islamic-sources

  • ALL
    E-Books
    Articles

    date

    1. date
    2. title
    • ख़ून की विजय – 2
      Rate this post

      ख़ून की विजय – 2

      ख़ून की विजय – 2Rate this post मोहर्रम का महीना इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम के आंदोलन की याद दिलाता है। कर्बला के मैदान में हुसैनी आंदोलन सदैव के लिए अमर हो गया। हो सकता है कि आपके मन में यह प्रश्न उठे कि पैग़म्बरे इस्लाम के स्वर्गवास के पचास वर्ष बाद की कम अवधि में इस्लामी […]

    • करबला – दरसे इंसानियत
      Rate this post

      करबला – दरसे इंसानियत

      करबला – दरसे इंसानियतRate this post उफ़ुक़ पर मुहर्रम का चाँद नुमुदार होते ही दिल महज़ून व मग़मूम हो जाता है। ज़ेहनों में शोहदा ए करबला की याद ताज़ा हो जाती है और इस याद का इस्तिक़बाल अश्क़ों की नमी से होता है जो धीरे धीरे आशूरा के क़रीब सैले रवाँ में तबदील हो जाती […]

    • मोहर्रम का चाँद
      Rate this post

      मोहर्रम का चाँद

      मोहर्रम का चाँदRate this post मोहर्रम का चाँद निकलने वाला है, चारों ओर ग़म व शोक का माहौल है। दुनिया भर के मुसलमान पैग़म्बरे इस्लाम के नवासे हज़रत इमाम हुसैन अ. और उनके वफ़ादार साथियों के शोक में डूबे हुए हैं। चारों ओर इमाम बाड़े सज रहे हैं और मजलिसों के आयोजन की तैयारियां हो […]

    • इमाम हुसैन अ. का मक्के जाना
      Rate this post

      इमाम हुसैन अ. का मक्के जाना

      इमाम हुसैन अ. का मक्के जानाRate this post मदीने से इमाम-ए-हुसैन अलैहिस्सलाम के निकलने का कारण यह था कि यज़ीद ने मदीने के शासक वलीद इब्ने अतबा के नाम ख़त में हुक्म दिया था कि मेरे कुछ विरोधियों से (जिनमें से एक इमाम-ए-हुसैन अलैहिस्सलाम भी थे) ज़रूर बैयत ली जाए   सवाल-2-  इमाम ह़ुसैन (अ […]

    •  कर्बला में औरतों की भूमिका
      कर्बला में औरतों की भूमिका
      Rate this post

      कर्बला में औरतों की भूमिका

      कर्बला में औरतों की भूमिकाRate this post कर्बला वालों की शहादत और रसूले इस्लाम स.अ के अहलेबैत को बंदी बनाये जाने के दौरान औरतों ने अपनी व़फादारी, त्याग व बलिदान द्वारा इस्लामी आंदोलन में वह रंग भरे हैं जिनकी अहमियत का अनुमान लगाना भी मुश्किल है। बाप, भाई, पति और कलेजे के टुकड़ों को इस्लाम […]

    • इमाम हुसैन अ. और अम्र बिल मारूफ़ और नही अनिल मुनकर
      Rate this post

      इमाम हुसैन अ. और अम्र बिल मारूफ़ और नही अनिल मुनकर

      इमाम हुसैन अ. और अम्र बिल मारूफ़ और नही अनिल मुनकरRate this post सवाल 13- अम्र बिल मारुफ़ और नही अनिल मुनकर (नेकियों का हुक्म देने और बुराईयों से रोकने) के लिये आया हूँ, इमाम हुसैन अ. के इस जुमले का क्या मतलब है? यह जुमला अम्र बिल मारुफ़ और नही अनिल मुनकर की बेसिक और […]

