islamic-sources

  •  ईश्वरीय वाणी – 10
    Rate this post

    ईश्वरीय वाणी – 10

    Rate this post सूरे माएदा सूरे माएदा की आयत संख्या 27 से 31 धरती पर पहले मनुष्य व पहले ईश्वरीय दूत हज़रत आदम और उनके दो बेटों में से एक के दूसरे के हाथों क़त्ल किए जाने की घटना की ओर संकेत करती है। आयत क्रमांक 27 का अनुवाद है, (हे पैग़म्बऱ) आप उन्हें आदम […]

  •  ईश्वरीय वाणी – 9
    Rate this post

    ईश्वरीय वाणी – 9

    Rate this post सूरे माएदा की आयत संख्या 27 से 31 धरती पर पहले मनुष्य व पहले ईश्वरीय दूत हज़रत आदम और उनके दो बेटों में से एक के दूसरे के हाथों क़त्ल किए जाने की घटना की ओर संकेत करती है। आयत क्रमांक 27 का अनुवाद है, (हे पैग़म्बऱ) आप उन्हें आदम के दोनों […]

  •  ईश्वरीय वाणी – 7 – 8
    Rate this post

    ईश्वरीय वाणी – 7 – 8

    Rate this post कुरआने मजीद के पांचवें सूरे का नाम माएदा है। माएदा का अर्थ दस्तरखान होता है और चूंकि इस सूरे में उस घटना का वर्णन है जिसमें हज़रत ईसा अलैहिस्सलाम ने ईश्वरीय भोजन और दस्तरखान के लिए प्रार्थना की थी इस लिए इस का नाम माएदा अर्थात दस्तरखान पड़ गया। वास्तव में यह […]

  •  ईश्वरीय वाणी – 5-6
    Rate this post

    ईश्वरीय वाणी – 5-6

    Rate this post पवित्र क़ुरआन के एक सूरे का नाम निसा है जिसका अर्थ होता है महिलाएं। इस सूरे के इस नामंकन का एक कारण यह है कि इसमें महिलाओं के अधिकारों और उनसे संबंधित मामलों का उल्लेख किया गया है। यह मदीने का सूरा है और इसमें 176 आयत है। मदीना में नई सरकार […]

  •  ईश्वरीय वाणी – 4
    Rate this post

    ईश्वरीय वाणी – 4

    Rate this post पवित्र क़ुरआन के सूरए आले इमरान में आया है कि अलिफ़ लाम मीम, अल्लाह जिसके अतिरिक्त कोई ईश्वर नहीं है और वह सदैव जीवित है और हर वस्तु उसी की कृपा से स्थापित है। उसने आप पर वह सत्य पुस्तक उतारी है जो समस्त पुस्तकों की पुष्टि करने वाली है और तौरैत […]

  •  ईश्वरीय वाणी – 3
    Rate this post

    ईश्वरीय वाणी – 3

    Rate this post पवित्र क़ुरआन का सबसे बड़ा सूरा सूरए बक़रह है जिसमें 286 आयते हैं। इस सूरे के उतरने से नवस्थापित इस्लामी समाज से संबंधित ज़रूरी मामले स्पष्ट हुए और मुसलमानों को ज्ञात हुआ कि किस प्रकार वे आपस में और विदेशियों के साथ संबंध स्थापित करें। जैसा कि हमने यह कहा कि इस […]

  •  ईश्वरीय वाणी – 2
    Rate this post

    ईश्वरीय वाणी – 2

    Rate this post इस सूरे में 286 आयते हैं और पवित्र क़ुरआन के तीस भागों में से दो से ज़्यादा भाग इसी सूरे से विशेष हैं। पवित्र क़ुरआन के उतरने वाले सूरों के क्रमांक की दृष्टि यह 86वें नंबर पर उतरने वाला सूरा है किन्तु क़ुरआन में सूरे हम्द के बाद दूसरे नंबर पर है। […]

  •  ईश्वरीय वाणी – 1
    Rate this post

    ईश्वरीय वाणी – 1

    Rate this post पवित्र क़ुरआन चमकता हुआ सूर्य है जो अपने प्रकाशमयी मार्गदर्शन से अज्ञानता और अंधकार से मुक्ति दिलाता है और परिपूर्णता तक पहुंचता है। पवित्र क़ुरआन, स्वच्छ व कल्याणपूर्ण समाज तक पहुंचने के लिए आर्थिक व सामाजिक संबंधों, राजनैतिक व्यवस्था, शिष्टाचारिक, उपासना तथा प्रशिक्षण संबंधी कार्यक्रमों के बारे में लोगों संबंधी कार्यक्रमों को […]

  • पेज2 से 212