islamic-sources

  • ALL
    E-Books
    Articles

    date

    1. date
    2. title
    • इस्लाम में पर्दा की वास्तविकता
      Rate this post

      इस्लाम में पर्दा की वास्तविकता

      इस्लाम में पर्दा की वास्तविकताRate this post संशोधक:अताउर्रहमान ज़ियाउल्लाह संछिप्त विवरण:पर्दा सर्वप्रथम अल्लाह की उपासना है, जिसे अल्लाह ने अपनी व्यापक व अपार तत्वदर्शिता से औरतों पर अनिवार्य कर दिया है। पर्दा नारी के लिए पवित्रता, शालीनता और सभ्यता का प्रतीक, तथा उसके सतीत्व व मर्यादा का रक्षक है। पर्दा वास्तव में नारी के लिए […]

    • विश्व की महिलाएं और विभिन्न विकल्प
      Rate this post

      विश्व की महिलाएं और विभिन्न विकल्प

      विश्व की महिलाएं और विभिन्न विकल्पRate this post इस समय महिलाएं सुरक्षित जीवन की दृष्टि से अतीत की तुलना में बेहतर स्थिति में हैं। इस समय महिलाएं आर्थिक क्षेत्रों में उन्हें उचित शिक्षा सुविधा प्राप्त है और अधिकांश महिलाओं को मतदान का अधिकार भी मिल गया है। वर्तमान समय में कार्यरत महिलाओं के प्रतिशत में […]

    • औरत इस्लाम की नज़र में (1)
      Rate this post

      औरत इस्लाम की नज़र में (1)

      औरत इस्लाम की नज़र में (1)Rate this post अरब के उस ज़माने में जब हर तरफ़ जिहालत और गवार पन था और औरत सुसाइटी के लिये एक कलंक समझी जाती थी। रसूले इस्लाम स. नें आकर दुनिया को औरत की हैसियत   और उसकी श्रेष्ठता बताई और एक बेटी का इस तरह पालन पोषण किया […]

    • उदाहरणीय महिला 4
      Rate this post

      उदाहरणीय महिला 4

      उदाहरणीय महिला 4Rate this post पुस्तकः पश्चाताप दया की आलिंग्न लेखकः आयतुल्ला अनसारीयान   وَضَرَبَ اللَّهُ مَثَلاً لِلَّذِينَ آمَنُوا امْرَأَةَ فِرْعَوْنَ إِذْ قَالَتْ رَبِّ ابْنِ لِي عِندَكَ بَيْتاً فِي الْجَنَّةِ وَنَجِّنِي مِن فِرْعَوْنَ وَعَمَلِهِ وَنَجِّنِي مِنَ الْقَوْمِ الظَّالِمِينَ   “वा ज़राबल्लाहो मसालन लिललज़ीन आमानू इम्रअता फ़िरऔना इज़ क़ालत रब्बिबने ली इनदका बैतन फ़ील जन्नते वानज्जेनी […]

    • पश्चिमी समाज मे औरत का शोषण (3)
      Rate this post

      पश्चिमी समाज मे औरत का शोषण (3)

      पश्चिमी समाज मे औरत का शोषण (3)Rate this post पिछले हिस्से में बताए गए पश्चिमी माहौल के मुक़ाबले में जब हम पूर्बी समाजी माहौल की जांच पड़ताल करते हैं तो आम तौर पर दो तरह के लोग दिखाई देते हैं, एक वह जो पश्चिमी लाईफ़ स्टाईल से अलग तो हैं लेकिन कई एंगिल से निन्दनीय […]

    • पर्दा ही नारी की सुंदरता है
      Rate this post

      पर्दा ही नारी की सुंदरता है

      पर्दा ही नारी की सुंदरता हैRate this post भारतीय नारी तो नारीत्व का, ममता का, करुणा का मूर्तिमान रूप है और पश्चिम कि सभ्यता औरत को एक नुमाइश कि चीज़ समझती है. आज इसी पश्चिमी सभ्यता का अनुसरण करने वाला इंसान आज पढ़ा लिखा समझदार, प्रगतिवादी कहा जाता है. जनाब ए मरियम की तस्वीर आज […]

    • मैं सबसे ख़ूबसूरत हूँ!
      Rate this post

      मैं सबसे ख़ूबसूरत हूँ!