    • कूफ़ियों का विश्वासघात
      Rate this post

      कूफ़ियों का विश्वासघात

      कूफ़ियों का विश्वासघातRate this post सवाल 7: कूफ़ियों नें बड़ी अक़ीदत, श्रृद्धा और गर्मजोशी के साथ इमाम हुसैन अ. को बुलाने के बावजूद क्यों आपकी मदद नहीं की बल्कि आपसे लड़ने को तय्यार हो गए? इस सवाल का जवाब दो और सवालों के विस्तारपूर्वक जवाब पर निर्भर है। सवाल 1: कूफ़ियों के ख़त लिखने और बड़े स्तर […]

    • ख़ून की विजय – 7
      Rate this post

      ख़ून की विजय – 7

      ख़ून की विजय – 7Rate this post नवीं मोहर्रम सन 61 हिजरी क़मरी का दिन था जो तासूआ के नाम से जाना जाता है। इस दिन दोपहर हो चुकी थी और सूरज धीरे धीरे ढल रहा था। ख़ूंख़ार शत्रु ने कर्बला के मरुस्थल में अपनी गतिविधियां तेज़ कर दी थी और ऐसा लग रहा था […]

    • हज के दिनों में इमाम हुसैन अ. का मक्का छोड़ना
      Rate this post

      हज के दिनों में इमाम हुसैन अ. का मक्का छोड़ना

      हज के दिनों में इमाम हुसैन अ. का मक्का छोड़नाRate this post सवाल-4-  इमाम ह़ुसैन (अ.स) ह़ज के दिनों में अपना ह़ज अधूरा छोड़ कर मक्के से क्यों रवाना हो गए? इस सवाल की इतिहासिक निगाह से समीक्षा करने से पहले इस नुकते की ओर ध्यान दिलाना ज़रूरी है कि फ़िक़्ही दृष्टिकोण से यह मशहूर बात […]

    • इमाम हुसैन अ.ने मदीने से अपना आंदोलन…..
      Rate this post

      इमाम हुसैन अ.ने मदीने से अपना आंदोलन…..

      इमाम हुसैन अ.ने मदीने से अपना आंदोलन…..Rate this post इमाम जिस समय मदीने में थे उस समय तक मुआविया के मरने का ऐलान नहीं हुआ था उसके अलावा आम लोग अभी यज़ीद और मुआविया की हुकूमत के अंतर को अच्छी तरह से महसूस नहीं कर पा रहे थे …..   सवाल-2-  इमाम ह़ुसैन (अ स) […]

    • अमर आंदोलन-१०
      Rate this post

      अमर आंदोलन-१०

      अमर आंदोलन-१०Rate this post इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम ने २ मुहर्रम सन ६१ हिजरी को करबला मे क़दम रखा था और समय बीतने के साथ ही साथ वे अपने लक्ष्य को संसार के सामने स्पष्ट करते जा रहे थे।  प्रचार और प्रसार माध्यम के रूप में केवल इमाम हुसैन के वे साथी थे जो अपने पत्रों […]

    • अमर आंदोलन-५
      Rate this post

      अमर आंदोलन-५

      अमर आंदोलन-५Rate this post महर्रम, हुसैन और कर्बला एसे नाम और एसे विषय हैं जो किसी एक काल से विशेष नहीं हैं।  पैग़म्बरे इस्लाम का संदेश, आने वाले समस्त कालों के लिए था इसीलिए इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम इस संदेश के लिए एसी सुरक्षा व्यवस्था करना चाहते थे जो प्रत्येक काल के न्यायप्रेमियों के लिए संभव […]

    • ख़ून की विजय – 1
      Rate this post

      ख़ून की विजय – 1

      ख़ून की विजय – 1Rate this post आज पहली मोहर्रम की पूर्व संध्या है। चारों ओर शोक का वातावरण है। दुनिया भर के मुसलमान पैग़म्बरे इस्लाम के नाती हज़रत इमाम हुसैन और उनके निष्ठावान साथियों की शहादत को याद करके उनके शोक में डूबे हुए हैं। चारों ओर इमाम बाड़े सज रहे हैं और शोक […]

