islamic-sources

  • ALL
    E-Books
    Articles

    date

    1. date
    2. title
    •  ईश्वरीय वाणी – 29
      Rate this post

      ईश्वरीय वाणी – 29

      Rate this post सूरेए इब्राहीम की २१वीं आयत में महान ईश्वर कहता है प्रलय में सभी ईश्वर के समक्ष लाए जाएंगे तो कमज़ोर लोग बलवानों से कहेंगे, हम संसार में तुम्हारे अधीन थे, तो क्या आज तुम ईश्वरीय दण्ड के कुछ भाग को हमसे रोक सकते हो? वे कहेंगे, यदि ईश्वर हमारा मार्गदर्शन करता तो […]

    •  नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा-27
      नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा-27
      3 (60%) 7 vote[s]

      नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा-27

      नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा-273 (60%) 7 vote[s] नहजुल बलाग़ा : ख़ुत्बा-27 जिहाद जन्नत के दरवाज़ों में से एक दरवाज़ा है। जिसे अल्लाह ने अपने खास बन्दों (दोस्तों) के लिये खोला है। यह पर्हेज़गारी का लिबास अल्लाह की मोह्कम ज़िरह और मज़बूत सिपर (ढ़ाल) है। जो उस से पहलू बचाते हुए उसे छोड़ देता है, ख़ुदा […]

    more