      मैं सबसे ख़ूबसूरत हूँ!Rate this post ख़ूबसूरती अल्लाह की दी हुई ख़ूबसूरत नेमतों में से एक नेमत है। वैसे वास्तव में अगर देखा जाए तो पूरा संसार ही अपनी जगह पर ख़ूबसूरत है और जिस चीज़ पर भी आप नज़र डालें वह अपनी कुछ ख़ास विशेषताओं के आधार पर अपनी जगह एक ख़ूबसूरती रखती है। […]

    • समाज में औरत का अहेम रोल
      Rate this post

      समाज में औरत का अहेम रोल

      समाज में औरत का अहेम रोलRate this post औरत के विषय को आज की दुनिया का एक महत्वपूर्ण विषय कहना चाहिये जो हर मुल्क, हर कल्चर, हर सुसॉईटी का विषय है लेकिन अफ़सोस की बात है कि आज तक किसी भी मुल्क और सुसॉइटी में इस विषय पर इस तरह बात नहीं की गई और […]

    • शहीद ईरानी महिलाएं
      Rate this post

      शहीद ईरानी महिलाएं

      शहीद ईरानी महिलाएंRate this post यदि आप पत्रिकाओं या वैबसाइटों पर नज़र डालेंगे तो निश्चित रूप से उन पर महिलाओं के चित्र पायेंगे। पत्रिकाओं की अधिक से अधिक प्रत्रितायां बेचने या फिर इंटरनेट और टीवी पर वस्तुओं के विज्ञापन हेतु महिलाओं एवं उनके चित्रों का प्रयोग किया जाता है। अकसर हम विश्व की सबसे अधिक […]

    • क़ुरआने मजीद और नारी
      Rate this post

      क़ुरआने मजीद और नारी

      क़ुरआने मजीद और नारीRate this post इस्लाम में नारी के विषय पर अध्धयन करने से पहले इस बात पर तवज्जो करना चाहिये कि इस्लाम ने इन बातों को उस समय पेश किया जब बाप अपनी बेटी को ज़िन्दा दफ़्न कर देता था और उस कुर्रता को अपने लिये इज़्ज़त और सम्मान समझता था। औरत दुनिया […]

    • वर्ष 2010 और महिलाएं
      Rate this post

      वर्ष 2010 और महिलाएं

      वर्ष 2010 और महिलाएंRate this post वर्ष 2010 भी विभिन्न उतार चढ़ाव के साथ समाप्त हो गया। इस वर्ष भी विश्व की आधी जनसंख्या के रूप में महिलाएं, विभिन्न मामलों में उलझी रहीं जिनमें से कुछ उनसे विशेष थे। इस कार्यक्रम में हम पिछले वर्ष 2010में महिलाओं और परिवार के विभिन्न मामलों पर एक दृष्टि डालने जा रहे हैं। […]

    • महिलाओं को सात घंटे और पुरुषों को छः घंटे सोना आवश्यक है।
      Rate this post

      महिलाओं को सात घंटे और पुरुषों को छः घंटे सोना आवश्यक है।

      महिलाओं को सात घंटे और पुरुषों को छः घंटे सोना आवश्यक है।Rate this post चिकित्सा विशेषज्ञों का कहना है कि नींद की कमी मनुष्य के जीवन पर बहुत अधिक नकारात्मक प्रभाव डालती है। लंदन में हुए हालिया शोध में इस बात का रहस्योद्घाटन किया गया है कि नींद न आना न केवल ध्यान में कमी […]

    • संसार की सर्वश्रेष्ठ महिला हज़रत फ़ातेमा का शुभ जन्म दिवस
      Rate this post

      संसार की सर्वश्रेष्ठ महिला हज़रत फ़ातेमा का शुभ जन्म दिवस

      संसार की सर्वश्रेष्ठ महिला हज़रत फ़ातेमा का शुभ जन्म दिवसRate this post मुस्लिम समाज विश्व का दूसरा सब से बड़ा धार्मिक समाज है जो डेढ़ अरब जनसंख्या के साथ विस्तृत हो रहा है। वर्तमान युग में और नये अंतर्राष्ट्रीय परिवर्तनों के दृष्टिगत, इस्लामी समाज के एक महत्वपूर्ण अंग के रूप में मुसलमान महिलाओं को समाज […]