    • हुसैनी आंदोलन-7
      Rate this post

      हुसैनी आंदोलन-7

      हुसैनी आंदोलन-7Rate this post दसवीं मोहर्रम की घटना, इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम का आंदोलन, उनका चेहलुम और अन्य धार्मिक अवसर इस्लामी इतिहास का वह महत्वपूर्ण मोड़ हैं जहां सत्य और असत्य का अंतर खुलकर सामने आ जाता है। इमाम हुसैन के बलिदान से इस्लाम धर्म को नया जीवन मिला और तथा इस ईश्वरीय धर्म के प्रकाशमान […]

    • इमाम हुसैन अ.ने मदीने से अपना आंदोलन क्यूँ शुरू नहीं किया
      Rate this post

      इमाम हुसैन अ.ने मदीने से अपना आंदोलन क्यूँ शुरू नहीं किया

      इमाम हुसैन अ.ने मदीने से अपना आंदोलन क्यूँ शुरू नहीं कियाRate this post सवाल-2-  इमाम ह़ुसैन (अ स) ने मदीने से ही अपने आंदोलन को शुरू क्यों नहीं किया? इस सवाल का जवाब समय और जगह के ह़ालात व परिस्थितियों की बारीकी से समीक्षा करने पर निर्भर है, जहाँ तक समय की बात है तो इमाम […]

    • ख़ून की विजय – 3
      Rate this post

      ख़ून की विजय – 3

      ख़ून की विजय – 3Rate this post कूफ़े वालों को जब यह पता चला कि इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम ने यज़ीद की बैअत अर्थात उसका आज्ञापालन न करने का निर्णय किया है और वे पवित्र नगर मक्का में हैं तो उन्होंने इमाम हुसैन को बड़ी संख्या में पत्र भेजे। कूफ़े वालों की ओर से इमाम हुसैन […]

    •  शबे आशूर के आमाल
      शबे आशूर के आमाल
      Rate this post

      शबे आशूर के आमाल

      शबे आशूर के आमालRate this post यह शब शबे आशूर अर्थात नौ मुहर्रम की रात है। इस रात की बहुत सी महत्वपूर्ण नमाज़ें और दुआऐं बयान हुई हैं। उनमें से एक, सौ रकअत नमाज़ है, जो इस रात पढ़ी जाती है उसकी हर रकअत में सूरए हम्द के बाद तीन बार सूरए तौहीद पढ़े और […]

    • अमर आंदोलन-९
      Rate this post

      अमर आंदोलन-९

      अमर आंदोलन-९Rate this post हमने गत कार्यक्रमों में कहा था कि इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम, अम्रबिल मारूफ़ व नहि अनिल मुनकर अर्थात भलाई की ओर बुलाने और बुराई से रोकने के लिए निकले थे और उनका यह उद्देश्य अत्यधिक विस्तृत था।  इसके अन्तर्गत वे शासन व्यवस्था में सुधार और भ्रष्ट तत्वों का अंत चाहते थे तथा […]

    • हुसैनी आंदोलन-5
      Rate this post

      हुसैनी आंदोलन-5

      हुसैनी आंदोलन-5Rate this post हुसैनी आंदोलन के विषय में हमारी चर्चा इस मोड़ तक पहुंची थी कि इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम को अपने महान लक्ष्य तथा महान कर्तव्य का पूर्ण आभास था अतः उन्होंने जान दे देने की ठान ली। अब्दुल्लाह इब्ने जाफ़र, मोहम्मद इब्ने हनफ़िया और अब्दुल्लाह इब्ने अब्बास यह लोग कोई आम मुसलमान नहीं […]

    • ख़ून की विजय – 8
      Rate this post

      ख़ून की विजय – 8

      ख़ून की विजय – 8Rate this post आज आशूर अर्थात दसवीं मुहर्रम है जो ऐसा दुखों भरा दिन है जिसका सामना करके इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम और उनके साथियों ने धर्म और मानवता की रक्षा की। अत्याचारी शासक का यज़ीद की हज़ारों की सेना ७२ लोगों को घेरे हुए थी और सत्य व असत्य की कभी […]

    more