायेगा और यह ज़रूरी भी है। 3- और जब ज़मीन को बराबर करके फैला दिया जायेगा। 4- और जो कुछ वह अपने […]

  • Rate this post

    83- मुतफ़्फ़िफ़ीन

    Rate this post 83- मुतफ़्फ़िफ़ीन का हिन्दी अनुवाद शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- वैल(धिक्कार) है उनके लिए जो नाप तोल में कमी करने वाले हैं। 2- जब वह लोगों से नाप कर लेते हैं तो पूरा माल ले लेते हैं। 3- और जब दूसरों को नाप या […]

  • Rate this post

    82- सूरए इन्फ़ितार का हिन्दी अनुवाद

    Rate this post शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- जब आसमान फट जायेगा। 2- और जब सितारे बिखर जायेंगे। 3- और जब समन्दर आपस में मिल जायेंगे। 4- और जब क़ब्रों को उभार दिया जायेगा( यानी जब मुर्दों को निकालने के लिए कब्रों को खोल दिया जायेगा) 5- […]

  • Rate this post

    81- सूरए तकवीर का अनुवाद

    Rate this post शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- जब सूरज को लपेट दिया जायेगा। 2- जब तारे गिर जायेंगे। 3- जब पहाड़ चलने लगेंगे। 4- जब क़ीमती चीज़ों को भी भुला दिया जायेगा। 5- जब जानवरों को इकठ्ठा किया जायेगा। 6- जब समन्दर भड़क उठेंगे। 7- जब […]

  • Rate this post

    80- सूरए अबस का अनुवाद

    Rate this post शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- उसने मुँह बिसूर लिया और पीठ फेर ली। 2- इस वजह से कि उनके पास एक अँधा आ गया। 3- और तुम्हे क्या मालूम कि शायद वह पाकीज़ा बन जाता। 4- या नसीहत हासिल कर लेता तो यह नसीहत […]

  • Rate this post

    79- सूरए नाज़िआत का अनुवाद

    Rate this post शुरू करता हूँ अल्लाह के नाम से जो रहमान और रहीम है। 1- क़सम है उनकी जो डूब कर खीँच लेने वाले हैं।(क़सम है उन फ़रिश्तों की जो मुजरिमों की रूह को सख्ती के साथ क़ब्ज़ करते हैं।) 2- और आसानी के साथ खोल देते हैं।(क़सम है उन फ़रिश्तों की जो मोमेनीन […]

  • पेज2 से 3123