    • हज़रत अली (अ) और कूफे के अनाथ
      Rate this post

      हज़रत अली (अ) और कूफे के अनाथ

      हज़रत अली (अ) और कूफे के अनाथRate this post एक दिन हज़रत अली अलैहिस्सलाम ने देखा किएक औरत अपने कंधे पर पानी की मश्क उठाए हुएले जा रही है आपने इस औरत से मश्क ले ली और मश्क उसके घर पहुंचा दी. पानी की मश्क उसके घरतक पहुंचाने के बाद आपने उसका हाल चाल भी पूछा. महिला ने कहा: अली इब्ने अबी् तालिब ने मेरे पतिको कहीं काम से भेजा गया था जहां वह मार डालेगए अब में यतीम बच्चों की पालन पोषण कर रहीहूँ हालांकि उनकी सरपरस्ती और पालन पोषण मेरेबस से बाहर है हालात से मजबूर होक्रर लोगों केघरों में जाकर सेवा करती हूँ . अली अलैहिस्सलाम यह सुन कर अपने घर वापसआ गए और पूरी रात आप नहीं सोए अगली सुबह आपने एक टोकरी में खाने पीने का सामान रखा औरऔरत के घर की ओर चल पडे,, रास्ते में कुछ लोगों ने हज़रत अली अलैहिस्सलाम से अनुरोध किया कि खाने कीचीजों से भरी हुई टोकरी उन्हें दे दें वह पहुँचा देंगें मगर हज़रत अली यह कहते जाते थेः क़यामत के दिन मेरे कार्यों का बोझ कौन उठाएगा? उस स्त्री के घर के दरवाजे पर पहुँचने के बाद आपने दरवाजा खटखटाया. महिला ने पूछा कौन है? हज़रत ने जवाब दिया: जिसने कल तुम्हारी मदद की थी और [...]

    • इतिहास रचने वाली कर्बला की महिलाएं
      Rate this post

      इतिहास रचने वाली कर्बला की महिलाएं

      इतिहास रचने वाली कर्बला की महिलाएंRate this post बहुत से महापुरुष और वे लोग जिन्होंने इतिहास में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई है, उनकी सफलता के पीछे दो प्रकार की महिलाओं का बलिदान और त्याग रहा है। पहला गुट उन मोमिन और बलिदानी माताओं का है जो इस प्रकार के बच्चों के पालन पोषण में सफल हुईं। दूसरा […]

    • उदाहरणीय महिला 3
      Rate this post

      उदाहरणीय महिला 3

      उदाहरणीय महिला 3Rate this post पुस्तकः पश्चाताप दया की आलिंग्न लेखकः आयतुल्ला अनसारीयान जी हाँ, यह कैसे सम्भव है कि ईश्वर को फ़िरऔन से, सत्य को झूठ से, प्रकाश को अंधकार से, सही को ग़लत से, परलोक को लोक से, स्वर्ग को नर्क से तथा शालीनता (सआदत) को बदबख्ती से परिवर्तित कर ले। आसिया ने […]

    • क़ुरआने मजीद और नारी
      Rate this post

      क़ुरआने मजीद और नारी

      क़ुरआने मजीद और नारीRate this post इस्लाम में नारी के विषय पर अध्धयन करने से पहले इस बात पर तवज्जो करना चाहिये कि इस्लाम ने इन बातों को उस समय पेश किया जब बाप अपनी बेटी को ज़िन्दा दफ़्न कर देता था और उस कुर्रता को अपने लिये इज़्ज़त और सम्मान समझता था। औरत दुनिया […]

    • मुसलमान औरत क़ुरआन की निगाह में
      Rate this post

      मुसलमान औरत क़ुरआन की निगाह में

      मुसलमान औरत क़ुरआन की निगाह मेंRate this post किसी भी सरकारी या प्राइवेट डिपार्टमेंट में एक हेड आफ़ डिपार्टमेंट होता है जो डिपार्टमेंट को कंट्रोल करता है और उसके नीचे उसका असिस्टेंट होता है। और यह लोग आपस में मिलकर एक दूसरे की मदद से काम को आगे बढ़ाते हैं। इसी तरह से एक परिवार […]

    • पश्चिमी समाज मे औरत का शोषण (1)
      Rate this post

      पश्चिमी समाज मे औरत का शोषण (1)

      पश्चिमी समाज मे औरत का शोषण (1)Rate this post यूरोप में औरत एक गुड़िया की तरह रह गई थी बल्कि अगर यह कहा जाए कि समाज में वह एक ग़ुलाम या नौकर की तरह थी तो ग़लत नहीं होगा, कई आन्दोलन उसको अपने पति की ग़ुलामी और उस वातावरण मे उसके पिछड़ेपन से बाहर निकालने […]

    • मेरी बेटी केवल मेरी दोस्त
      Rate this post

      मेरी बेटी केवल मेरी दोस्त

      मेरी बेटी केवल मेरी दोस्तRate this post नौजवानी एक ऐसा टाइम होता है जब लड़की भावनाओं और एहसासों के बहाव में बहती है, साथ ही उसके दोस्तों का भी उसके ऊपर बहुत गहरा असर पड़ता है। लड़का और लड़की दोनों ही इसके लपेटे में ज़बरदस्त तरीक़े से आ जाते हैं। यह आपके सामने बहुत बड़ा […]

    more