islamic-sources

  • ALL
    E-Books
    Articles

    date

    1. date
    2. title
    • अक़्ल बड़ी या भैंस?
      Rate this post

      अक़्ल बड़ी या भैंस?

      अक़्ल बड़ी या भैंस?Rate this post प्राचीन काल में एक राजा के चार बेटे और एक बेटी थी। बेटों में से एक बड़ा दुबला पतला, नाटा और कुरूप था। पिता सदैव अपने अन्य तीन पुत्रों पर गर्व करता था किंतु उस नाटे एवं कुरूप बेटे से अधिक प्रेम नहीं करता था बल्कि इस प्रकार का […]

    • जो स्वयं के लिए नापसंद करो उसे दूसरों के लिए भी पसंद न करो (1)
      Rate this post

      जो स्वयं के लिए नापसंद करो उसे दूसरों के लिए भी पसंद न करो (1)

      जो स्वयं के लिए नापसंद करो उसे दूसरों के लिए भी पसंद न करो (1)Rate this post प्राचीन काल में एक नगर में एक बीमार व्यक्ति रहता था। अपनी बीमारी के कारण वह बहुत ही कमज़ोर हो चुका था। वह जो कुछ भी खाता-पीता था वह उसके बदन को नहीं लगता था। खाने के बावजूद […]

    • मेहनती युवा
      Rate this post

      मेहनती युवा

      मेहनती युवाRate this post पुराने समय की बात है एक मेहनती, परिश्रमी और शक्तिशाली युवा था जिसके दिनचर्या बहुत कठिन गुज़र रहे थे। एक दिन उसने वैध रोज़ी कमाने के लिए दूसरे नगर की यात्रा का निर्णय किया। वह यात्रा पर जाने के लिए तैयार हुआ और यात्रा पर जाने के लिए अपने पिता के […]

    • तालीम
      Rate this post

      तालीम

      तालीमRate this post बच्चे का पहला स्कूल मां की गोद होती है और मां अपने बच्चे को अच्छी तालीम देने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ती। तीन साल का बच्चा हुआ नहीं कि उसे स्कूल भेजना शुरु कर दिया जाता है। पैरेन्टस अपने बच्चे को अच्छे से अच्छे स्कूल में पढ़ाते हैं और चाहते हैं […]

    • क़ुराने मजीद अदब
      Rate this post

      क़ुराने मजीद अदब

      क़ुराने मजीद अदबRate this post बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्रहीम क़ुराने मजीद अदब 1. क़ुरआन रब की ख़ास इनायत का नाम है। क़ुरआन नज़मो ज़बते शरीयत का नाम है। क़ुरआन एक ज़िंदा हक़ीक़त का नाम है। क़ुरआन ज़िंदगी की ज़रूरत का नाम है। क़ुरआन एक किताबे इलाही जहाँ में है। क़ुरआन के बग़ैर तबाही जहाँ में है। 1. क़ुरआन […]

    • व्यक्ति, बकरी और बेटे
      Rate this post

      व्यक्ति, बकरी और बेटे

      व्यक्ति, बकरी और बेटेRate this post प्राचीन काल में एक आदमी के पास एक बकरी थी, उसने एक दिन अपने छोटे से पुत्र से कहाः इस बकरी को चराने ले जाओ । लड़का बकरी को लेकर गया और रात तक चराता रहा। रात को पिता ने बकरी से पूछाः आज पेट भर कर खाया बकरी […]

    • बुढ़िया और व्यापारी
      Rate this post

      बुढ़िया और व्यापारी

      बुढ़िया और व्यापारीRate this post बहुत पहले की बात है कि एक बुढ़िया के यहां एक व्यापारी आया और रात के समय उसके घर का द्वार खटखटा कर कहने लगा कि मुझे अपने घर में एक रात ठहरने की अनुमति दे दो उसके बदले में जो भी होगा मैं दे दूंगा। बुढ़िया ने व्यापारी की […]

    • कव्वे और लकड़हारे की कहानी
      Rate this post

      कव्वे और लकड़हारे की कहानी

      कव्वे और लकड़हारे की कहानीRate this post एक बार की बात है कि एक गांव में एक ग़रीब लकड़हारा रहता था, वह प्रतिदिन जंगल से लकड़ी काट कर लाता और उन्हें बेचकर अपना और अपने परिवार का पेट पालता था। लकड़हारा बहुत गरीब लेकिन ईमानदार, दयालु और अच्छे चरित्र वाला आदमी था। वह हमेशा दूसरों […]

    • पराई चूपड़ी
      Rate this post

      पराई चूपड़ी

      पराई चूपड़ीRate this post पुराने समय की बात है एक नगर में एक बहुत ही निर्धन व्यक्ति रहता था जिसका पेशा पानी भरना था। वह पानी भर कर बड़ी मुश्किल से इतना कमा पाता था कि अपना और अपने बच्चों का पेट भर सके। इस निर्धन पानी बेचने वाले के पास एक गधा था। उसका […]

    • आप पैग़म्बर होने का दावा क्यों नहीं कर देते
      Rate this post

      आप पैग़म्बर होने का दावा क्यों नहीं कर देते

      आप पैग़म्बर होने का दावा क्यों नहीं कर देतेRate this post बहमनयार अबू अली सीना के प्रसिद्ध शिष्य थे, एक बार उन्होने अपने गुरू के सामने यह प्रस्ताव रखा कि वह पैगम्बर होने का दावा कर दें। अबू अली सीना ने कोई उत्तर नहीं दिया। कुछ समय बीता, एक रात गुरू और शिष्य दोनों गहरी […]

    • शक्तिशाली राजा और हातिम ताई (1)
      Rate this post

      शक्तिशाली राजा और हातिम ताई (1)

      शक्तिशाली राजा और हातिम ताई (1)Rate this post कहते हैं कि प्राचीनकाल में यमन में एक शक्तिशाली राजा रहता था जो बहुत ही धनवान और दानी था। यमन में कोई भी ऐसा व्यक्ति नहीं था जिसकी आवश्यकता की पूर्ति उस सदगुणी और दानी राजा ने न की हो। यमन में हर ओर इस देश के […]

    • बुद्धिमान पत्नी (1)
      Rate this post

      बुद्धिमान पत्नी (1)

      बुद्धिमान पत्नी (1)Rate this post प्राचीन काल में क़ुली नाम का एक व्यक्ति अपनी पत्नी के साथ रहा करता था। उनका जीवन बड़ा शांत और अच्छा गुज़र रहा था। उनके जीवन में बहुत सी कहानियों की भांति केवल एक ही दुख था और वह था संतान का न होना। उनके विवाह को कई वर्ष बीत […]

    • आज का कथन
      Rate this post

      आज का कथन

      आज का कथनRate this post दरिद्रों से प्रेम व निकटता, ईश्वर से समीप होने का मार्ग है। पैग़म्बरे इस्लाम सल्लल्लाहो अलैहे व आलेही व सल्लम **** मोमिन के लिए ऐसी इच्छा रखना कितना बुरा है जो उसे अपमानित कर दे। इमाम हसन अस्करी अलैहिस्सलाम **** मैं पैग़म्बरे इस्लाम (स) का अन्तिम उत्तराधिकारी हू और ईश्वर […]

    • ईर्ष्या का परिणाम
      Rate this post

      ईर्ष्या का परिणाम

      ईर्ष्या का परिणामRate this post भारी वर्षा हो रही थी और कारवां कठिनाई से आगे बढ़ रहा था। काफिले में एक शंज़बेह नामक बैल था कि जो थकन के कारण एक क़दम भी आगे नहीं बढ़ा सकता था। कारवां के स्वामी को अपने व्यापारिक सामान की चिंता थी, उसने निर्णय लिया कि बैल को वहीं […]

    • बगला और केकड़ा
      Rate this post

      बगला और केकड़ा

      बगला और केकड़ाRate this post काफ़ी समय पहले की बात है। एक तालाब के किनारे एक बगला बैठा हुआ था और पानी में तैरने वाली छोटी-बड़ी मछलियों को निहार रहा था। वह काफ़ी निराश था क्योंकि वह अब इतना बूढ़ा और कमज़ोर हो चुका था कि तालाब से छोटी सी मछली भी नहीं पकड़ सकता […]

    • चमत्कार करने वाला जानवर
      Rate this post

      चमत्कार करने वाला जानवर

      चमत्कार करने वाला जानवरRate this post कहते हैं कि पुराने युग में एक चक्की वाला था कि जो लोगों के गेहूं पीसता था और मज़दूरी उसी आटे से ले लिया करता था कि जो वह पीसा करता था और उसे चक्की के एक कोने में इकट्ठा किया करता था। लेकिन हर दिन जब सुबह चक्की […]

    • लोमड़ी और तूज़ली बेग
      Rate this post

      लोमड़ी और तूज़ली बेग

      लोमड़ी और तूज़ली बेगRate this post कहानियां मौखिक साहित्य का महत्वपूर्ण व लोकप्रिय भाग हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि मौखिक साहित्य किसी भी देश की महत्वपूर्ण सांस्कृतिक धरोहर हो सकती है और इस से देश की संस्कृति समृद्ध होती है। ईरान शताब्दियों के दौरान बहुत सी जातियों के मार्ग में आया है और समृद्ध […]

    • क्लास का पहला पाठ
      Rate this post

      क्लास का पहला पाठ

      क्लास का पहला पाठRate this post टीचर नें अपना भारी भरकम थैला मेज़ पर रखा और शीशे का एक गिलास निकाल कर सबके सामने रख दिया। फिर कुछ मोटे पत्थर थैले से निकाले और ग्लास में डाल दिये, स्टूडेंट्स टीचर की इस हरकत को बड़े आश्चर्य से देखते रहे। अचानक ही टीचर नें उनसे पूछा: […]

    • मोतियों का हार
      Rate this post

      मोतियों का हार

      मोतियों का हारRate this post अब्दुल्लाह ने अपने हीरे मोतियों पर एक नज़र डाली और उन पर हाथ फेरा। उन्हें वह कितना अधिक पंसद करता था। उनमें से कुछ मोती बड़े और सुन्दर थे जिन्हें अब्दुल्लाह प्रतिदिन कई बार थैली से निकालता था और देखता था और फिर से थैली में रख देता था। यह […]

    • ईरानी लोक साहित्य की एक अन्य विशेषता
      Rate this post

      ईरानी लोक साहित्य की एक अन्य विशेषता

      ईरानी लोक साहित्य की एक अन्य विशेषताRate this post लोक कथाओं की एक और दूसरी विशेषता, विषय-वस्तु का संक्षिप्त होना है। इस प्रकार की कथाओं में विशेषकर जो ऐतिहासिक दृष्टि से नई हैं, विषय-वस्तु अत्यधिक संक्षिप्त होती है। अस्कन्दर नामे या रुमूज़े हम्ज़ा जैसी किताबों कि जिनमें कथाओं की सामग्री अधिक है, बहुत ही महत्वपूर्ण […]

    more